STF Raided In Aligarh: फारच्यून के नाम पर नकली रिफाइंड बेचने वाली चार फर्मों पर देर रात Agra STF का छापा, एक गिरफ्तार

STF Raided In Aligarhएक और बड़े फर्जीवाड़े का पर्दाफाश हुआ है। रिफाइंड आयल बेचने वाली शहर की चार फर्मों पर एसटीएफ के नेतृत्व में पुलिस व खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने छापा मारकर करीब साढ़े पांच लाख का मिलावटी (नकली) रिफाइंड तेल के सीज कर दिया।

Sandeep Kumar SaxenaFri, 24 Sep 2021 12:03 AM (IST)
आगरा से आई एसटीएफ के नेतृत्व में पुलिस व एफडीए की टीम ने संयुक्त रूप से छापा मारा।

अलीगढ़़, जेएनएन। जहरीली शराब प्रकरण के बाद शहर में गुरुवार को एक और बड़े फर्जीवाड़े का पर्दाफाश हुआ है। रिफाइंड आयल बेचने वाली शहर की चार फर्मों पर एसटीएफ के नेतृत्व में पुलिस व खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने छापा मारकर करीब साढ़े पांच लाख का मिलावटी (नकली) रिफाइंड तेल के सीज कर दिया। रिफाइंड की पैकिंग का सामान भी मिला है। कार्रवाई करीब नौ घंटे चली। ये फर्मे ब्रांडेड कंपनी फारच्यून के नाम का लेबल लगाकर रिफाइंड को बेच रही थीं। चारों फर्मों के सैंपल लिए गए हैं। वहीं पुलिस ने दो अलग-अलग मुकदमे भी दर्ज किए हैं। एक आरोपित को गिरफ्तार किया गया है।

Agra एसटीएफ ने की कार्रवाई

अडानी विलमार कंपनी की ओर से इस फर्जीवाड़े की शिकायत सीएम पोर्टल पर शिकायत की गई थी। इसके बाद एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स) बुधवार को कंपनी के लीगल एडवाइडर गौरव तिवारी के साथ एसटीएफ अलीगढ़ आई। स्थानीय पुलिस के साथ सबसे पहले देहलीगेट क्षेत्र के घुड़ियाबाग इलाके में मोरनी वाला पेंच इलाके में योगेश कुमार गुप्ता की जगन्नाथ ट्रेडर्स पर छापा मारा गया। यहां गोदाम में भारी मात्रा में टिन बरामद किए गए हैं, जिन पर फारच्यून का लेबल लगा था। टीम ने यहां से 15 किलोग्राम के 185 टिन, 480 स्टीकर, 1340 प्लास्टिक के ढक्कन, एक स्टैंपिंग मशीन बरामद की है। आरोपित योगेश को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक, योगेश फारच्यून का स्टीकर लगाकर उसमें नकली रिफाइंड तेल की रीफिलंग करके बेच रहा था। इसके बाद टीम ने बन्नादेवी थाना क्षेत्र के जामाजी वाला पेंच इलाके में मुकुल की गौरव ट्रेडर्स के नाम से फर्म पर छापा मारा, जहां से 37 टीम सीज किए गए। इसी के बगल में प्रवीण वार्ष्णेय की भगवती इटरप्राइसेज से 10, जबकि अमित गोयल की तिरुपति बालाजी ट्रेडिंग कंपनी से 14 बरामद किए गए हैं। पुलिस ने सभी टिन को कब्जे में लेकर सुरक्षित जगह रखवा दिया है। वहीं चारों फर्मों के सैंपल लिए गए हैं। देहलीगेट थाने में योगेश, जबकि बन्नादेवी थाने में तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।।

सेहत से हो रहा था खिलवाड़

आरोपित मिलावटी तेल बनाकर लोगों की सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे थे। यहां मानक के विपरीत तेल बनाया जा रहा था। इसीलिए आगरा से आई टीम ने दिनभर यहां डेरा डाले रखा। कंपनी के अधिकारियों के साथ दोपहर तीन बजे से शुरू हुई यह कार्रवाई रात 12 बजे जारी रही

अलीगढ़ जिले में हमारी कंपनी के उत्पादन की लगातार डिमांड घट रही थी। कंपनी ने इसकी आंतरिक जांच कराई। अलीगढ़ महानगर मेें छह ऐसे कारोबारी चिन्हित किए गए, जिनके यहां हमारी कंपनी के ब्रांड से माल तैयार किया जा रहा था। इसकी शिकायत हमने राज्यस्तरीय प्रशासनिक अफसरों से की। जुटाए गए सबूतों के आधार पर इस संगीन मामले को एसआइटी लखनऊ से जांच व कार्रवाई की सिफारिश की गई। एसआइटी ने चार आरोपितों को दबोच लिया है। इनमें से दो शटर डाउन कर भाग गए। इनको कार्रवाई की सूचना लीक हो गई थी। देर रात तक जांच की जा रही है। मौके से डेढ लाख रुपये का पैकेजिंग मेटेरियल व 18 लाख रुपये का पैकिंग नकली माल बरामद कर लिया है। अभी गिनती जारी है।

- जय चौहान, कंपनी हेड, फारच्यून आयल कंपनी, उत्तर प्रदेश

फारच्यून कंपनी के नाम पर नकली तेल बेचने की सूचना पर आगरा से एसटीएफ की टीम आई थी। इनके साथ कंपनी के अधिकारी भी थे। यहां पुलिस व एफडीए की टीम को साथ लेकर चार जगहों पर छापा मारा गया है। भारी मात्रा में नकली रिफाइंड आयल बरामद हुआ है। इस आधार पर देहलीगेट व बन्नादेवी थाना में दो अलग-अलग मुकदमे दर्ज किए जा रहे हैं। एक युवक को गिरफ्तार कर लिया है।

कुलदीप सिंह गुनावत, एसपी सिटी

प्रथम दृष्टया टिन में पाया गया रिफाइंड आयल मिलावटी प्रतीत हो रहा है। चारों जगह से सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिए गए हैं।

अक्षय प्रधान, मुख्य खाद्या सुरक्षा अधिकारीे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.