Hathras Murder: हाथरस में अपहरण के बाद युवक की हत्‍या, बाद में शव पोखर में फेंका

कोतवाली हाथरस गेट के गांव गढ़ी जैनी का 40 वर्षीय बंटी पुत्र निरंजन लाल शनिवार की शाम से लापता था। स्वजन ने अपहरण का मुकदमा कोतवाली सदर में गांव गंगचौली के तीन युवकों के खिलाफ दर्ज कराकर अनहोनी की आशंका व्यक्त की थी।

Sandeep Kumar SaxenaPublish:Wed, 24 Nov 2021 03:43 PM (IST) Updated:Wed, 24 Nov 2021 03:43 PM (IST)
Hathras Murder:  हाथरस में  अपहरण के बाद युवक की हत्‍या, बाद में शव पोखर में फेंका
Hathras Murder: हाथरस में अपहरण के बाद युवक की हत्‍या, बाद में शव पोखर में फेंका

हाथरस, संवाद सहयोगी। कोतवाली हाथरस गेट के गांव गढ़ी जैनी का 40 वर्षीय बंटी पुत्र निरंजन लाल शनिवार की शाम से लापता था। स्वजन ने अपहरण का मुकदमा कोतवाली सदर में गांव गंगचौली के तीन युवकों के खिलाफ दर्ज कराकर अनहोनी की आशंका व्यक्त की थी। बुधवार की दोपहर को कोतवाली हाथरस जंक्शन के गांव नगला अलिया की पोखर से पुलिस ने शव को बरामद कर लिया। लापता युवक का शव मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। घटनास्थल पर पुलिस की लापरवाही को लेकर स्वजन व ग्रामीणों ने हंगामा काट दिया। शव को पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

हेयर ड्रेसर था बंटी

गांव गढ़ी जैनी निवासी बंटी शहर के भूरापीर स्थित हेयर ड्रेसर की दुकान पर बाल काटने का काम करता था। स्वजन की मुताबिक शनिवार शाम को तीन जानकार युवक उसे अपने साथ बुलाकर ले गए। शाम को छह बजे बंटी ने फोन पर नगला अलिया होने की बात बताई। लेकिन उसके बाद मोबाइल फोन बंद हो गया। मंगलवार दोपहर को स्वजन पहले कोतवाली हाथरस गेट पहुंचे। जहां से पुलिस ने मामला कोतवाली सदर का होने की बात कहकर स्वजन को कोतवाली भेज दिया। मंगलवार दोपहर को स्वजन की तहरीर पर पुलिस ने गांव गंगचौली के तीन नामजद लोगों के खिलाफ अपहरण का मुकदमा पंजीकृत कर लिया। बुधवार दोपहर को हाथरस जंक्शन व कोतवाली सदर पुलिस ने गांव नगला अलिया स्थित पोखर में लापता युवक की तलाश शुरू कर दी। काफी मशक्कत के बाद युवक का शव पोखर से बरामद कर लिया गया। शव बरामद होते ही स्वजन व ग्रामीण आक्रोशित हो गए। पुलिस पर हीलाहवाली का आरोप लगाया। सूचना पर सीओ सिटी रूचि गुप्ता भी मौके पर पहुंच गई। युवक का शव चादर में लिपटा हुआ था। हाथ व पैर भी युवक के रस्सी से बंधे हुए थे। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

रात को मिले थे जूते व साइकिल

मंगलवार दोपहर को अपहरण का मुकदमा पंजीकृत होने के बाद कोतवाली हाथरस जंक्शन व सदर पुलिस सक्रिय हो गई थी। मंगलवार रात को ही घटनास्थल से थोड़ी दूर एक खेत में मृतक की साइकिल पड़ी मिली। तो वहीं पोखर के निकट ही पुलिस ने मृतक के जूते भी बरामद कर लिए थे। तभी पुलिस को शक हो गया था कि कहीं शव पोखर के अंदर तो नहीं है। उसी शक के आधार पर बुधवार को सर्च करने के बाद शव को बाहर निकाला जा सका।

गर्भवती पत्नी हो गई बेसुध

मृतक बंटी की शादी करीब चौदह साल पूर्व प्रीति के साथ हुई थी। परिवार में पत्नी के अलावा एक आठ वर्षीय पुत्र मृतक के पास है। पति का शव मिल जाने की सूचना लगते ही पत्नी बेसुध हो गई। घटनास्थल पर पुलिस जब ट्रैक्टर ट्राली के जरिए शव को पोस्टमार्टम हाउस ले जा रही थी। तभी मृतका की पत्नी व बच्चा वहां पहुंचा। पति की एक झलक देखने के लिए बेसुध हो गई। पुलिस से तमाम मिन्नत करने के बाद शव पत्नी व उसके बच्चे को दिखाया गया।

ग्रामीण बोले,बंद कराओं नशीले पदार्थ की बिक्री

घटनास्थल पर शव मिलने के बाद ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त था। पुलिस की मौजूदगी में ग्रामीणों ने नशीले पदार्थ बेचे जाने का विरोध किया। ग्रामीणों का आरोप था कि गांव नगला अलिया में कुछ लोग पुलिस के संरक्षण में गांजा और स्मैक बेचते हैं। जिससे युवा पीढ़ी में नशे की लत पड़ रही है।