औद्योगिक क्षेत्र को विकसित करने के लिए केंद्र सरकार देगी बजट, चमकेगी तालानगरी

ताला व हार्ड वेयर के लिए मशहूर है अलीगढ़
Publish Date:Wed, 21 Oct 2020 01:46 PM (IST) Author: Mukesh Chaturvedi

जेएनएन, अलीगढ़ । केंद्रीय सूक्ष्म, लघु, मध्यम उद्योग मंत्रालय ने रामघाट रोड स्थित तालानगरी औद्योगिक आस्थान को इंडस्ट्रियल पार्क रेटिंग सिस्टम (आइपीआरएस) के लिए चयनित किया है। इसमें बेहतर इन्फ्रास्ट्रक्चर पर जोर दिया जाएगा। इस रेटिंग के तहत टॉप टेन की सूचा में शामिल होने पर विशेष पैकेज दिए जाएंगे। अतिरिक्त फंड मिलने से ताला-हार्डवेयर के निर्माता व निर्यातकों को संसाधन उपलब्ध कराए जाएंगे।

कल्याण सिंह ने विकसित कराई थी ताला नगरी 

मुख्यमंत्री रहे कल्याण सिंह ने ताला-हार्डवेयर कारोबार को विकसित करने के लिए  28 साल पहले ताला नगरी को विकसित किया था। व्यावसायिक क्षेत्र के लिए सेक्टर वन व सेक्टर टू बनाए गए। जहां करीब 1400 प्लॉट 200 से पांच हजार वर्ग मीटर के आवंटित किए गए। आवासीय क्षेत्र के लिए अलग सेक्टर बनाया गया। यहां दो सोसाइटी की जमीन भी है। एजुकेशन लैंड भी है। व्यावसायिक क्षेत्र के आवंटित आधे प्लॉटों पर भी निर्माण नहीं हुआ है। इसके मूल में उद्यमियों को मूलभूत सुविधा व इन्फ्रास्ट्रक्चर का न होना बताया गया है। 

दस करोड़ से होंगे काम  

19 अक्टूबर उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक प्राधिकरण के सीईओ मयूर माहेश्वरी साइट अवलोकन के लिए आए थे, ताकि डीपीआर (डिटेल्ड प्रोजेक्ट रिपोर्ट)  तैयार करा सकें। सूत्रों ने बताया है कि सरकार 10 करोड़ रुपये से ताला नगरी को विकसित करेगी। जिसमें स्ट्रीट लाइट,  रोड डी मार्केश, तालानगरी के रामघाट रोड को ङ्क्षलक करने वाले सभी 13 रोड पर गेट,  ट्रैफिक सिग्नल, सीसीटीवी कैमरों का जाल, चारदीवारी आदि शामिल है। 

तेज विकसित होने वाला होगा औद्योगिक क्षेत्र 

एनसीआर का दायरा बढऩे के मद्देनजर अलीगढ़ केंद्र सरकार की प्राथमिकताओं में है। आइपीआरएस के सबसे पहले मानक एक ही क्लस्टर की डवलपमेंट स्कीम में एक ही उत्पादन की 30 यूनिटों की अनिवार्यता में ताला हार्डवेयर खरा उतरा। 

आवंटित प्लॉटों को न बनाने वाले निशाने पर 

एमडी ने कहा था कि योगी सरकार ने भूखंड आवंटन प्रक्रिया में कुछ बदलाव  किए हैं। जिन लोगों ने भूखंडों पर फैक्ट्री नहीं बनाई है, ऐसे आवंटी निशाने पर होंगे। जिन लोगों ने फर्जीवाड़ा कर भूखंड पर भवन व अन्य निर्माण दर्शाकर फैक्ट्री का संचालन दिखाया है, उनके प्लॉट भी कैंसिल होंगे। उद्योगपति धनजीत वाड्रा ने बताया कि  डिफेंस कॉरिडोर के साथ  तालानगरी की सुन ही ली। प्रधानमंत्री मोदी की प्राथमिकताओं में तालानगरी के शुमार होने से यह और भी अधिक विकसित होगी। लघु उद्योग भारती के जिला महामंत्री नीरज अग्रवाल का कहना है कि आइपीआरएस में शामिल होने पर तालानगरी चमकेगी। इससे उद्योग विकसित होंगे। सुविधाओं के अभाव में जो फैक्ट्रियां स्थापित नहीं हुई, वह भी जल्द ही विकसित होंगी। 

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.