top menutop menutop menu

लापरवाही से बढ़ रहे संक्रमित, आधे से ज्यादा सही Aligarh news

अलीगढ़, [विनोद भारती]। कोरोना से जंग में लापरवाही भारी पड़ सकती है। अनलॉक होते ही अलीगढ़ के बाजार क्या खुले, मास्क और शारीरिक दूरी के नियम की अनदेखी भी शुरू हो गई। परिणाम सामने हैं। संक्रमित मरीजों की संख्या निरंतर बढ़ती जा रही है। यह संख्या साढ़े चार सौ के आंकड़े से अधिक दूर नहीं। हालांकि, सही होने वाले मरीजों की संख्या भी कम नहीं। आधे से अधिक सही हो चुके हैं। पर, पूरी तरह रोकथाम नियमों को मानने से संभव है। यह दौर बदली हुई आदतों के साथ जीने का है। यदि अब भी नहीं संभले, तो निकट भविष्य में यहां सरकार को पुन: सख्ती बरतनी पड़ेगी। जिले के हाल पर प्रस्तुत है विनोद भारती की रिपोर्ट...

 जिले का हाल

- 446 हो चुकी है अब संक्रमितों की संख्या

-161 सक्रिय मरीज हैं जिले में

-242 मरीज हो चुके हैं स्वस्थ अब तक

-24 मरीजों की हो चुकी है मौत

तब और अब

-68 दिन लॉकडाउन रहा

-160 संक्रमित मरीज पाए गए थे लॉकडाउन में

-26 दिनों के अनलॉक में यह संख्या दोगुनी हो गई।

लॉकडाउन में कोरोनो संक्रमण

-25 मार्च से 14 अप्रैल रहा पहला लॉकडाउन, मात्र एक मरीज मिला

-15 अप्रैल से तीन मई तक दूसरा लॉकडाउन, इसमें संक्रमितों की संख्या 43 हुई

- 20 अप्रैल को कोरोना से पहली मृत्यु भी हुई।

-04 से 17 मई तक तीसरे लॉकडाउन में मरीजों की संख्या 85 हो गई। आठ की मौत हुई।

-18 मई से दो जून तक चौथे लॉकडाउन में संक्रमित मरीजों की संख्या 166 हुई, 16 मरीजों की मौत हुई।

वायरस के लक्षण

-खांसी, बुखार, थकान, सांस लेने में तकलीफ, कफ, मांसपेशी व सिर में दर्द, स्वाद-गंध की पहचान न होना, गले में खरास, चेहरा या होठ नीला पडऩा।

ऐसे करें बचाव

- शारीरिक दूरी का करें पालन

-हाथ साफ न होने पर आंख, नाक व मुंह को न छुएं।

- बीमार होने पर खुद को घर के अन्य सदस्यों से अलग कर दें।

- नियमित रूप से अल्कोहल युक्त सैनिटाइजर या साबुन से 20 सेकंड हाथ जरूर धोएं।

- घर से बाहर निकलें तो मुंह पर मास्क, रूमाल या अन्य कपड़ा जरूर लगाएं।

- खांसने-छींकने पर डिस्पोजल टिश्यू पेपर या कोहनी को मोड़कर नाक व मुंह को ढकें।

- भीड़भाड़ वाली जगह पर खरीददारी करने न जाएं।

संक्रमित होने का शक हो तो...

- खुद से कोई दवा न खाएं।

-- खुद को अलग कमरें मेें क्वारंटाइन कर लें, दूसरे सदस्यों से दूर रहें।

- मास्क व ग्लव्स पहन लें।

- नजदीकी स्वास्थ्य इकाई के कर्मचारी या कंट्रोल रूम को मोबाइल पर सूचना दें।

- स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा बताए गए निर्देशों का पालन करें।

जिले में बेडों की व्यवस्था

सीएचसी हरदु्रआगंज-30

अतरौली 100 बेड अस्पताल-100

मेडिकल कॉलेज-52

दीनदयाल अस्पताल-100

जीवन ज्योति हॉस्पिटल-300

महलवार अतरौली-400

साईं आयुर्वेदिक हॉस्पिटल-225

विजन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी-200

लापरवाही न करें

सीएमओ डॉ. बीपीएस कल्याणी का कहना है कि कोरोना के साथ जीने का मतलब लापरवाह हो जाना नहीं है। सभी लोग शारीरिक दूरी का पालन करें। जरूरत होने पर ही बाहर जाएं। मास्क व ग्लव्स का इस्तेमाल करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.