top menutop menutop menu

लॉकडाउन हटते ही बढ़ा हादसों का ग्राफ, जानिए विस्तार से Aligarh News

अलीगढ़ [रिंकू शर्मा]। कोरोना संक्रमण के चलते दो माह से अधिक तक लॉकडाउन रहा। इस दौरान अलीगढ़ में सड़क हादसे और आपसी विवाद के मामले काफी कम रहे, लेकिन लॉकडाउन अनलॉक होते ही जिले में सड़क हादसों का ग्राफ बढ़ गया है। हर दिन किसी न किसी की दुनियां उजड़ रही है। पिछले एक सप्ताह में ही इन हादसों में 11 लोगों की जान जा चुकी है। इतना ही नहीं थानों में आपसी विवाद, मारपीट व झगड़ों से जुड़े मुकदमों की संख्या भी बढ़ी है। सबसे खास बात यह है कि लॉकडाउन में हत्या, लूट, नकबजनी, छेड़छाड़, दुष्कर्म, दहेज उत्पीडऩ जैसे अपराधों में कमी दर्ज की गई थी, लेकिन लॉकडाउन खुलते ही संगीन अपराधों में लगातार बढ़ोत्तरी होने लगी है। खासकर लूट, छिनैती, चोरी व वाहन चोरी की घटनाएं बढ़ गई हैं।

छोटी बातों पर खो रहे धैर्य, बढ़ रहे विवाद 

शहर से लेकर देहात तक के थानों में रोजाना मारपीट, फौजदारी से जुड़े चार से पांच मुकदमे लिखे जा रहे हैं। पुलिस स्तर से शांतिभंग की आशंका में धारा 151 में भी कार्रवाई की जा रही है। आलम यह है कि जिले के कुछ थानों में इस तरह के 20 से 25 मुकदमे अब तक दर्ज भी हो चुके हैं। डीएम, एसएसपी की पहल पर इस तरह के विवादों को समाप्त कराने को पुलिस गांव-गांव जाकर लोगों से आपसी विवादों का मिल, बैठकर निपटारा करने की अपील कर रही है।

हादसों पर नजर

-01 सप्ताह में हुए 27 सड़क हादसे

-11 लोगों की जा चुकी है जान

-37 लोग हुए हैं घायल

विवाद भी कम नहीं

3-4 मुकदमे हर रोज दर्ज हो रहे हैं मारपीट, फौजदारी  के  लॉकडाउन में

20-25 मुकदमे अब तक कुछ थानों में दर्ज भी हो चुके हैं

03 लोग जवां व गभाना में मारपीट में जान गवां चुके हैं

मुकदमों पर नजर

-26 थाने हैं जिले में

 -1200 से अधिक मुकदमे लिखे गए

-1160 मुकदमे तो लॉकडाउन उल्लंघन से संबंधित हैं

लॉकडाउन पर नजर

25 मार्च से 14 अप्रैल तक रहा पहला लॉकडाउन

15 अप्रैल से 03 मई तक रहा दूसरा लॉकडाउन

04 मई से 17 मई तक रहा तीसरा लॉकडाउन

18 मई से 31 मई तक रहा चौथा लॉकडाउन

अपराधों का विवरण

अपराध, लॉकडाउन, अनलॉक

हत्या : 02, 06

लूट : 10, 13

जानलेवा हमला : 03, 16

पुलिस मजामत : 04, 10

आईटी एक्ट : 06, 08

नकबजनी : 05, 11

चोरी, 12, 08

वाहन चोरी : 08, 15

दुष्कर्म : 03, 09

छेड़छाड़ : 04, 08

आवश्यक वस्तु अधिनियम : 07, 04

आबकारी एक्ट : 18, 21

मारपीट व फौजदारी : 14, 127

शांति भंग में पाबंंद : 281, 1022

लॉकडाउन उल्लंघन व महामारी अधिनियम: 1280, 12

अन्य अपराध : 10, 40

(25 मार्च से 09 जून तक के आंकड़े हैं)

तेजी से किया राजफाश

एसएसपी मुनिराज ने बताया कि लॉकडाउन के बाद अपराध बढ़े हैं, लेकिन पुलिस ने भी उसी तेजी से इन अपराधों का राजफाश किया है। मारपीट व फौजदारी की घटनाएं भी बढ़ी हैं, जिन्हें रोकने को पुलिस स्तर से हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.