अलीगढ़ की दहील वाली गली में हुए उपद्रव पर राजनीतिक गर्माहट Aligarh news

संप्रदाय विशेष की देश के काननू व संविधान में इनकी कोई आस्था नही हैं। किसी भी घटना या दुर्घटना के बाद वे पुलिस व प्रशासनिक स्तर पर मदद नहीं मांगते हैं बल्कि सीधे समूह के रूप में पथराव व आगजनी के साथ सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाते हैं।

Anil KushwahaSat, 19 Jun 2021 06:22 AM (IST)
बजरंग दल ने संप्रदाय विशेष पर झूठी अफवाह फैलाने का आरोप लगाया।

अलीगढ़, जेएनएन ।  बजरंग दल ने दही वाली गली -अब्दुल करीम चौराहे पर ई-रिक्शा चालक सद्दाम के गायब होने के प्रकरण में संप्रदाय विशेष से जुड़े लोगों के उपद्रव करने के प्रयासों की कड़ी निंदा की है।

भीड़तंत्र के आगे पुलिस नतमस्‍तक

बजरंग दल के महानगर संयोजक गौरव शर्मा ने शुक्रवार को मीडिया से बातचीत में आरोप लगाया कि भीड़ तंत्र के आगे अलीगढ़ पुलिस आत्मसमर्पित हो जाती है। इसके तमाम उदाहरण सामने हैं। चाहे प्रकरण रेलवे रोड पर कचौड़ी वाले के हत्याकांड का हो या फिर ऊपरकोट पर जुमे की नमाज के बाद हुए बवाल व सीएए के विरोध में शाहजमाल में महीनों तक चला राष्ट्रविरोधी धरना, जमालपुर धौर्रामाफी के धरने से जुड़ा हो या फिर 15 दिसंबर 2019 को एएमयू में हुआ उपद्रव हो। हर जगह पुलिस को ही पीछे हटना पड़ा। उन्होंने आरोप लगाया कि संप्रदाय विशेष की देश के काननू व संविधान में इनकी कोई आस्था नही हैं। किसी भी घटना या दुर्घटना के बाद वे पुलिस व प्रशासनिक स्तर पर मदद नहीं मांगते हैं बल्कि सीधे समूह के रूप में पथराव व आगजनी के साथ ही सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाना शुरू कर देते हैं। धारा 370 की समाप्ति के बाद से ही देश में गृहयुद्व जैसे हालात पैदा किए जा रहे हैं। जिसमें बांग्लादेशी रोहिंग्‍याओं की मदद ली जा रही है। अलीगढ़ में लगातार उनके तार जुडऩे की पुष्टि हुई है फिर भी खुफिया तंत्र उनकी गतिविधियों पर नजर रखने में विफल साबित हुआ है। उन्होंने कहा कि अलीगढ़ में माहौल को खराब करने वालों को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

पूर्व विधायक जमीरउल्लाह व सलमान इम्तियाज के खिलाफ तहरीर

ऊपरकोट पर ई-रिक्शा चालक सद्दाम के प्रकरण को लेकर शुक्रवार को भाजपा ब्रज प्रांत की क्षेत्रीय मंत्री अनीता जैन व महानगर मंत्री संजू बजाज के नेतृत्व में तमाम कार्यकर्ता थाना देहलीगेट पहुंच गए। उन्होंने सपा नेता व पूर्व विधायक हाजी जमीरउल्लाह खान व एएमयू छात्र नेता सलमान इम्तियाज पर ई-रिक्शा चालक की मौत की झूठी अफवाह फैलाने व सांप्रदायिक रंग देकर शहर का माहौल खराब करने के प्रयासों का आरोप लगाया है। उन्होंने मांग की कि शहर की शांत फिजा को खराब करने का प्रयास करने वालों पर मुकदमा दर्ज कर कठोर कार्रवाई की जाए। इस मौेके पर सौरभ चौधरी, हर्षद हिंदू, सोनू कश्यप, गजेंद्र, राहुल करन माहौर, दिनेश अग्रवाल, संजय भीलवाड़ा, जुबिन वाष्र्णेय आदि मौजूद थे। इंस्पेक्टर देहलीगेट प्रमेंद्र कुमार ने बताया कि मामले में जांच की जा रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.