Ayushman Yojana : अलीगढ़ में केंद्र संचालक नहीं बना रहे गोल्डन कार्ड, कैसे मिले मुफ्त इलाज

ग्रामीण क्षेत्रों में तो गोल्डन कार्ड बनाने का कार्य जैसे ठप पड़ा हुआ है। इसमें विभागीय उदासीनता के साथ जन सेवा केंद्र के संचालकों की मनमानी भी सामने आ रही हो जो मुफ्त गोल्डन कार्ड बनाने के लिए अधिकृत किए गए हैं।

Anil KushwahaSun, 28 Nov 2021 11:31 AM (IST)
आयुष्मान गोल्डन कार्ड बनाने की धीमी गति पर शासन और प्रशासन की ओर से लगातार नाराजगी जताई जा रही है।

अलीगढ़, जागरण संवाददाता। आयुष्मान गोल्डन कार्ड बनाने की धीमी गति पर शासन और प्रशासन की ओर से लगातार नाराजगी जताई जा रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में तो गोल्डन कार्ड बनाने का कार्य जैसे ठप पड़ा हुआ है। इसमें विभागीय उदासीनता के साथ जन सेवा केंद्र के संचालकों की मनमानी भी सामने आ रही हो, जो मुफ्त गोल्डन कार्ड बनाने के लिए अधिकृत किए गए हैं। नवंबर माह की उपलब्धि काफी मायूस करने वाली है। कुल 3433 लाभार्थियों के ही गोल्डन कार्ड बन पाए। अकराबाद व गंगीरी ब्लाक में तो जन सेवा केंद्रों पर कोई गोल्डन कार्ड बना ही नहीं। धनीपुर में मात्र 16 गोल्डन कार्ड बने। चंडौस में सर्वाधिक 1624 गोल्डन कार्ड बनाए गए। अन्य ब्लाकों की स्थिति अच्छी नहीं मानी जा सकती। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि जन सेवा केंद्र संचालक लाभार्थियों के गोल्डन कार्ड बना ही नहीं रहे, क्योंकि उन्हें कोई राशि नहीं मिल रही। लाभार्थियों से शुल्क मांगने पर सख्त मनाही है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग ने डीएम व सीडीअो को पत्र भेजकर स्थिति से अवगत करा दिया है। उम्मीद है कि कुछ सुधार हो और जन सेवा केंद्रों पर गोल्डन कार्ड बनाने का कार्य गति पकड़। गोल्डन कार्ड बनाने के कार्य को गति देने के लिए अन्य व्यवस्था की दरकार भी है। आयुष्मान योजना और गोल्डन कार्ड की स्थिति पर प्रस्तुत है विनोद भारती की रिपोर्ट...

- 03 साल पूर्व शुरू हुई थी आयुष्मान भारत योजना - 2,58, 502 लाभार्थी परिवार सूचीबद्ध किए गए जनपद में - 7,42,180 लाभार्थी ग्रामीण क्षेत्र में सूचीबद्ध - 04,90,921 लाभार्थी शहरी क्षेत्र में सूचीबद्ध - 05 लाख का सालाना इलाज हर आयुष्मान परिवार को - 36 हजार से अधिक लाभार्थियों को मिल चुका मुफ्त इलाज

नवंबर में बने कुल गोल्डन कार्ड

तिथि, गोल्डन कार्ड

01 नवंबर, 287

02 नवंबर, 267

08 नवंबर, 162

09 नवंबर, 183

10 नवंबर, 220

11 नवंबर, 194

12 नवंबर, 264

13 नवंबर, 240

13 नवंबर, 329

18 नवंबर, 300

20 नवंबर, 381

22 नवंबर, 373

23 नवंबर, 233

24 नवंबर 319

नवंबर में ब्लाकवार स्थिति

ब्लाक, गोल्डन कार्ड

अकराबाद, 00

गंगीरी, 00

धनीपुर, 16

जवां, 38

बिजौली, 111

टप्पल, 140

खैर, 223

गौंडा, 227

लोधा, 310

इगलास, 430

अतरौली, 624

चंडौस, 1624

इनका कहना है

सरकार ने गोल्डन कार्ड बनाने का कार्य जन सेवा केंद्रों को सौंपा है। यहां पर सूचीबद्ध लाभार्थी अपना आधार कार्ड, राशन कार्ड व अन्य दस्तावेज लेकर मुफ्त गोल्डन कार्ड बनवा सकते हैं, लेकिन जन सेवा केंद्र संचालक इसमें रूचि नहीं दिखा रहे। खासतौर से ग्रामीण क्षेत्रों में स्थिति में सुधार की जरूरत है। कार्रवाई के लिए प्रशासन को अवगत करा दिया है।

- डा. दुर्गेश कुमार, एसीएमअो, नोडल अधिकारी (आयुष्मान भारत योजना)

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.