top menutop menutop menu

BJP MLA SO Fight In Police Station: मेरा थानेदार गलत नहीं होगा तो मैं स्‍टैंड लूंगा: अतुल शर्मा

BJP MLA SO Fight In Police Station: मेरा थानेदार गलत नहीं होगा तो मैं स्‍टैंड लूंगा: अतुल शर्मा
Publish Date:Sat, 15 Aug 2020 07:20 AM (IST) Author: Sandeep Saxena

अलीगढ़ जेएनएन: उत्‍तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ के गौंडा प्रकरण में गैर जनपद में ट्रांसफर किए गए एसपी देहात अतुल शर्मा ने कहा कि मैंने अपने एसओ का स्टैंड लिया। इसका मुझे कोई खेद नहीं है। आगे भी अगर मेरा कनिष्ठ साथी या मेरे अधीन आने वाला थानेदार गलत नहीं होगा तो स्टैंड लूंगा।दैनिक जागरण से बातचीत में उन्होंने कहा कि जब मेरा कनिष्ठ अफसर मेरे कहने पर काम करता है तो उस पर दिक्कत आएगी तो मैं स्टैंड लूंगा। जो भी सच होगा, वो सामने आएगा। सब दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।

क्रॉस मुकदमा कैसे हो गया

उल्लेखनीय है कि जब थाने में एसपी देहात अतुल पहुंचे थे तो विधायक दलवीर ङ्क्षसह और सांसद सतीश गौतम ने ये पूछा था कि आखिर आपके आदेश पर क्रॉस मुकदमा कैसे हो गया। इस पर अतुल शर्मा ने कहा कि हां, मैने मौखिक अनुमति दी थी। मेरे आदेश पर मुकदमा हुआ। इसके लिए थानेदार से झड़प करने का क्या औचित्य? सीधे मुझसे बात की जाती। घटना के दौरान एसपी देहात हर बात की अपडेट अपने वरिष्ठ अफसरों आइजी व एसएसपी को फोन पर दे रहे थे।  रात को खबर मिली कि अतुल शर्मा का लखनऊ एटीएस में तबादला कर दिया गया है।

मेरी वर्दी तक खींच ली 

अलीगढ़  गौंडा थाने के निलंबित एसओ अनुज ने दैनिक जागरण से बातचीत में पहली बार अपना पक्ष रखा। कहा, इस प्रकरण के बाद मेरा मनोबल टूट चुका है। मेरा नुकसान जो हुआ, उसका कुछ नहीं। दबाव में हम लोगों की कोई सुनने वाला नहीं है। मैं झूठ बोल सकता हूं, लेकिन सच्चाई छिपेगी नहीं। घटना के बारे में बताते हुए कहा कि विधायक राजकुमार सहयोगी ने मुकदमे के सिलसिले में कोई बात नहीं की। आते ही मारपीट कर दी। हूटर बजाते हुए तीन-चार गाडिय़ों में विधायक अंदर आए। पहले झाड़ू लगा रहे चौकीदार को गाली-गलौज करते हुए फटकार दिया। मैंने कहा कि बुजुर्ग को क्यों गाली दे रहे हैं। इनका अपमान मत करिये। इस पर गाली देते हुए कहने लगे कि तुझे तो मैं बताता हूं और मुझ पर हाथ छोड़ दिया। पूरी मर्यादा खो दी। मेरी वर्दी तक खींच ली। मैं शून्य हो चुका था। पूरी बात मैंने अधिकारियों के संज्ञान में लाई। मुझे दुख है कि विधायक ने वर्दी में मुझसे मारपीट की। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.