Bird Flu Alert : अलीगढ़ में बर्ड फ्लू से स्वास्थ्य विभाग बेफिक्र, जानिए क्यों

कोविड संकट काल में अन्य बीमारियां भी सरकार की परेशानी बढ़ाती रही हैं।

स्वास्थ्य विभाग में बर्ड फ्लू की रोकथाम को लेकर ज्यादा सुगबुगाहट दिखाई नहीं दे रही और न कोई बैठक ही बुलाई गई है। इसकी एक वजह ये है कि जो इंतजाम बर्ड फ्लू के लिए किए जाने है वहीं इंतजाम कोरोना वायरस से निबटने के लिए किए गए हैं।

Sandeep kumar SaxenaSat, 16 Jan 2021 09:45 AM (IST)

अलीगढ़, जेएनएन। कोविड संकट काल में अन्य बीमारियां भी सरकार की परेशानी बढ़ाती रही हैं। अब देश में बर्ड फ्लू बड़ा खतरा बन रहा है। लोग दहशत में हैं। जनपद समेत प्रदेश में हाई अलर्ट घोषित हो चुका है। लेकिन, स्वास्थ्य विभाग में बर्ड फ्लू की रोकथाम को लेकर ज्यादा सुगबुगाहट दिखाई नहीं दे रही और न इतने दिनों में कोई बैठक ही बुलाई गई है। इसकी एक वजह ये है कि जो इंतजाम बर्ड फ्लू के लिए किए जाने है, वहीं इंतजाम कोरोना वायरस से निबटने के लिए किए गए हैं। ऐसे में विभाग अपनी तैयारी पूर्ण मानकर बैठा है। 
बर्ड फ्लू की रोकथाम के लिए
शासन से जारी गाइडलाइन के अनुसार स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए गए हैं कि वह लोगों को बर्ड फ्लू से बचाव के लिए ऐसे स्थान जहां पक्षियों की बहुतायत है, वहां पर मास्क पहनने व कर्मचारियों को पीपीई किट का इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित किया जाए। जबकि, कोरोना से बचाव के लिए हर व्यक्ति के लिए मास्क के इस्तेमाल को लेकर काफी जागरूकता विगत महीनों में फैलाई गई है। बर्ड फ्लू से बचाव को हाथों को बार-बार धोनें की अपील की गई है, कोविड के चलते यह काम भी लोग बहुत पहले से करते रहे हैं। 
टीमों का गठन
कोविड के लिए डिस्ट्रिक्ट टास्क फोर्स, रेपिड रिस्पांस टीम व अन्य व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं। यहां भी स्वास्थ्य विभाग को कुछ करने की जरूरत नहीं पड़ी। कोविड की रोकथाम के लिए डिस्ट्रिक्ट टास्क फोर्स व ब्लाक पर रेपिड रिस्पांस टीमें गठित हैं। फिलहाल, ये टीमें कोविड में जुटी हैं, यदि कहीं से बर्ड फ्लू की सूचना आएगी तो यही टीमें उसके लिए सक्रिय हो जाएंगी। ऐसे में विभाग ने अलग से कोई टीम गठित नहीं की है। 
टेमीफ्लू की उपलब्धता 
बर्ड फ्लू के वायरस से संक्रमित व्यक्ति को टेमीफ्लू दवा दी जाती है। विभाग को शासन से टेमीफ्लू दवा मंगाने की जरूरत भी नहीं पड़ी। क्योंकि, पिछले साल स्वाइन फ्लू के चलते काफी मात्रा में टेमीफ्लू दवा मंगाई गई थी, जिसकी काफी मात्रा इस्तेमाल ही नहीं हो पाई। ऐसे में विभाग को टेमीफ्लू की चिंता भी नहीं करनी पड़ी। 
कट्रोल रूम
इसी तरह बर्ड फ्लू की सूचनाएं प्राप्त करने के लिए अलग से मुख्यालय पर कंट्रोल रूम बनाने की जरूरत नहीं पड़ी है। लोग कोविड कंट्रोल रूम पर ही सूचनाएं दे सकते हैं। ऐसे हालात में स्वास्थ्य विभाग बर्ड फ्लू को लेकर बेफिक्र नजर आ रहा है। 
हमारे पास सभी इंतजाम 
सीएमओ डा. बीपीएस कल्याणी ने बताया कि बर्ड फ्लू का कोई केस सामने नहीं आया है। फिर भी हमारे पास पहले से ही महामारी व संक्रामक रोगों से निबटने के लिए पूरा तंत्र मौजूद है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.