पीएमओ ने भाजपा विधायक को मुंबई के अस्‍पताल में कराया भर्ती, जानिए क्या है मामला Aligarh News

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की संवेदनशीलता पर हर किसी को आश्चर्य में डाल दिया। 14 सितंबर को कार्यक्रम में आए पीएम ने बरौली विधायक ठा. दलवीर सिंह की स्थिति को देखा और उन्हें मुंबई के कोकिलावेन अस्पताल में भर्ती कराने का निर्देश दिया।

Sandeep Kumar SaxenaSat, 18 Sep 2021 10:09 AM (IST)
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विधायक ठा. दलवीर सिंह को कोकिलाबेन अस्पताल में भर्ती कराने का निर्देश दिया।

अलीगढ़, जेएनएन। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की संवेदनशीलता पर हर किसी को आश्चर्य में डाल दिया। 14 सितंबर को कार्यक्रम में आए पीएम ने बरौली विधायक ठा. दलवीर सिंह की स्थिति को देखा और उन्हें मुंबई के कोकिलावेन अस्पताल में भर्ती कराने का निर्देश दिया। शुक्रवार को शाम चार बजे विधायक को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया।

पीएम ने विधायक की बीमारी को गंभीरता से लिया

बरौली विधायक काफी दिनों से बीमार चल रहे हैं। उसके बावजूद वह 14 सितंबर को पीएम नरेन्द्र मोदी के कार्यक्रम में लोधा स्थित मूसेपुर गांव पहुंचे थे। मंच पर पीएम ने उनका हालचाल लिया था। मगर, बरौली विधायक और उनके परिजनों को जरा भी संभावना नहीं थी कि पीएम थोड़ी सी मुलाकात को इतनी गंभीरता से लेंगे। गुरुवार को पीएमओ से बरौली विधायक के प्रतिनिधि सुशील गुप्ता के पास फोन आया। उनसे कहा गया कि विधायकजी को मुंबई के कोकिलावेन अस्पताल में भर्ती करा दें, वहां सारी व्यवस्था कर दी गई है। शुक्रवार को ठा. दलवीर सिंह को हवाई जहाज से मुंबई ले जाया गया। साथ में प्रतिनिधि सुशील गुप्ता, विधायक के नाती विजय सिंह, सतेंद्र पाल सिंह थे। शाम चार बजे कोकिलावेन अस्पताल पहुंचे। सुशील गुप्ता ने अस्पताल में बताया कि पीएमओ के निर्देश पर वो आएं हैं, तुरंत विधायक को भर्ती कराया गया और इलाज शुरू कर दिया गया। सुशील गुप्ता ने बताया कि कोकिलावेन में एशिया की सबसे बड़ी थेरेपी इंस्टीट्यूट है। वह भी इलाज के लिए लाना चाह रहे थे, मगर स्वयं पीएम ने संज्ञान लेते हुए बाबूजी को भर्ती कराया यह हैरत में डालने वाला है। पूरा परिवार पीएम का आभार जता रहा है। जिला महामंत्री शिव नारायण शर्मा ने भी पीएम का आभार जताया।

पीएम की हो रही सराहना

बरौली विधायक पश्चिमी यूपी में कद्दावर नेताओं में माने जाते हैं, छात्र जीवन से ही राजनीति की शुरुआत की थी। अलीगढ़ के डीएस कालेज से वह छात्रसंघ अध्यक्ष चुने गए थे। इसके बाद वह राजनीति में सक्रिय हो गए। पहली बार ब्लाक प्रमुख चुने गए। उस समय वह निर्दलीय मैदान में थे। इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। राष्ट्रीय लोकदल से वह सक्रिय राजनीति में आ गए। इसके बाद वह विधायक बने। प्रदेश में गन्ना और चीनी मिल मंत्री भी रहे। 2012 से 2017 तक वह राष्ट्रीय लोकदल के विधानमंडल दल के नेता रहे। इसके बाद 2017 में वह भाजपा में शामिल हो गए। भाजपा से भी वो विधायक बने। राजनीति में जमीनी जुड़ाव से दलवीर सिंह का काेई सानी नहीं है। वह जबतक स्वस्थ्य रहे सुबह से ही जनता दरबार में बैठ जाया करते थे, लोग सुबह छह बजे से ही उनके घर आने लगते थे। अस्वस्थ्य होने के बाद भी उन्होंने हिम्मत नहीं हारी। वो अधिकांश कार्यक्रमों में शिरकत करते थे। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी उनके साहस को सलाम किया था। बताया जा रहा है कि उनकी जीवटता को देखते हुए ही उन्हें पीएमओ के माध्यम से भर्ती कराया गया है। पीएम के इस कार्य की हर काेई सराहना कर रहा है। जिलाध्यक्ष चौधरी ऋषिपाल सिंह ने कहा कि पीएम ऐसे ही नहीं लोगों के दिलों में राज करते हैं, उनका हृदय बहुत विशाल है, उन्होंने बरौली विधायक को देखते ही निर्णय ले लिया होगा कि उन्हें अच्छे से इलाज कराया जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.