केंद्रीय श्रम मंत्री रहते बाबा साहब आए थे एएमयू, रखी थी पालीटेक्‍निक इमारत की आधारशिला

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से डा. बीआर आंबेडकर का गहरा नाता रहा है। वह कई बार एएमयू आए थे। उन्होंने केंद्रीय श्रम मंत्री के रूप में यूनिवर्सिटी पालीटेक्निक की इमारत की आधारशिला रखी थी। एएमयू में डा. बीआर आंबेडकर के नाम पर हाल है।

Anil KushwahaMon, 06 Dec 2021 06:32 AM (IST)
अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से डा. बीआर आंबेडकर का गहरा नाता रहा है।

अलीगढ़, जागरण संवाददाता। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से डा. बीआर आंबेडकर का गहरा नाता रहा है। वह कई बार एएमयू आए थे। उन्होंने केंद्रीय श्रम मंत्री के रूप में यूनिवर्सिटी पालीटेक्निक की इमारत की आधारशिला रखी थी। एएमयू में डा. बीआर आंबेडकर के नाम पर हाल है।

24 अगस्‍त 1942 को हुई थी वाद विवाद प्रतियोगिता

एएमयू के पूर्व पीआरओ डा. राहत अबरार ने बताया कि एएमयू छात्र संघ की ओर से 24 अगस्त 1942 एक वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। इसमें डा. आंबेडकर को जज के रूप में शामिल हुए थे। उस समय सर रास मसूद कुलपति थे। डा. आंबेडकर ने छात्रों को अंग्रेजी में दक्ष होने का पाठ पढ़ाया था। छात्रों को अंग्रेजी भाषा बोलने और आपस में परिचर्चा करने का सुझाव दिया था। दूसरे बार डा. आंबेडकर वर्ष 1934 में एएमयू आए। तब वह केंद्रीय श्रम मंत्री थे। तब उन्होंने यूनिवर्सिटी पालीटेक्निक की इमारत की आधारशिला रखी थी। केंद्रीय श्रम मंत्रालय ने उक्त इमारत के लिए आर्थिक सहायता भी उपलब्ध कराई थी। एएमयू में डा. आंबेडकर के नाम से बरौली बाईपास रोड पर हाल है। आंबेडकर चेयर की भी स्थापना की गई। डा. आंबेडकर जब लंदन में आयोजित गोलमेल कांफ्रेंस में शामिल हुए तब मौलाना मुहम्मद अली, शौकत अली, नवाब अहमद सईद खां आफ छतारी आदि से मुलाकात हुई थी।

 छह दिसंबर को लेकर पुलिस सतर्क, सेक्टर स्कीम लागू

अलीगढ़: आज छह दिसंबर को लेकर शहर में पुलिस ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं। शहर में धारा 144 लागू है और सेक्टर स्कीम भी लागू कर दी गई है। सिविल लाइंस इलाके में रविवार को पैदल फ्लैग मार्च निकाला गया। एसपी सिटी कुलदीप सिंह गुनावत ने बताया कि छह दिसंबर को लेकर शांति एवं कानून व्यवस्था को लेकर चौकस सुरक्षा व्यवस्था की गई है। इसके लिए सेक्टर स्कीम लागू कर उसे नौ सेक्टरों में बांटकर मजिस्ट्रेट व पुलिस अफसरों की ड्यूटी निर्धारित की गई है। अतिरिक्त फोर्स के रूप में आरएएफ व पीएसी को अलग-अलग स्थानों पर तैनात किया गया है। मिश्रित आबादी वाले क्षेत्रों में संबंधित सीओ व थानेदारों को गस्त करने को निर्देशित किया गया है। उन्होंने बताया कि शहर के सिविल लाइन इलाके के अलावा पुराने शहर में पुलिस स्तर से फ्लैग मार्च किया गया है। उन्होंने शहरवासियों से शांति व्यवस्था बनाए रखने के साथ अफवाह फैलाने वालों से सावधान रहने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि किसी तरह की गड़बड़ी करने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.