Public awareness campaign : घर के आंगन में पल रहा डेंगू -मलेरिया, जानें पूरा मामला Aligarh news

इन दिनों स्वास्थ्य विभाग की टीमें घर-घऱ पहुंचकर लोगों को न केवल लोगों को मच्छर जनित बीमारी-डेंगू मलेरिया व चिकनगुनिया के प्रति लोगों को जागरूक कर रही हैं। बल्कि घर-घर में जाकर कूलर गमले पक्षियों के दाने का बर्तन पुराने टायर व अन्य पात्रों को चेक कर रही हैं।

Anil KushwahaSun, 19 Sep 2021 05:15 PM (IST)
स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की टीम डेंगू की रोकथाम के लिए घर घर जाकर लोगों को जागरूक कर रहे हैं।

अलीगढ़, जागरण संवाददाता । जिले में इन दिनों स्वास्थ्य विभाग की टीमें घर-घऱ पहुंचकर लोगों को न केवल लोगों को मच्छर जनित बीमारी-डेंगू, मलेरिया व चिकन गुनिया के प्रति लोगों को जागरूक कर रही हैं। बल्कि, घर-घर में जाकर कूलर, गमले, पक्षियों के दाने का बर्तन, पुराने टायर व अन्य पात्रों को चेक कर रही हैं। दरअसल, इनमें इकट्ठा हुए पानी के अंदर टीमों को लगातार मच्छर का लार्वा मिल रहा है। इन पात्रों का पानी टीमें तुरंत खाली करा रही हैं। लोगों को घर के आंगन में पल रहे डेंगू और मलेरिया से बचाव के लिए सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं।

अब तक 54 मरीजों की पुष्टि

जिले में मलेरिया के साथ डेंगू रेगियों की संख्या निरंतर बढ़ती जा रही है। शनिवार को तीन नए मरीज मिले। डीएम सेल्वा कुमारी जे के निर्देश व सीएमओ के नेतृत्व में जनपद में डेंगू नियंत्रण अभियान चलाया जा रहा है। जिला मलेरिया अधिकारी डा राहुल कुलश्रेष्ठ ने बताया कि नगरीय क्षेत्र में आठ व ग्रामीण क्षेत्रों में 13 टीमों द्वारा सोर्स रिडक्शन की कार्रवाई की जा रही है। सनिवार को नगरीय क्षेत्र में ड़ेंगू धनात्मक मरीजों के क्षेत्रों जवाहर नगर, मंडी गेट, रामबाग कालोनी, एटा चुंगी, ग्रामीण क्षेत्र में कुंवर नगर, पीएसी 38 बटालियन में अभियान चलाकर निरोधात्मक कार्रवाई की गई। इस दौरान 841 घरों का भ्रमण किया गया। 587 कूलर, 865 कंटेनर व अन्य पात्रों को चेक किया गया। 30 पात्र धनात्मक पाए गए। जिन्हें टीमों ने अपनी उपस्थिति में खाली करा दिया गया। गत वर्ष पाए गए डेंगू धनात्मक रोगियों के क्षेत्र में भी कार्रवाई की जा रही है। क्षेत्र में लारवा रोधी दवा, pyrethrum का छिड़काव करते हुए जन जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है।

क्या करें क्या ना करें

- अपने आसपास पानी इकट्ठा ना होने देने - इकट्ठे पानी में जला हुआ मोबिल आयल डालें - मच्छरदानी में सोएं - कूड़े-कचरे का निस्तारण करें - पूरी आस्तीन के कपड़ें पहनें - अब कूलर को उठाकर रख दें - फ्रिज की ट्रे से पानी को खाली करते रहें - बुखार होने पर पैरासिटामोल के अलावा खुद से कोई दवा न लें

इनका कहना है

लोगों से अपील है कि मच्छरों से बचाव के लिए हर प्रभावी कदम उठाएं। विभागीय टीमें भी अपना काम कर रही हैं, लेकिन बीमारियों की रोकथाम के लिए जनजागरूकता सबसे ज्यादा जरूरी है।

- डा. आनंद उपाध्याय, सीएमओ

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.