अलीगढ़ में दो माह में भी लागू नहीं हुआ एक्सपोर्ट प्लान, जानिए क्‍यों Aligarh news

सात अप्रैल को निर्यात प्रोत्साहन भवन में विभागीय कामकाज की बैठक के दौरान अपर मुख्य सचिव डा.नवनीत सहगल ने निर्देश दिए थे उन्होंने प्रदेश के 60 जिलों का प्लान बनने का दावा भी किया था। जिसमें अलीगढ़ भी शामिल था।

Anil KushwahaSun, 20 Jun 2021 05:41 AM (IST)
निर्यात को बढ़ावा देने के लिए एमएसएमई द्वारा सभी जिलों के लिए एक्सपोर्ट प्लान तैयार कराने के निर्देश दिए गए।

अलीगढ़, जेएनएन ।  प्रदेश से निर्यात को बढ़ावा देने के लिए सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम (एमएसएमई) विभाग द्वारा सभी जिलों के लिए एक्सपोर्ट प्लान तैयार कराने के निर्देश दिए गए। इसके लिए सात अप्रैल को निर्यात प्रोत्साहन भवन में विभागीय कामकाज की बैठक के दौरान अपर मुख्य सचिव डा. नवनीत सहगल ने निर्देश दिए थे, उन्होंने प्रदेश के 60 जिलों का प्लान बनने का दावा भी किया था। जिसमें अलीगढ़ भी शामिल था। बाकी के जिलों में इस प्लान को जल्द बना लेने के निर्देश भी दिए थे। दो माह से अधिक का समय बीत जाने के बाद न तो प्लान का कोई पता है, ना ही इस योजना के तहत निर्यातकों को मिलने वाले लाभ की जानकारी उद्यमियों को है।

खिलौना नीति को भी पर लगाने के निर्देश

अपर मुख्य सचिव ने प्रस्तावित खिलौना नीति को भी पर लगाने के निर्देश दिए थे, अलीगढ़ में बच्चों की ट्वाइज गन बड़े स्तर पर बनती है। इस कारोबार को भी पर नहीं लगे हैं। जिले में पारंपरिक ताला-हार्डवेयर कारोबार को बढ़ावा देने के लिए एक जिला एक उत्पाद में चयनित किया गया था। मगर कोरोना संकट के चलते इस साल इस योजना का लाभ लेने के लिए उद्यमी कम रूची दिखा रहे हैं। विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना व प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम आदि स्वरोजगारपरक योजनाओं के तहत बैंकों में जितने भी आवेदन लंबित हैं, उनका मौजूदा वित्तीय वर्ष में निस्तारण करने के समय समय पर निर्देश तो दिए जाते हैं। मगर आवेदनकर्ताओं को बार बार परिक्रमा लगवाने के बाद भी लाभ नहीं मिल पाता। बेरोजगार युवक अतुल कुमार का कहना है कि पिछले साल आवेदन किया था, बैंकों के चक्कर लगाने के बाद भी लाभ नहीं मिला। उन्होंने राज्यस्तरीय बैंकर्स समिति को पत्र भी भेजा था। पर रेसपोंस आज तक नहीं मिला। गुड गर्वनेंस के नाम पर अफसर सरकार को धोखा दे रहे हैं।

सरकार का एक्‍सपोर्ट प्‍लान कोई समझ नहीं पाया

निर्यातक एसोसिएशन के महामंत्री दिनेश चंद्र वाष्र्णेय का कहना है कि सरकार का एक्सपोर्ट प्लान क्या है, वे आज तक नहीं समझ पा रहे हैं। अलीगढ़ के 200 निर्यातक 2500 करोड़ से अधिक का माल एक्सपोर्ट करते हैं। अलीगढ़ दुनियाभर के बाजारों से विदेशी मुद्रा अर्जित करता है, फिर भी अपने देश में बेगाना से बना हुआ है। एक्सपोर्टर्स की तमाम समस्याएं है। उनका निस्तारण नहीं हो रहा है। एक्सपोर्ट प्लान लागू करने की जानकारी नहीं है। यह अभी तक लागू नहीं हुआ है। उपायुक्त उद्योग श्रीनाथ पासवान ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के चलते भी सरकारी कामकाज प्रभावित हुए हैं। अब इस पर काम शुरू होगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.