उपचुनाव में ही रख गई पंचायत चुनाव की नींव Aligarh News

अलीगढ़ (जेएनएन)। इगलास उपचुनाव से ही अगले साल प्रस्तावित पंचायत चुनाव की भी नींव रख गई है। पंचायत चुनाव लडऩे वाले उम्मीदवारों ने इन चुनावों में किसी पार्टी का खुलकर समर्थन नहीं किया। अंदरखाने सभी पार्टियों का समर्थन करते रहे। डर था कि कहीं इस चुनाव के समर्थन में आगमी पंचायत चुनाव में उनके हाथों से दूसरी पार्टियों का वोट भी न छिटक जाए।

ये हैं मौजूदा हालात

इगलास विधानसभा में 100 से अधिक ग्राम पंचायतें हैं। इनमें प्रधान व क्षेत्र पंचायत सदस्य भी हैं। ऐसे में उपचुनाव के दौरान सभी राजनीतिक पार्टियों की नजरें इन पर थीं। भाजपा ने तो अलग से प्रधानों व क्षेत्र पंचायत सदस्यों की बैठक तक की। अन्य प्रत्याशी भी प्रधानों के घर पहुंचे। अब अगले साल पंचायत चुनाव होने हैं। ऐसे में प्रधान व इसके लिए उम्मीदवार भी अपने चुनाव का माहौल बनाने में जुटे हुए हैं।

पार्टी बंदी के चलते नहीं दिया समर्थन

ऐसे में इन चुनावों से उन्होंने खुद को पीछे खींच लिया। अधिकांश प्रधानों ने गांव में पार्टी बंदी के चलते खुलकर किसी भी प्रत्याशी को समर्थन नहीं दिया। डर था कि अगर वह किसी भी प्रत्याशी का समर्थन करेंगे तो उस प्रत्याशी के विरोधी आगमी चुनावों में उनके हाथों से छिटक सकते हैं। प्रधानों के अलावा संभावित दावेदारों की भी यही हालत रही। उन्हें भी खुद के वोट छिटकने का डर था। ऐसे में उन्होंने भी समर्थन नहीं दिया।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.