सीएम योगी की जनप्रतिनिधियों के साथ अहम होगी मुलाकात, कर सकते हैं शिकायतAligarh News

प्रशासनिक से लेकर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी फोन नहीं उठाते रहे हैं।

प्रशासनिक से लेकर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी फोन नहीं उठाते रहे हैं। दीनदयाल अस्पताल में लापरवाही बरते जाने के चलते कई मरीजों की मौत हो गई। वहीं जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव को लेकर भी सीएम नब्ज टटोल सकते हैं।

Sandeep Kumar SaxenaThu, 13 May 2021 09:55 AM (IST)

अलीगढ़, जेएनएन। सीएम योगी आदित्यनाथ की जनप्रतिनिधियों के साथ मुलाकात अहम होगी। चर्चा है कि जनप्रतिनिधि स्वास्थ्य विभाग में अव्यवस्थाओं को लेकर शिकायत कर सकते हैं। कोरोना के समय तमाम भाजपा नेताओं की शिकायत रही है कि प्रशासनिक से लेकर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी फोन नहीं उठाते रहे हैं।  दीनदयाल अस्पताल में लापरवाही बरते जाने के चलते कई मरीजों की मौत हो गई। वहीं, जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव को लेकर भी सीएम नब्ज टटोल सकते हैं।  भाजपा के सभी जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित किया गया है।  सूबे के वित्त राज्यमंत्री संदीप सिंह भी होंगे। वहीं, एटा सांसद राजवीर सिंह राजू भैया, सांसद सतीश कुमार गौतम, हाथरस सांसद राजवीर दिलेर आदि हो सकते हैं। 

कार्रवाई न होने का उठ सकता है मुद्दा 

भले ही प्रशासन कासिमपुर स्थित गैंस प्लांट की जांच पूरी करा चुका हो और जांच रिपोर्ट भी सौंपी जा चुकी हो। जिसमें यह बताया जा रहा है कि एक लिपिक और दो बिचौलियों की गलती है। इसके बावजूद अभी तक कार्रवाई न होना सवाल उठता है। रिपोर्ट के बाद कार्रवाई क्यों नहीं हुई इस मामले की सीएम से शिकायत हो सकती है। 

वैक्सीनेशन पर पहले क्यों नहीं दिया जोर

भाजपा के पूर्व प्रवक्ता डा. निशित शर्मा ने कहा कि वह सीएम से एएमयू में प्रोफेसरों की मौत के मामले में शिकायत करेंगे। कुलपति अब वैक्सीनेशन पर जोर दे रहे हैं। इससे पहले उन्होंने वक्सीनेशन पर क्यों जोर नहीं दिया?

कांग्रेसी सीएम को दिखाएंगे काले झंडे

अलीगढ़ : सीएम के कार्यक्रम की भनक लगते ही कांग्रेस ने विरोध जताने का फैसला लिया है। बुधवार को पार्टी के जिला अध्यक्ष चौ. सुरेंद्र सिंह, महानगर अध्यक्ष परवेज अहमद, युवक कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष गौरांग देव चौहान व प्रदेश महासचिव जियाउर्रहमान ने सूबे के मुखिया का विरोध करते हुए काले झंडे दिखाने का एलान किया है। इन नेताओं ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर चल रही है। योगी सरकार अमजन को मूलभूत स्वस्थ्य सेवाएं देने में बिफल साबित हुई है। आक्सीजन मिल नहीं रही। इसके अभाव में तमाम संक्रमित मरीजों ने तड़फ तड़फ कर दम तोड़ दिया। सरकारी अस्पतालों में बैड नहीं हैं। निजी हास्पिटल व नर्सिंग होम स्वस्थ्य सेवाओं के नाम पर लूट मचा रहे हैं। कांग्रेस के पूर्व प्रदेश सचिव मनोज सक्सेना ने कहा कि सीएम स्वस्थ्य सेवाएं देखने के लिए आ रहे हैं। प्रशासन इन्हें अंधेरे में रखेगा। बेहतर हो कि सभी विपक्षी दलों के एक प्रतिनिधि मंडल से भी बात करें।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.