Assembly Election 2022 : विपक्षों के तेवर तल्ख, निकालना होगा रास्ताAligarh News

Assembly election 2022 चुनाव नजदीक आते ही विपक्ष के तेवर सख्त हो गए हैं। सपा बसपा कांग्रेस सभी दल भाजपा पर हमलावर हो गए हैं। चार साल तक जो नेता खुलकर नहीं बोल रहे थे अब वह भाजपा पर निशाना साधने लगे हैं।

Sandeep Kumar SaxenaFri, 24 Sep 2021 11:53 AM (IST)
चुनाव नजदीक आते ही विपक्ष के तेवर सख्त हो गए हैं।

अलीगढ़, जागरण संवाददाता। चुनाव नजदीक आते ही विपक्ष के तेवर सख्त हो गए हैं। सपा, बसपा, कांग्रेस सभी दल भाजपा पर हमलावर हो गए हैं। चार साल तक जो नेता खुलकर नहीं बोल रहे थे, अब वह भाजपा पर निशाना साधने लगे हैं। विपक्षियों का कहना है कि भाजपा ने प्रदेश में विकास कार्य नहीं कराया है और कानून-व्यवस्था भी ठीक नहीं है। जिस प्रकार से विपक्षी हमलावर हुए है, उसे देखते हुए भाजपा को रास्ता निकालना होगा।

चुनावी माहौल गरमाया

चुनावी माहौल गरम होने लगा है, इसी के साथ जिले में नेताओं का दौरा शुरू हो गया है। प्रगतिशील समाजवादी लोहिया पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव, भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर, हैदराबाद से सांसद और आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी शहर में आ चुके हैं। हालांकि, ओवैसी का गोपनीय दौरा था, इसलिए वह बिना मीडिया से बातचीत के ही निकल गए। मगर, शिवपाल सिंह यादव ने भाजपा को खूब घेरा। पहली बार ऐसा हुआ है जब शिवपाल सिंह यादव खुलकर भाजपा के खिलाफ मैदान में उतरे हैं। अभी तक वह पीठी पीछे से ही वार किया करते थे। भाजपा के बारे में सवाल करने पर वह टाल जाया करते थे। मगर, इस बार उनके तेवर देखते ही बनते हैं, वह भाजपा के खिलाफ जमकर बोल रहे हैं। ऐसा लग रहा है कि वह चुनाव में दो-दो हाथ करने को पूरी तरह से तैयार हैं। वहीं, भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर भी प्रदेश सरकार के खिलाफ खूब बरस रहे हैं। कानून-व्यवस्था, रोजगार आदि मुद्दों पर वो खुलकर भाजपा के खिलाफ बोल रहे हैं। माना जा रहा है कि चुनाव नजदीक आने के चलते नेताओं के तेवर तल्ख हो गए हैं। वह अपने भाषणों और बयानों से सुर्खियों में रहना चाहते हैं, उनकी तनिक बात भी चर्चा में हो जाती है, इसलिए वह किसी भी तरह से सुर्खियों में बने रहना चाहते हैं। ऐसे में भाजपा को प्रभावी रणनीति बनानी होगी। पार्टी यदि प्रखर होकर जवाब देती है तो सवाल-जवाब शुरू हो जाएंगे। विपक्ष भी सवालों के तीर छोड़ना शुरू कर देगा, इसलिए भाजपा को ऐसा रास्ता निकलना होगा, जिससे सांप भी मर जाए और लाठी भी न टूटे। हालांकि, भाजपा के पास विकास सबसे बड़ा मुद्दा है।

भाजपा जिलाध्यक्ष चौधरी ऋषिपाल सिंह का दावा है कि प्रदेश में साढ़े चार वर्षों में जो काम भाजपा ने किया है, वो अन्य सरकारे नहीं कर पाई हैं। पहले समाज में भय व्याप्त रहता था, जनता अपराधियों से भयभीत रहती थी। पलायन की घटनाएं आएदिन सुनाई देती थी, मगर अब ऐसा नहीं है। अब अपराधी सलाखों के पीछे हैं। पलायन की घटनाएं नहीं हो रही हैं। उपद्रवियों को पता है कि यदि उन्होंने तनिक भी कुछ किया तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। जिलाध्यक्ष का कहना है कि इसलिए छोटे-मोटे अपराधों में लिप्त रहने वाले भी अपराध छोड़कर किसी और काम धंधे में लग गए हैं, धीरे-धीरे सभी रास्ते पर आ जाएंगे। ऋषिपाल सिंह ने कहा कि प्रदेश विकास की ओर आगे बढ़ रहा है। तमाम निवेशक आ रहे हैं, पहले लोग यूपी का नाम सुनते ही कांपने लगते थे। निवेशक नहीं आया करते थे, मगर अब ऐसा नहीं है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.