आज मौके पर ही बीमार व बुजुर्गों का पंजीकरण करके होगा टीकाकरण Aligarh news

कोरोना महामारी से बचाव के लिए तीसरे चरण के अंतर्गत एक मार्च से टीकाकरण शुरू होगा।

कोरोना महामारी से बचाव के लिए तीसरे चरण के अंतर्गत एक मार्च से टीकाकरण शुरू होगा। इसमें 60 वर्ष से ऊपर के व्यक्तियों एवं 45 से 59 वर्ष तक के उन व्यक्तियों को जो किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित हैं उन्हें कोविडशील्ड टीका लगेगा।

Anil KushwahaMon, 01 Mar 2021 06:23 AM (IST)

अलीगढ़, जेएनएन :  कोरोना महामारी से बचाव के लिए तीसरे चरण के अंतर्गत एक मार्च से टीकाकरण शुरू होगा। इसमें 60 वर्ष से ऊपर के व्यक्तियों एवं 45 से 59 वर्ष तक के उन व्यक्तियों को जो किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित हैं उन्हें कोविडशील्ड टीका लगेगा। खास बात ये है कि इस बार स्पाट वैक्सीनेशन होगा, यानि इस आयु वर्ग का कोई भी व्यक्ति पहले केंद्र पर पहुंचकर टीका लगवा सकता है। दरअसल, इस चरण के लिए लाभार्थियों का पंजीकरण नहीं हो पाया है। क्योंकि कोविन पोर्टल को अपडेड करने में ही काफी समय लग गया। ऐसे में पहले दिन बिना पंजीकरण के ही टीकाकरण किया जाएगा।  

तीन केंद्रों पर 100-100 लाभार्थियों को टीका 

सीएमओ डा. बीपीएस कल्याणी ने बताया कि प्रथम दिवस का टीकाकरण सिर्फ जिला महिला चिकित्सालय, जेएन मेडिकल जेएन मेडिकल कालेज  और दीनदयाल अस्पताल में ही होगा। प्रत्येक में 100 लाभार्थियों को टीका लगेगा। अगले बूथ दिवस के बारे में सरकार से अनुमति या प्लान नहीं मिला है। इसके बाद आयुष्मान भारत योजना के पैनल में शामिल सरकारी व प्राइवेट चिकित्सालयों में टीकाकरण सत्र आयोजित किए जाएंगे। सरकारी चिकित्सालयों पर होने वाले टीकाकरण सत्र बिल्कुल मुफ्त होंगे, जबकि प्राइवेट अस्पताल में इसे लगवाने के लिए 250 रुपये प्रति व्यक्ति भुगतान करना होगा। सभी निजी  को यह सख़्त हिदायत दी है कि भविष्य में उनके प्रतिष्ठान में लगने वाले कोविड टीकाकरण में किसी व्यक्ति से तय शुल्क से अधिक किसी भी सूरत में न लिया जाए। यदि कहीं भी ऐसी सूचना मिली तो निश्चित ही कड़ी विधिक कार्यवाही होगी ।

सबको लगेगा टीका, परेशान न हों

स्वास्थ्य विभाग की ओर से सभी 60 वर्ष से ऊपर एवं 45-59 वर्ष के बीमार व्यक्तियों से अपील की गई है कि वे अपना पहचान पत्र ( वोटर आइडी कार्ड, आधार कार्ड या फिर पैन कार्ड में से कोई एक) लेकर के टीकाकरण स्थल पर जाएं। उपस्थित स्वास्थ्य कर्मी आपका मौके पर ही पंजीकरण करके टीका लगाएंगे। यदि वहां भीड़ है तो इसके लिए परेशान न हों जल्द ही आपका टीकाकरण किसी दूसरे दिवस पर संपन्न  हो जाएगा। एक सत्र स्थल पर अधिकतम 100-125 के करीब ही टीका लगाया जा सकता है।  इसलिए टीकाकरण कार्य में लगे स्वास्थ्य कर्मियों पर किसी प्रकार का दबाव न डाला जाए जिससे की वो प्रभावित हों और टीकाकरण कार्यक्रम पर विपरीत प्रभाव पड़े । पुनः प्रत्येक ब्लाॅक से लेकर तहसील मुख्यालयों पर स्थित सरकारी चिकित्सालयों सहित आयुष्मान योजना से संबद्ध अनेक निजी चिकित्सालयों पर उक्त टीकाकरण कार्यक्रम सत्र आयोजित होना तय है। इसलिए किसी प्रकार की जल्दबाजी न करें और न हीं हमारे स्वास्थ्य कर्मियों पर किसी प्रकार का दबाव बनाएँ ।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.