Corona Vaccination in Aligarh : आया नया आदेश, हर निजी अस्पताल में नहीं होगा corona टीकाकरण

सरकारी अस्पतालों में टीकाकरण के लिए ज्यादा से ज्यादा बूथ लगाए जाएंगे।

निजी अस्पतालों में भी सशर्त टीकाकरण की सुविधा दिए जाने के दिशा-निर्देश पूर्व में जारी हुई थे लेकिन मंगलवार को नया आदेश जारी हो गया जिसमें कहा गया कि सरकारी अस्पतालों में टीकाकरण के लिए ज्यादा से ज्यादा बूथ लगाए जाएंगे।

Sandeep kumar SaxenaWed, 03 Mar 2021 10:34 AM (IST)

अलीगढ़, जेएनएन। तीसरे चरण के अंतर्गत सरकारी अस्पतालों के साथ निजी अस्पतालों में भी सशर्त टीकाकरण की सुविधा दिए जाने के दिशा-निर्देश पूर्व में जारी हुई थे, लेकिन मंगलवार को नया आदेश जारी हो गया, जिसमें कहा गया कि  सरकारी अस्पतालों में टीकाकरण के लिए ज्यादा से ज्यादा बूथ लगाए जाएंगे। हर निजी अस्पताल में कोरोना का टीकाकरण नहीं होगा। केवल उन्हें  निजी अस्पताल संचालकों को टीका लगाने की सुविधा दी जाएगी, जो आयुष्मान योजना के पैनल में शामिल है या फिर सेंट्रल गवर्नमेंट आफ हेल्थ सर्विसेस (सीजीएचएस) से स्वीकृत हो। अलीगढ़ में सीजीएचएस से स्वीकृत कोई अस्पताल नहीं। 

120 डोज प्रतिदिन लगाईं जाएंगी

स्वास्थ्य विभाग ने तीसरे चरण के टीकाकरण की तैयारियां शुरू कर दी हैं। अभी तक केवल दो ही निजी अस्पतालों (मैक्स फोर्ट व वरुण ट्रामा) में ही टीके की पहली डोज लगाई गई है। नए आदेश के बाद अब इन दोनों अस्पतालों में द्वितीय डोज भी नहीं लगेगी। इसके लिए दीनदयाल में सत्र आयोजित करने पर विचार किया जा रहा है। सरकारी में जिला अस्पताल को छोड़कर अन्य सरकारी अस्पतालों में तीन दिन (सोमवार, गुरुवार व शुक्रवार) टीका लगेगा। वहीं, दीनदयाल, महिला अस्पताल व अतरौली सीएचसी में सभी छह दिन टीकाकरण होगा। दीनदयाल अस्पताल व महिला अस्पताल में 100-100 डोज व अतरौली में 120 डोज प्रतिदिन लगाईं जाएंगी। 

मेडिकल में भी अब ज्यादा सत्र नहीं 

पहले व दूसरे चरण में सात-सात बूथ लगाए जाने के बावजूद मेडिकल कालेज में टीकाकरण की स्थिति काफी खराब रही। तीसरे चरण के पहले दिन भी मात्र चार बुजुर्गों को टीके लग पाए। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग ने निर्णय लिया है कि अब मेडिकल कालेज में ज्यादा बूथ नहीं लगाए जाएंगे। बल्कि, एक या दो बूथ से ही काम चलाया जाएगा। यदि टीकाकरण ने गति पकड़ी तो ही बूथ बढ़ाए जाएंगे। 

दो तरह से होगा रजिस्ट्रेशन

स्वास्थ्य विभाग ने बुधवार को आपन रजिस्ट्रेशन (आनलाइन) व वाक इन रजिस्ट्रेशन (टीकाकरण केंद्र पर)  की अनुमति दी है। अर्बन में 60 फीसद आनलाइन व 40 फीसद वाक इन रजिस्ट्रेशन की अनुमति होगी। ग्रामीण क्षेत्र में यह औसत 50-50 फीसद होगा। आनलाइन रजिस्ट्रेशन कराकर टीका कराने पहुंचे लोगों को पहले मौका (नौ से 11 बजे) मिलेगा। अन्य लोगों को उसके बाद टीके लगेंगे। 

नेटवर्क नहीं बनेगा बाधा

ग्रामीण क्षेत्रों में नेटवर्क की समस्या रहती है। टीकाकरण के दौरान नेटवर्क कोई बाधा नहीं बनेगा। लाभार्थी के पहुंचने पर यदि नेटवर्क नहीं भी हुआ तो कर्मचारी उसे लौटाएंगे नहीं, बल्कि उसका विवरण लेकर टीका लगा देंगे। विवरण को बाद में दर्ज कर दिया जाएगा। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.