अलीगढ़ की खैर मंडी में निर्माण कार्याें पर बैठाई जांच, जानिए क्या है मामला

डीडी मंडी नरेंद्र मलिक ने जून में नवीन मंडी का औचक निरीक्षण किया था। उनके मुताबिक करीब चार करोड़ की लागत से बनीं दुकानों के निर्माण में घटिया सामग्री को प्रयोग किया गया। दुकानों का फर्श समतल नहीं था दुकानों के अंदर शटर पर केनोपी नहीं लगाई गई

Sandeep Kumar SaxenaFri, 23 Jul 2021 04:55 PM (IST)
दुकानों के अंदर शटर पर केनोपी नहीं लगाई गई

अलीगढ़, जेएनएन। खैर नवीन मंडी में छह माह पूर्व हुए निर्माण कार्यों में बरती गईं अनियमितताओं पर जांच बैठा दी गई है। लखनऊ से आए चीफ इंजीनियर पीसी जैन से नौ जुलाई को यहां निरीक्षण किया था। दुकानों का प्लास्टर झड़ रहा था, फर्श भी जगह-जगह से उखड़ा मिला अन्य खामियां भी पाई गईं। चीफ इंजीनियर ने जांच के लिए आगरा मंडी परिषद के संयुक्त निदेशक (निर्माण) सत्यप्रकाश व मेरठ मंडी परिषद के उपनिदेशक (निर्माण) विजयपाल सिंह को जांच अधिकारी नियुक्त किया है। सात दिन में जांच रिपोर्ट मांगी गई है।

यह है मामला

दरअसल, डीडी मंडी नरेंद्र मलिक ने जून में नवीन मंडी का औचक निरीक्षण किया था। उनके मुताबिक करीब चार करोड़ की लागत से बनीं दुकानों के निर्माण में घटिया सामग्री को प्रयोग किया गया। दुकानों का फर्श समतल नहीं था, दुकानों के अंदर शटर पर केनोपी नहीं लगाई गई, मंडी के बाहर बने चबूतरे पर सीसी कार्य भी दुरुस्त नहीं पाया गया, सीसीटीवी कैमरे बंद मिले। 10 सफाई कर्मचारियों की तैनाती है, लेकिन मौके पर छह ही मिले। मंडी सचिव ने कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दिया। इसको लेकर सचिव, अवर व सहायक अभियंता से स्पष्टीकरण मांगा, जो दिया नहीं गया। इसके बाद जांच आख्या मुख्यालय भेज दी। डीडी मंडी ने बताया कि प्रकरण में चीफ इंजीनियर ने जांच बैठा दी है। आगरा व मेरठ के कृषि अधिकारी जांच कर रहे हैं। आदेश में स्पष्ट कहा है कि जांच अधिकारी अभिलेखीय व स्थलीय जांच कर कमियों के संबंध में उत्तरदायी अभियंताओं व संबंधित ठेकेदारों के विरुद्ध कार्रवाई और परिषद को हुई क्षति का आकलन कर एक हफ्ते में जांच आख्या उपलब्ध कराएं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.