खुले में नहीं बितानी होगी रात, एक दिसंबर से शुरू होगा हाथरस में शेल्टर होम

शहर आए लोगों को अब डरने की जरूरत नहीं है। उन्हें रात बिताने के लिए खुले में नहीं रहना पड़ेगा। नगर पालिका द्वारा शहर में एक दिसंबर से शेल्टर होम शुरू किया जा रहा है। जल्द ही नगर पालिका द्वारा प्रमुख चौराहों पर अलाव की व्यवस्था भी की जाएगी।

Anil KushwahaPublish:Mon, 29 Nov 2021 12:14 PM (IST) Updated:Mon, 29 Nov 2021 12:15 PM (IST)
खुले में नहीं बितानी होगी रात, एक दिसंबर से शुरू होगा हाथरस में शेल्टर होम
खुले में नहीं बितानी होगी रात, एक दिसंबर से शुरू होगा हाथरस में शेल्टर होम

हाथरस, जागरण संवाददाता। शहर आए लोगों को अब डरने की जरूरत नहीं है। उन्हें रात बिताने के लिए खुले आसमान के नीचे नहीं रहना पड़ेगा। नगर पालिका द्वारा शहर में एक दिसंबर से शेल्टर होम शुरू किया जा रहा है। जल्द ही नगर पालिका द्वारा प्रमुख चौराहों पर अलाव की व्यवस्था भी की जाएगी।

एक दिसंबर से शहर में शुरू हो रहे शेल्‍टर होम

नवंबर माह जाते-जाते सर्दियां भी तेज होती जा रही हैं। धूप खिलने से भले ही दिन में राहत मिलती हो पर रात में सर्दियों के लिए चलते लोगों को दिक्कतें हो रही हैं। ऐसे में दूर- दराज के क्षेत्राें से शहर आने वाले राहगीरों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे लोगाें को राहत देने के लिए नगर पालिका द्वारा एक दिसंबर से शहर में शेल्टर होम शुरू किया जा रहा है। इसे अलीगढ़ रोड पर केनाल कालाेनी के सामने बनाया गया है। इसमें 100 बिस्तरों की व्यवस्था अलग-अलग कमरों में की गई है। सामजिक संगठनों द्वारा भी रेनवसेरा पुरानी कलक्ट्रेट परिसर में बनाया जाएगा। इससे तालाब चौराहा व आसपास से गुजरने वाले राहगीरों को इनका लाभ मिलेगा।

जल्द होगी अलाव की व्यवस्था

सर्दियों को देखते हुए नगर पालिका प्रशासन सक्रिय हो गया है। अब जल्द ही शहर में अलाव की व्यवस्था की जाएगी। यह अलाव शहर में सभी प्रमुख चौराहों, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, तालाब चौराहा, सरकारी चिकित्सालय गांधी पार्क तिराहा सहित अन्य स्थानों पर लगवाए जाएंगे। इससे रात के समय राहगीरों के अलावा रिक्शा वाले, वाहन चालक व दुकानदारों को राहत मिलेगी।

इनका कहना है

शहर में आने वाले राहगीरों के लिए शेल्टर होम एक दिसंबर से शुरू हो जाएगा। इसमें हथठेले वाले व आश्रयहीन लाेग भी रात गुजार सकते हैं। उच्चाधिकारियों के निर्देश पर जल्द ही शहर में अलाव की व्यवस्था भी की जाएगी।

- अनिल कुमार, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद हाथरस