पांच मिनट का सफर आधे घंटे में पूरा, दिनभर रेंगते रहे वाहन, जानिए क्‍यों Aligarh news

शहर का हर चौराहा सोमवार को जाम से जूझता रहा।

शहर का हर चौराहा सोमवार को जाम से जूझता रहा। बाजारों में वाहन रेंगने को मजबूर थे। हालात ये थे कि पांच मिनट के रास्ते को तय करने में आधा घंटे का समय लगा। हालांकि यातायात पुलिस के जवान धूप में चौराहों पर डटे रहे।

Publish Date:Mon, 30 Nov 2020 05:02 PM (IST) Author: Anil Kushwaha

अलीगढ़, जेएनएन : शहर का हर चौराहा सोमवार को जाम से जूझता रहा। बाजारों में वाहन रेंगने को मजबूर थे। हालात ये थे कि पांच मिनट के रास्ते को तय करने में आधा घंटे का समय लगा। हालांकि यातायात पुलिस के जवान धूप में चौराहों पर डटे रहे। लेकिन, सोमवार को बड़ा सहालग व एमएलसी चुनाव की प्रक्रिया को लेकर यातायात व्यवस्था चरमरा गई। देर शाम तक यही हालात रहे। 

सहालग के चलते बढ़ी परेशानी

सोमवार को एमएलसी चुनाव को लेकर पोलिंग पार्टियां बसों से रवाना हुई थीं। साथ ही 25 के बाद 30 नवंबर को दूसरा बड़ा सहालग था। ऐसे में बाहर से आने वाले लोगों की संख्या ज्यादा थी। सुबह से ही गांधीपार्क बस स्टैंड व सूतमिल चौराहा स्थित बस स्टैंड पर भारी भीड़ थी। दोपहर में जब धनीपुर मंडी से पोलिंग पार्टियां बसों में रवाना हुई तो पूरे शहर में जाम लग गया। करीब एक बजे आगरा रोड, खिरनी गेट, जयगंज, महावीरगंज, बारहद्वारी, मदार गेट, रामघाट रोड पर वाहनों की कतारें लगी नजर आईं। दुबे के पड़ाव से लेकर छर्रा अड्डा पुल तक लोग जाम में घंटों फंसे रहे। पुलिसकर्मी वाहनों को निकालते नजर आते। लेकिन, कुछ देर में ही वाहनों का दबाव इतना बढ़ जाता कि लंबी लाइन लग जाती। देर शाम समारोहों की शुरुआत हुई तो फिर से शहर जाम से पट गया। हालात ये हो गए पैदल निकलना भी दूभर हो गया। 

 

समय में अंतर के चलते लगता जाम 

चौराहों पर लगी ट्रैफिक लाइटों पर रेड और ग्रीन सिग्नल के समय में अंतर होने की वजह से लोगों को भारी परेशानी होती है। यहां ग्रीन सिग्नल कम समय के लिए होता है, जबकि रेड सिग्नल दोगुने समय का है। ऐसे में वाहनों की निकासी के लिए कम समय बचता है और लंबी कतारें लग जाती हैं।  

 

क्‍या कहा लोगों ने

30 नंवबर की रिश्तेदारी में शादी थी। इसके लिए बाजार में आना-जाना लगा रहा। लेकिन, जाम के चलते पांच मिनट के काम को करने में आधा घंटा तक लग गया। रेलवे रोड पूरा जाम पड़ा था। यहां घंटों लाइन में लगकर लोग निकल सके। इसके लिए सभी कार्यक्रम में देरी भी हुई। ऐसे मौकों पर पुलिस को भारी वाहनों की एंट्री बंद कर देनी चाहिए। 

मनीष तोमर, सरोज नगर 

एक शादी समारोह में शामिल होने के लिए मथुरा जाना था। लेकिन, शहर से निकलने में ही एक घंटे से ज्यादा समय लग गया। खिरनीगेट और आगरा रोड पर भीषण जाम था। रोडवेज बसों व अवैध वाहनों के चलते यातायात व्यवस्था ध्वस्त हो गई थी। जैसे-तैसे लोग जाम से निकले। पुलिस प्रशासन को इस तरफ ध्यान देना चाहिए। 

सोनू सिंह, संगम विहार कालोनी 

इनका कहना है

सहालग को देखते हुए ट्रैफिक पुलिस ने यातायात को लेकर पूरे इंतजाम कर रखे हैं। सुधार लाने के लिए ही शहर में ट्रैफिक लाइटें लगाई गई हैं। हर प्वाइंट पर ट्रैफिककर्मी की ड्यूटी लगी हैं। लगातार ट्रैफिक चलता रहा है। जरूरत पड़ने पर रूट डायवर्ट किया जाएगा। 

सतीश चंद्र, एसपी ट्रैफिक

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.