अलीगढ़ में गहरा रहा आक्सीजन का संकट, तीन प्लांट में उत्पादन बंद

प्लांट से ही सरकारी अस्पतालों में आपूर्ति हो रही है।

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच अब आक्सीजन संकट भी गहराता जा रहा है। लिक्विड न होने के चलते आक्सीजन नहीं बन पा रही है। बुधवार को भी जिले के तीन प्लांटों में इसी के चलते आक्सीजन का उत्पादन नहीं हो सका।

Sandeep Kumar SaxenaThu, 22 Apr 2021 07:34 AM (IST)

अलीगढ़, जेएनएन। कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच अब आक्सीजन संकट भी गहराता जा रहा है। लिक्विड न होने के चलते आक्सीजन नहीं बन पा रही है। बुधवार को भी जिले के तीन प्लांटों में इसी के चलते आक्सीजन का उत्पादन नहीं हो सका। कासिमपुर स्थित हवा से आक्सीजन तैयार करने वाले प्लांट से ही सरकारी अस्पतालों में आपूर्ति हो रही है। निजी अस्पताल संचालक अब भी परेशान है। बुधवार देर रात या गुरुवार को मुरादाबाद व रुडकी से दस टन लिक्विड न अाने की उम्मीद है। इसके बाद यहां के प्लांट में उत्पादन शुरू हो सकेगा।

एक मात्र प्‍लांट चालू

जिले में कासिमपुर स्थित राधा इंडस्ट्री के नाम एक मात्र हवा से आक्सीजन बनाने का प्लांट है। यहां पर हर दिन करीब 250 सिलिंडर तैयार किए जाते हैं। वहीं तीन फैक्ट्रियों में लिक्विड से आक्सीजन गैस बनाई जाती है। इनमें तालानगरी स्थित राधिक इंडस्ट्री, गौडा रोड की एसी व तालानगरी की केसी इंड्रस्टी शामिल हैं। इन तीनों में हर दिन सौ-सौ सिलिंडर तैयार होते हैं। इसके अलावा जिले में आक्सीजन के तीन थोक विक्रेता हैं। इनमें मैरिस रोड स्थित त्रिलोक गैस, मसूदाबाद की यूनिवर्सिल व जीटी रोड पर लक्ष्मी सर्विस शामिल हैं। इन तीनों विक्रेताओं के यहां 250-250 सिलेंडर का स्टाक रहता है। जो फिलहाल नहीं है।

 बंद हुआ उत्पादन

अब कोरोना के बढ़ते मामलों से आक्सीजन की खपत बढ़ गई है। ऐसे में अस्पताल भी अधिक मांग कर रहे हैं, लेकिन जिले में न तो लिक्विड आ पा रहा और न ही थोक विक्रेताओं को सिलिंडर मिल पा रहे हैं। बुधवार को पूरे दिन में जिले में लिक्विड से आक्सीजन बनाने वाले तीनों प्लांटों में उत्पादन बंद रहा है। अफसरों ने लिक्विड के पूरे प्रयास किए, लेकन कहीं से भी बात नहीं बन सकी। रुडकी व मुरादाबाद से लिक्विड मंगाने की बात हुई है। देर रात तक पहुंचने की उम्मीद जताई जा रही है। फिलहाल जिले में हवा से आक्सीजन तैयार करने वाला राधा इंडस्ट्री प्लांट ही चल रहा है। इसमें हर दिन करीब 250 सिलिंडर तैयार हो रहे हैं, लेकिन इससे पूर्ति नहीं पड़ पा रही है। जिले में हर दिन करीब 400 सिलिडंर की मांग है। ऐसे में इससे पूर्ति पड़नी मुश्किल हो गई है। इसी के चलते अफसर लिक्विड की मांग के लिए ज्यादा प्रयासरत हैं।

उद्योगों पर लग चुकी है रोक

मेडिकल क्षेत्र में खपत बढ़ जाने के चलते उद्योग क्षेत्र के लिए आक्सीजन की आपूर्ति पर पहले ही रोक लग चुकी है। वहीं, उत्पादकर्ता व रिफिलर को स्टाक बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। इससे आगामी दिनों में कोरोना के मामले बढ़़ेे तो इससे निपटा जा सके।

बुधवार को जिले में लिक्विड नहीं था। इसके चलते तीन प्लांटों में उत्पादन नहीं हो सकता है। अब मुरादाबाद व रुडकी से लिक्विड मंगाया है। देर रात करीब दस टन लिक्विड यहां पहुंचने की उम्मीद है। इससे काफी राहत मिलेगी।

हेमेेंद्र चौधरी, औषधि निरीक्षक

मास्क लगाने के लिए जागरूक किया 

करणी सेना अलीगढ़ की टीम ने मास्क लगाओ कोरोना भगाओ अभियान के तहत आज छठवें दिन मुख्य अतिथि करणी सेना के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ठा0 मुकेश रावल की उपस्थिति में जिलाध्यक्ष ठा0 ज्ञानेंद्र सिंह चौहान के नेतृत्व में सेंटर पॉइंट् चौराहे पर मास्क वितरण करते हुए बिना मास्क लगाए हुए राहगीरों को कोरोना से बचाव के लिए मास्क लगाने के लिए जागरूक किया तथा लोगों को समझाया कि कोई ज़रूरी काम होने पर ही घर से बाहर निकलें। जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष वी पी सिंह ने बताया कि मास्क बांटने के अभियान का आज छठवाँ दिन था। इस अवसर पर ,के0के0 चौहान,कुलदीप राघव, विवेक अग्रवाल, संजय चौधरी, ,अतुल वार्ष्णेय,ओ0पी0सिंह राघव मुकलेश कश्यप ,संजीव सोलंकी,रामबाबू वर्मा, महिला शक्ति से गौरी पाठक ,रजनी माहोर प्रेमलता गौड़ आदि करणी सैनिक उपस्थित थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.