Rifle Shooting Training in Aligarh : मंडलभर के कैडेट्स नौरंगीलाल राजकीय इंटर कालेज में लेंगे राइफल शूटिंग प्रशिक्षण

माध्यमिक विद्यालयों में छात्र-छात्राओं के लिए एनसीसी को वैकल्पिक विषय के तौर पर मान्यता दे दी गई है। इसलिए अब माध्यमिक विद्यालयों में पढ़ाई करने वाले छात्र-छात्राओं जो एनसीसी को वैकल्पिक विषय के तौर पर लेंगे। जल्‍द प्रशिक्षण से संबंधित तैयारियां पूरी की जाएंगी।

Sandeep Kumar SaxenaFri, 25 Jun 2021 09:51 AM (IST)
एनसीसी को वैकल्पिक विषय के तौर पर मान्यता दे दी गई है।

अलीगढ़, गौरव दुबे। माध्यमिक विद्यालयों में छात्र-छात्राओं के लिए एनसीसी को वैकल्पिक विषय के तौर पर मान्यता दे दी गई है। इसलिए अब माध्यमिक विद्यालयों में पढ़ाई करने वाले छात्र-छात्राओं, जो एनसीसी को वैकल्पिक विषय के तौर पर लेंगे, उनको बेहतर प्रशिक्षण दिलाने की व्यवस्था की जा रही है। नई व्यवस्था के तहत जिला मुख्यालय पर बने नौरंगीलाल राजकीय इंटर कालेज में 10 मीटर राइफल शूटिंग का प्रशिक्षण देने की ओर कदम बढ़ाया गया है। .22 राइफल शूटिंग के अलावा 10 मीटर राइफल शूटिंग को भी सेना में भर्ती का आधार माना जाता है। अब 10 मीटर राइफल शूटिंग का भी प्रशिक्षण कैडेट्स को नौरंगीलाल कालेज मेें मुफ्त में दिया जाएगा।

यहांं मिलती है हथियार चलाने की ट्रेनिंग 

अंतरराष्ट्रीय शूटिंग रेफरी, एनसीसी सी-सर्टिफिकेट होल्डर वेद प्रकाश शर्मा ने बताया कि वे विद्यार्थियों को मुफ्त प्रशिक्षण देंगे। बताया कि एनसीसी मुख्यालयों पर वे पहले से ट्रेनिंग देते आए हैं। बताया कि 10 मीटर राइफल का प्रशिक्षण लेने वाले कैडेट्स को .22 राइफल शूटिंग में कोई दिक्कत नहीं आती है क्योंकि 10 मीटर शूटिंग कठिन होती है। नौरंगीलाल कालेज में मंडल भर के एनसीसी कैडेट्स मुफ्त में प्रशिक्षण ले सकेंगे। अभी कैडेट्स हथियार चलाने की ट्रेनिंग एनसीसी हेडक्वार्टर या डीएस डिग्री कालेज की रेंज पर ही ले पाते हैं।

कालेज को मिली ट्रेनिंग की मान्यता

नौरंगीलाल राजकीय इंटर कालेज के एनसीसी एएनओ वीरेंद्र सिंह चौधरी ने बताया कि पिछले साल ही एनसीसी ट्रेनिंग की मान्यता ले ली थी। कोरोना काल के चलते कुछ काम अटक गया। अब विद्यालय खुलने पर एनसीसी प्रशिक्षण से संबंधित तैयारियां पूरी की जाएंगी।

जूनियर सेक्शन में ट्रेनिंग नहीं

एएनओ वीरेंद्र ने बताया कि कक्षा नौंवी व 10वीं के कैडेट्स जूनियर सेक्शन में आते हैं। इनको एनसीसी की अकादमिक तैयारी कराई जाती है। 11वीं व 12वीं के छात्र-छात्राओं के अलावा डिग्री कालेज के विद्यार्थी सीनियर सेक्शन में आते हैं। इनकी वेपन ट्रेनिंग होती है।

एक दर्जन से ज्यादा कालेजों में एनसीसी

अग्रसेन इंटर कालेज हरदुआगंज, खैर इंटर कालेज खैर, जेके इंटर कालेज टप्पल, सर्वोपयोगी इंटर कालेज पलसेड़ा, केएमवी इंटर कालेज अतरौली, हीरालाल बारहसैनी इंटर कालेज, बाबूलाल जैन इंटर कालेज, नौरंगीलाल राजकीय इंटर कालेज, डीएवी इंटर कालेज, केआइसी खैर, एसएमबी इंटर कालेज, जेके इंटर कालेज टप्पल, रतनप्रेम डीएवी इंटर कालेज आदि संस्थानों में एनसीसी है।

विद्यार्थी हित में नौरंगीलाल कालेज में ट्रेनिंग की व्यवस्था हो सकती है। वहां काफी काम किया गया है। रेंज के लिए कालेज की जमीन उपयोग करने को डीआइओएस कार्यालय में पत्र भेजा जाएगा।

कर्नल आरके सांगवान, कमांडिंग आफिसर, 8-यूपी बटालियन एनसीसी अलीगढ़

रेंज बनाने के संबंध में सहमति है। एनसीसी हेडक्वार्टर से अगर इस संबंध में पत्र प्राप्त होते ही उनको अनुमति दे दी जाएगी। छात्रहित में ये बेहतरीन कदम है। विद्यार्थी इससे लाभान्वित होंगे।

डा. धर्मेंद्र कुमार शर्मा, डीआइओएस

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.