Jal Jeevan Mission : अलीगढ़ के 867 ग्राम पंचायतों में शुद्ध पेयजल मुहैया कराना प्राथमिकता

सीडीओ ने ’’जल जीवन मिशन’’ (घर घर नल योजना) की समीक्षा करते हुए कहा कि जन-जन को स्वस्थ्य रखने के लिए शुद्ध पेयजल की अनिवार्य आवश्यकता है। लोगों को शुद्ध पेयजल मिलेगा तो निश्चित ही वे स्वस्थ रहेंगे। संक्रामक रोगों में कमी आएगी।

Anil KushwahaPublish:Tue, 07 Dec 2021 04:40 PM (IST) Updated:Tue, 07 Dec 2021 04:53 PM (IST)
Jal Jeevan Mission : अलीगढ़ के 867 ग्राम पंचायतों में शुद्ध पेयजल मुहैया कराना प्राथमिकता
Jal Jeevan Mission : अलीगढ़ के 867 ग्राम पंचायतों में शुद्ध पेयजल मुहैया कराना प्राथमिकता

अलीगढ़, जागरण संवाददाता। जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे के निर्देश पर मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में कलक्ट्रेट सभागार में जिला पेयजल एवं स्वच्छता समिति की बैठक का आयोजन किया गया। सीडीओ ने ’’जल जीवन मिशन’’ (घर घर नल योजना) की समीक्षा करते हुए कहा कि जन-जन को स्वस्थ्य रखने के लिए शुद्ध पेयजल की अनिवार्य आवश्यकता है। लोगों को शुद्ध पेयजल मिलेगा तो निश्चित ही वे स्वस्थ रहेंगे। संक्रामक रोगों में कमी आएगी। उन्होंने कहा कि सरकार सभी को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके लिए जिले के 867 ग्राम पंचायतों में शुद्ध पेयजल मुहैया कराने के लिए जल जीवन मिशन के अन्तर्गत घर-घर नल योजना की शुरूआत की गई है। उन्होंने कहा कि इस परियोजना के संचालन हो जाने से शुद्ध पेयजल की किल्लत नही रहेगी, और निश्चित ही लोगों को शुद्ध पेयजल मुहैया होगा।

अब तक 131 डीपीआर प्रदेश सरकार को भेजी गयी

अधिशासी अभियंता मोहम्मद इमरान ने बताया कि आहूत बैठक में 170 करोड़ की लागत वाली 72 डीपीआर प्रस्तुत की गईं हैं। जनपद में अब तक 131 डीपीआर प्रदेश सरकार को भेजी गयीं हैं, जिसमें से 115 पर स्वीकृति भी प्राप्त हो गयी है। जनपद में आयन एक्सचेंज एजेन्सी द्वारा कार्य किया जा रहा है। कार्यदायी संस्था आयन एक्सचेंज के प्रोजेक्ट मैनेजर आकाश गोयल ने बताया कि जनपद के 69 ग्रामो में मिट्टी की कार्य शुरू कर दिया गया है।

कार्य में शिथिलता पर मुख्‍य विकास अधिकारी ने जतायी नाराजगी

जिला पेयजल एवं स्वच्छता समिति की बैठक में कार्यदायी संस्था द्वारा विकास एवं निर्माण कार्यो में शिथिलता बरते जाने पर मुख्य विकास अधिकारी अंकित खंडेलवाल ने कड़ी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि मिट्टी की सैंपलिंग का कार्य बहुत दिनों से चल रहा है। बहानेबाजी नहीं चलेगी। यदि धरातल पर इसी प्रकार से कार्य को गति दी गयी तो योजना का समय से जनता को लाभ मिल पाना अत्यंत ही मुश्किल प्रतीत हो रहा है। उन्‍होंने कार्यदाई संस्था के प्रोजेक्ट मैनेजर को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि अभी आप द्वारा मौके पर मशीनरी नहीं भेजी गई है, कार्य कब आरम्भ होगा। सीडीओ ने परियोजना निदेशक डीआरडीए भाल चन्द्र त्रिपाठी को निर्देशित किया कि वह विभिन्न विभागों के अवर अभियंताओं को नामित करते हुए साइट फोटो के साथ प्रगति रिपोर्ट प्राप्त कर प्रस्तुत करें। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि यदि कार्य समय से आरम्भ नहीं होता है तो संस्था पर पेनल्टी डाली जाए।

ये लोग रहे उपस्‍थित

इस अवसर पर अधिशासी अभियन्ता जल निगम मो.इमरान, कार्यदायी संस्था से प्रोजेक्ट मैनेजर आकाश गोयल, सम्बन्धित एजेन्सी के अभियंतागण एवं सम्बन्धित अधिकारी, कर्मचारीगण उपस्थित रहे।