अलीगढ़ की सड़कों पर गड्ढे बरकरार, पूरा हो गया गड्ढा मुक्त अभियान

गड्ढा मुक्त अभियान पूरा हो गया मगर सड़कों पर गड्ढे आज भी बरकरार है। तमाम ऐसी भी सड़कें हैं जहां गड्ढे भरे नहीं गए उनपर चलना मुश्किल है। वहीं कई ऐसी भी सड़कें हैं जहां गड्ढे तो भरे गए हैं मगर सड़कें उखड़ने लगीं हैं।

Anil KushwahaSun, 28 Nov 2021 11:09 AM (IST)
गड्ढा मुक्त अभियान पूरा हो गया, मगर सड़कों पर गड्ढे आज भी बरकरार है।

अलीगढ़, जागरण संवाददाता।  गड्ढा मुक्त अभियान पूरा हो गया, मगर सड़कों पर गड्ढे आज भी बरकरार है। तमाम ऐसी भी सड़कें हैं, जहां गड्ढे भरे नहीं गए, उनपर चलना मुश्किल है। वहीं, कई ऐसी भी सड़कें हैं, जहां गड्ढे तो भरे गए हैं, मगर सड़कें उखड़ने लगीं हैं। कागज पर तो गड्ढा मुक्त अभियान पूरा हो गया, मगर हकीकत में अभी जिले में कई मार्ग ऐसे हैं जहां बड़े-बड़े गड्ढे बने हुए हैं।

15 नवंबर सड़कों के गड्ढे भरने के थे निर्देश

शासन ने 15 नवंबर तक जिले की सभी सड़कों के गड्ढे भरने के निर्देश दिए थे। इसके लिए दो महीने का समय दिया गया था। लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) की करीब 1400 किमी सड़कों पर गड्ढे भरे जाने थे। जिले में एडीए, सिंचाई विभाग, मंडी समिति की भी सड़कें थीं। शहर में कुछ सड़कें नगर निगम की थीं। सभी विभागों ने 15 नवंबर तक गड्ढे भरने का दावा किया है। मगर, जिले की हकीकत कुछ और बयां करती है। अलीगढ़-पलवल रोड से सटे नहर की पटरी से होकर रास्ता जाता है। नयावास से होकर करीब चार किमी लंबा यह रास्ता टैंटी गांव रोड में जाकर मिलता है। इससे वृंदावन जाने में सुविधा होती है। इस मार्ग से निकलने से खैर के जाम से बचाव होता है। मगर, चार किमी लंबा यह मार्ग गड्ढों से छलनी हो रहा है। सड़क की पटरी पर इतने बड़े गड्ढे हैं कि ट्रक के पहिए पूरे समा जाएं। दो-दो कदम पर गड्ढे बने हुए हैं। इस मार्ग से प्रतिदिन सैकड़ों वाहन निकलते हैं।

अतरौली में रायपुर स्‍टेशन रोड भी दयनीय

अतरौली में रायपुर स्टेशन रोड की भी यही स्थिति है। यह मार्ग नौ किमी है। कई साल से यह मार्ग जर्जर है। निर्माण कार्य शुरू भी हुआ तो सिर्फ चार किमी तक सड़क बनाई गई। अभी भी सड़क पर तमाम जगह गड्ढे हैं, इस मार्ग पर राहगीरों का निकलना मुश्किल होता है। सड़क पर गड्ढे होने के बाद भी निर्माण कार्य पूरा होने का बोर्ड लगवा दिया गया है। अकराबाद क्षेत्र में गोपी-विजयगढ़ मार्ग भी तमाम जगहों पर गड्ढों से छलनी हो गया है। गिट्टियां बिखरीं रहती हैं। चलने में लोगों को मुश्किल होती है, मगर इसपर भी अभी तक गड्ढे नहीं भरे गए हैं।

उखड़ रही हैं गिट्टियां

शहर में नगर निगम कुछ सड़कों पर गड्ढों के भरने का काम किया गया है। उन स्थानों की स्थिति यह है कि गिट्टियां अभी से उखड़ने लगी हैं। जिससे गड्ढे दिखने लगे हैं। कावेरी वाटिका रोड पर निधिवन कालोनी के पास तारकोल कम होने से गिट्टियां उभर रही हैं। इससे सड़क पर फिर गड्ढा हो जाएगा। बरछी बहादुर से रेलवे स्टेशन की ओर जाने वाले मार्ग की भी यही स्थिति है। उसपर भी गिट्टियां बिखर रही हैं। इस मार्ग का निर्माण रेलवे की ओर से कराया गया है।

हाईवे की सर्विस रोड बदहाल

गाजियाबाद-अलीगढ़ हाईवे की सर्विस रोड की स्थिति काफी खराब है। आगरा हाईवे पर नगला मंदिर गांव के निकट सर्विस रोड पूरी तरह से क्षतिग्रस्त है। खेरेश्वरधाम की ओर से आने पर सर्विस रोड से निकलना मुश्किल होता है। प्रतिदिन यहां पर वाहन पलटते रहते हैं। करीब एक साल से यहां यही स्थिति है, मगर इसे ठीक नहीं कराया गया है। डीएम सेल्वा कुमारी जे इसका निरीक्षण कर उसे तुरंत ठीक करने के निर्देश भी दे चुकी हैं, मगर एनएचएआई के अधिकारियों ने डीएम के निर्देश को भी दरकिनार कर दिया। इस सर्विस रोड से लोग जान हथेली पर रखकर निकलते हैं।

इनका कहना है

पीडब्ल्यूडी की करीब सभी सड़कें गड्ढा मुक्त हो गई हैं। पूरी टीम ने मेहनत से काम किया है। कुछ एक जगह यदि रह गए होंगे तो उसे भरवा दिया जाएगा। अब पहले जैसी जर्जर सड़कें नहीं दिखती हैं।

अनिल कुमार शर्मा, अधिशासी अभियंता पीडब्ल्यूडी

क्‍या कहती है जनता

नयावास से नहर होकर जाने वाले मार्ग पर तो काम ही नहीं हुआ है। सड़क पर जगह-जगह गड्ढे बने हुए हैं। तमाम जगहों पर तो हालात यह है कि वाहन का पूरा पहिया समा जाएगा।

सत्यदेव गौड़, मिलिक लोहगढ़

--

अभी भी तमाम जगहों पर सड़कों पर गड्ढे बने हुए है। उसे भरा नहीं गया है। इससे वाहनों के निकलने में दिक्कत होती है। गोपी-विजयगढ़ मार्ग पर गिट्टियां बिखरीं हुई हैं।

देवेंद्र सिंह, बादरी

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.