Ishan River water Overflows in Hathras: ईशन नदी के ओवरफ्लो से पुरदिलनगर में जलमग्न हुई सैकड़ों बीघा फसल Hathras News

Ishan River water Overflows in Hathrasबारिश का पानी आने से पुरदिलनगर ईशान नदी उफान ले रही है। इसकी पटरियां कट जाने से पुरदिलनगर क्षेत्र में सैकड़ों बीघा फसल जलमग्न होकर नष्ट हो गई हैं। इससे किसानों के आगे आर्थिक संकट खड़ा हो गया है।

Sandeep Kumar SaxenaSun, 26 Sep 2021 12:00 PM (IST)
पुरदिलनगर क्षेत्र में खेतों में भरे ईशन नदी के पानी को दिखाते किसान।

हाथरस, संवाद सहयागी। बारिश का पानी आने से पुरदिलनगर ईशान नदी उफान ले रही है। इसकी पटरियां कट जाने से पुरदिलनगर क्षेत्र में सैकड़ों बीघा फसल जलमग्न होकर नष्ट हो गई हैं। इससे किसानों के आगे आर्थिक संकट खड़ा हो गया है। किसानों ने प्रार्थना पत्र देकर सरकार से नष्ट हुई फसलों का मुआबजा दिलाने की र्माग जनप्रतिनिधियों से की है।

हाथरस में नदी का पानी खेतों में भरा

शांत रहने वाली ईशन नदी भी अब किसानों को आंखे दिखानें दिखाने लगी है। बारिश का पानी आने के कारण यह ओवरफ्लो हो गई है। पटरियों से होगा इसका पानी पुरदिलन नगर क्षेत्र के खेतों में भर गया है। नदी के पानी में धान, चरी, बाजरा, मक्का के अलावा तोरई, लोकी, बेगन की फसलें डूब गई है। इनमें चार फीट तक पानी भरा हुआ है। इस पानी से सैकड़ों बीघा फसल बर्बाद हो गई है। फसलों में यह जलभराव पुरदिलनगर, दोकेली, सुल्तानपुर, सिंचावली, असोई, वरसामई, गूजरपुर क्षेत्र में हुआ है। इन्हीं गांवों से होकर यह नदी एटा जिले में प्रवेश करती है।

नष्ट फसलों का मुआवजा की उठ रहीं मांग

पुरदिलनगर क्षेत्र के सुल्तानपुर व दोकेली सहित कई गांव के लोग जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि प्रवेश कुमार परमार से मिले। उन्होंने सारी स्थिति से ग्राम प्रधान को अवगत कराया। साथ ही उन्होंने नष्ट हुई फसलों का मुआबजा सरकार से दिलाने की मांग को लेकर एक प्रार्थना पत्र मुख्यमंत्री के नाम जिला पंचायत सदस्य के प्रतिनिधि को सौंपा।

दिनावली में रजबहा कटने से नष्ट हुई 100 बीघा फसल

सासनी क्षेत्र के गांव दिनावली में शनिवार की रात रजबहा की पटरी कट गई। इससे रजबहा का पानी आस-पास के खेतों में भर गया। इसकी जानकारी रविवार की सुबह किसानों को हुई। उन्होंने मौके पर पहुंचकर किसी तरह पटरी को बंद करने का प्रयास किया। यहां भी धान, बाजरा व सब्जी की फसलें डूब गई हैं। किसान सरकार से मुआबजा दिलाने की मांग कर रहे हैं।

खरीफ की फसलों में धान, मक्का, बाजरा, ग्वार की फसलें खेतों में पानी भरने से नष्ट हो गई हैं। रबी की फसल की बोआई भी पानी भरने से नहीं हो पाएगी।

- महावीर सिंह, किसान

भारी बरसात के कारण ईशन नदी मे बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई है। इसके अोवरफ्लो से क्षेत्र की सैकड़ाें बीघा खेती में चार फीट तक पानी भर गया है।

- हरिप्रसाद बघेल, प्रधान

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.