विदेश में रह रहे जिले के नागरिकों को इंटरनेशनल ड्राइविंग परमिट में मिली राहत Aligarh news

अलीगढ़ जागरण संवाददाता । जिले के विदेश में रह रहे नागरिकों को परिवहन विभाग ने राहत दी है। इंटरनेशनल ड्राइविंग परमिट बनवाने वालों को आनलाइन आवेदन के साथ फीस के साथ ही कोरियर चार्ज भी जमा कराना होगा।

Anil KushwahaWed, 22 Sep 2021 10:21 AM (IST)
जिले के विदेश में रह रहे नागरिकों को परिवहन विभाग ने राहत दी है।

अलीगढ़, जागरण संवाददाता ।  जिले के विदेश में रह रहे नागरिकों को परिवहन विभाग ने राहत दी है। इंटरनेशनल ड्राइविंग परमिट बनवाने वालों को आनलाइन आवेदन के साथ फीस के साथ ही कोरियर चार्ज भी जमा कराना होगा।

विदेश में रह रहे भारतीयोंं को मिलेगी राहत 

एआरटीओ प्रशासन रंजीत सिंह ने बताया कि केंद्रीय परिवहन मंत्रालय के आदेश के बाद अब विदेश में रहने वाले भारतीय नागरिकों को इंटरनेशनल ड्राइविंग परमिट के लिए कार्यालय नहीं आना होगा। इसके लिए वे घर बैठे ही आवेदन कर सकेंगे। इसके बदल उन्हें फीस के रूप में एक हजार रुपये व कोरियर फीस के रूप में दो हजार रुपये जमा कराने होंगे। आवेदन पत्र की जांच के बाद उन्हें परमिट जारी कर दिया जाएगा। जिसे वे भारतीय दूतावास के माध्यम से प्राप्त कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि जिले से हर साल करीब 20 परमिट जारी होते हैं। परमिट के बाद ही विदेश में गाड़ी संचालित की जा सकती है।

फीस जमा करने पर भी नहीं बन पा रहे लाइसेंस, आवेदक परेशान

अलीगढ़। लर्निंग लाइसेंस से स्थायी लाइसेंस के लिए आवेदन करने वाले 500 से अधिक आवेदकों को परिवहन विभाग की लापरवाही से परेशानी उठानी पड़ रही है। निर्धारित फीस जमा करने पर भी उन्हें स्लाट बुकिंग कराने व कार्यालय में आकर लाइसेंस संबंधी औपचारिकताएं पूरी कराने का समय नहीं दिया जा रहा है। कोरोना संक्रमण के दौर में जिले के करीब 500 से अधिक आवेदकों ने लर्निंग लाइसेंस बनवाए थे। इस बीच कोरोना कफ्र्यू के चलते लाइसेंस की मियाद छह माह की अवधि को बढ़ाते हुए 30 सितंबर कर दिया था। आवेदकों ने लर्निंग लाइसेंस को स्थायी लाइसेंस में बदलवाने को एक-एक हजार रुपये की फीस भी जमा कर दी थी। अब इन आवेदकों को स्थायी लाइसेंस बनवाने के लिए स्लाट नहीं मिल पा रहा है। ऐसे में उन्हें बेहद दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। अगर उन्हें 30 सितंबर तक स्लाट नहीं मिला तो उनके लर्निंग लाइसेंस निरस्त होने का खतरा बढ़ गया है। आरटीओ प्रशासन केडी सिंह गौर ने बताया कि वर्तमान में 280 स्लाट बुकिंग की जा रही है। शासन में स्लाट बढ़ाने को पत्राचार किया गया है। अगर इस पर जल्द फेरबदल न हुआ तो लाइसेंस निरस्त हो जाएंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.