यूपी विधानसभा चुनाव 2022 : अब भाजपा के फार्मूले से बेड़ा पार लगाएगी कांग्रेस

उत्तर प्रदेश की सत्ता में वापसी के लिए कांग्रेस की कोई नीति-रणनीति प्रभावकारी साबित नहीं हो रही। प्रत्येक बार पराजय की समीक्षा में कमजोर संगठन की बात सामने आई। ग्राम पंचायत या बूथ स्तर की कमेटियां न बनने से मतदान केंद्रों पर एजेंट तक नहीं मिल पाते।

Anil KushwahaThu, 09 Dec 2021 10:09 AM (IST)
उत्तर प्रदेश की सत्ता में वापसी के लिए कांग्रेस की कोई नीति-रणनीति प्रभावकारी साबित नहीं हो रही।

अलीगढ़, जागरण संवाददाता ।  उत्तर प्रदेश की सत्ता में वापसी के लिए कांग्रेस की कोई नीति-रणनीति प्रभावकारी साबित नहीं हो रही। प्रत्येक बार पराजय की समीक्षा में कमजोर संगठन की बात सामने आई। ग्राम पंचायत या बूथ स्तर की कमेटियां न बनने से मतदान केंद्रों पर एजेंट तक नहीं मिल पाते। अब जबकि राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा कांग्रेस को भाजपा का विकल्प बनाने के लिए स्वंय सक्रिय हैं, तो कांग्रेस भाजपा के फार्मूले से ही उसे हराने के प्रयास में जुट गई है। इसके लिए जिला, शहर, विधानसभा, ब्लाक ही नहीं, न्याय पंचायत व ग्राम पंचायत तक संगठन खड़ा करने का दावा है। नेताओं को उम्मीद है कि इस बार उनका बेड़ा पार जरूर लगेगा।

सभी 12 ब्लाकों में कमेटियां

जिलाध्यक्ष ठाकुर संतोष सिंह जादौन ने बताया कि अलीगढ़ में 12 ब्लाक व 122 न्याय पंचायतें हैं। प्रत्येक में अध्यक्ष व अन्य पदाधिकारियों की नियुक्त कर ली गई है। न्याय पंचायतों के अध्यक्ष एवं उनकी कमेटियों के माध्यम से संपूर्ण जनपद अलीगढ़ की 862 ग्राम पंचायतों में पंचायतों के अध्यक्ष एवं ग्राम पंचायत की कमेटी बना ली गई हैं। इसी तरह बूथ स्तर पर कमेटियां बना दी गई हैं। इन कमेटियों के माध्यम में पार्टी की नीति-रीति जन-जन तक पहुंचाई जा रही है। प्रियंका गांधी वाड्रा की सात प्रतिक्षाएं हर ग्रामीण तक पहुंचा दी गई हैं। महंगाई व बेरोजगारों को लेकर लगातार आवाज उठाई जा रही है। पूर्व की कांग्रेस सरकारों की उपलब्धियां व भाजपा सरकार की जन विरोधी नीतियों से जनता को अवगत करा रहे हैं। कांग्रेस ही ऐसी पार्टी है, जो भाजपा का सही विकल्प हो सकती है।

वृहद सदस्‍यता अभियान चला रही कांग्रेस

भाजपा की सबसे बड़ी मजबूती संगठन के साथ उसके सदस्यों की अपार संख्या भी है। ऐसे में कांग्रेस भी भाजपा की तर्ज पर वृहद सदस्यता अभियान चला रही है। यह अभियान ब्लाक अध्यक्ष व न्याय पंचायत अध्यक्ष के नेतृत्व में पूरे जनपद में सदस्यता अभियान जारी है। हर विधानसभा के प्रत्येक आवेदक चुनाव लड़ने के इच्छुक दावेदारों को 10 हजार सदस्यता फार्म भरवाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। हालांकि, अभी तक किसी ने भी कार्य पूर्ण होने की सूचना पार्टी नेतृत्व को नहीं दी है। सदस्यता अभियान की मानीटरिंग का कार्य स्वयं जिलाध्यक्ष संभाल रहे हैं। जिलाध्यक्ष के अनुसार, पुराने व कर्मठ कार्यकर्ताओं को टिकट में प्राथमिकता दी जाएगी। कुल सात विधानसभा सीटों में महिलाओं के लिए दिए गए 40 प्रतिशत आरक्षण का पालन किया जाएगा। सभी सात विधानसभा सीट पर कांग्रेस मजबूत है। हम जीत रहे हैं । वे लोग कांग्रेसी नहीं हो सकते हैं जो कांग्रेस पार्टी को कमजोर करने के उद्देश्य से पार्टी के विरुद्ध व्यर्थ की ब्यानबाजी कर रहे हैं। । ऐसे लोगों के विरुद्ध जल्द ही अनुशासनात्मक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.