दुश्मन पर टूट पड़ने की नीति से आगे बढ़ते थे बिपिन रावत, सीडीएस के साथ काम कर चुके कर्नल जगरूप सिंह हुए भावुक

सीडीएस बिपिन रावत मुझसे डेढ़ साल सीनियर थे। मैं 79 बैच का था और वो 78 बैच के। हम दोनों कारगिल युद्ध में साथ थे लेकिन टुकड़ी अलग-अलग थीं। उनकी बहादुरी को मैंने कारगिल युद्ध में ही देख लिया था। दुश्मन पर वह टूट पड़ने वाली नीति से बढ़ते थे।

Anil KushwahaPublish:Thu, 09 Dec 2021 11:03 AM (IST) Updated:Thu, 09 Dec 2021 11:03 AM (IST)
दुश्मन पर टूट पड़ने की नीति से आगे बढ़ते थे बिपिन रावत, सीडीएस के साथ काम कर चुके कर्नल जगरूप सिंह हुए भावुक
दुश्मन पर टूट पड़ने की नीति से आगे बढ़ते थे बिपिन रावत, सीडीएस के साथ काम कर चुके कर्नल जगरूप सिंह हुए भावुक

अलीगढ़, जागरण संवाददाता। सीडीएस बिपिन रावत मुझसे डेढ़ साल सीनियर थे। मैं 79 बैच का था और वो 78 बैच के। हम दोनों कारगिल युद्ध में साथ थे, लेकिन टुकड़ी अलग-अलग थीं। उनकी बहादुरी को मैंने कारगिल युद्ध में ही देख लिया था। दुश्मन पर वह टूट पड़ने वाली नीति से बढ़ते थे। अपने जूनियर का हमेशा साथ देते थे। सच्चाई के लिए लड़ जाते थे। अगर किसी काम के बारे में एक बार ठान लिया तो उसे पूरा करके ही रुकते थे। बहादुर जवान के साथ बहुत बुद्धिमान थे। 1996 में मैं कुपवाड़ा, कश्मीर में और बिपिन जी श्रीनगर में थे। कई बार हमारे कैंप में आए। कैंप में वह सैनिकों में जोश भरते थे, कहते थे पाकिस्तानियों को छोड़ना नहीं है। हमारा एक जवान दो-दो दुश्मनों को बगल में दबाकर लाने की क्षमता रखता है।

पुरानी यादों को ताजा कर भावुक हो गए जगरूप सिंह

सीडीएस बिपिन रावत के साथ सेना में काम कर चुके सेवानिवृत्त कर्नल जगरूप सिंह उनके निधन से व्यथित हैं। पुरानी बातों को याद करते भावुक हो गए। बोले, सीडीएस की कमी को पूरा नहीं किया जा सकता। हादसा क्यों हुआ ये तो जांच में ही पता चल सकेगा। लेकिन इस तरह के आदेश तकनीकि खराब के कारण होते हैं। उनके निधन से शोक की लहर दौड़ गई है। इंटरनेट मीडिया पर भी शोक जताने वालों का तांता लगा हुआ है।

इनका कहना है

1985 में मेरी मुलाकात जनरल रावत से पठान कोट एयर बेस पर हुई थी। सेना की ओर से आयाेजित कार्यक्रम में मैं शामिल हुआ था। तब जनरल रावत मेजर थे। बहादुरी के लिए जाने जाते थे। जो हेलीकाप्टर दुर्घाटना ग्रस्त हुआ है वो सेना का सबसे विश्वसनीय है।

- वीके गुप्ता, सेवा निवृत्त फ्लाइट इंजीनियर

देश के सर्वश्रेष्ठ महायोद्धा जनरल विपिन रावत का उदय 11 गोरखा रायफल में हुआ। सेना के सर्वोच्च पद पर रहकर म्यामांर सर्जिकल स्ट्राइक और पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक को कामयाबी दिलाकर देश का मान बढ़ाया। उनकी क्षति देश के लिए असहनीय है।

सेवानिवृत्त कैप्टन आसीन खां

सीडीएस बिपन रावत ने सेना को मजबूत करने का काम किया। उन्होंने सबसे अधिक सेना को आधुनिक उपकरण दिलाने पर जोर दिया। उनका निधन देश के लिए बड़ी क्षति है।

-सेवानिवृत्त सूबेदार मेजर खजान शर्मा

जनरल रावत अनुकरणीय वीरता के साथ ही रणनीतिक योजना और इस के क्रियान्वयन में अजेय अंतर्दृष्टि के प्रतीक थे। सशस्त्र बलों के लिए उनकी लंबी समर्पित और निस्वार्थ सेवा को हमेशा याद किया जाएगा। अलीगढ़ बिरादरी भारत के इस वीर सपूत की दुर्भाग्यपूर्ण मौत के शोक में देश के साथ है।

- प्रो. तारिक मंसूर, कुलपति एएमयू

सीडीएस रावत के निधन से हर कोई दुखी, जताया शोक

अलीगढ़ । तमिलनाडु के कुन्नूर में हेलीकाप्टर दुर्घटना में जाने गंवाने वाले सीडीएस बिपन रावत के निधन से हर कोई दुखी है। राजनैतिक व समाजिक संगठनों के लोगों ने दुख जताया है। एमएलसी ठा. जयवीर सिंह ने शोक संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि विपिन रावत एक उत्कृष्ट सैन्य अधिकारी थे। जिन्हें अनेकों पुरस्कारों से सम्मानित किया गया उनका असामयिक निधन राष्ट्र की एक बड़ी क्षति है। पूर्व सांसद चौधरी बिजेंद्र सिंह ने कहा है कि यह दुर्घटना हमारे देश की सुरक्षा में लगे अत्याधुनिक मशीनरी के लिए एक तकनीकी के रूप में चुनौती भी है। सरकार इसकी उच्च स्तरीय जांच कराए।

देश ने एक असाधारण व्‍यक्‍ति को खो दिया

हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी पूर्व विधायक विवेक बंसल ने कहा कि जनरल रावत कर्मठ और कुशल प्रशसक थे। कई सुरक्षा आपरेशनों में अपनी सूझ-बूझ का परिचय दिया। कांग्रेस की पूर्व प्रदेश महासचिव रूही जुबैरी, पीसीसी सदस्य सागर सिंह तोमर, जिला उपाध्यक्ष सागर सिंह तोमर, यूथ कांग्रेस के नेता आनंद बघेल, ठा. शेरपाल सिंह सविता, ब्रजराज राना आदि ने भी निधन पर शोक व्यक्त किया। शिक्षाविद एवं राष्ट्रवादी विचारक डा. वीपी पाण्डेय ने कहा है कि जनरल रावत देश की सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण व्यक्ति थे। उनको सैन्य आपरेशन का जनरल माना जाता था। कांग्रेस नेता सलमान इम्तियाज ने कहा है कि देश ने एक असाधारण व्यक्तित्व को खोया है। प्रतिष्ठा आइएएस एकेडमी के डायरेक्टर और प्रतिष्ठा हेल्पलाइन के चेयरमैन डीआर यादव ने कहा है कि देश ने सेना का योग्य अधिकारी खो दिया। ब्रज उद्योग व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष एवं भाजपा नेता सौरभ अग्रवाल सिक्स संस ने कहा है कि देश की जनता जनरल रावत को देश सेवा में उनके द्वारा किए गए कार्य को कभी भूल नहीं पाएगी। सपा जिलाध्यक्ष गिरीश यादव की अगुवाई में कैंप कार्यालय कार्यकर्ताओं ने मोमबत्ती जलाकर दिवंगत आत्माओं की शांति के लिए प्रार्थना की। इस अवसर पर राकेश यादव, सर्वेश शर्मा, अनिल चौधरी, ललित मोहन, अशोक रावत, विकास यादव, आरती सिंह, नीरज यादव, सोनू शर्मा, विजय, सत्यपाल शर्मा, उमेश यादव आदि थे। अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा की रामबाग कालोनी स्थित मंडल कार्यालय पर बुधवार को शोकसभा हुई। महासभा ने इस हादसे की सीबीआइ जांच की मांग की है। प्रदेश उपाध्यक्ष डा. राजेश सिंह चौहान ने कहा कि समाज ने एक ऐसा रत्न खोया है, जिसकी कभी भरपाई नहीं होगी। मंडल अध्यक्ष दलबीर सिंह, जिला अध्यक्ष विवेक चौहान, अध्यक्ष राहुल सिंह, मंडल अध्यक्ष युवा राहुल चौहान भी मौजूद रहे।

17 दिन पहले ही हुई थी मुलाकात, कभी पूरी नहीं होगी क्षति

एंबीशन फ्लाइंग क्लब के डायरेक्टर विशाल गर्ग (बीडीके) ने बताया कि 17 दिन पहले ही 21 नवंबर को दिल्ली में आयोजित एक विवाह समारोह में सीडीएस विपिन रावत व उनकी पत्नी मधुलिका रावत से मुलाकात हुई थी। मैंने विपिन रावत को धनीपुर एयरपोर्ट पर संचालित फ्लाइंग क्लब के बारे में जानकारी दी थी। वे बहुत खुश हुए थे।