बाग के बीचों बीच बना डाला ईंट भट्ठा

प्रदूषण नियंत्रण को लेकर अलीगढ़ मंडल में जुटे अधिकारी कासगंज में हैरान रह गए

JagranTue, 23 Nov 2021 10:55 PM (IST)
बाग के बीचों बीच बना डाला ईंट भट्ठा

जासं, अलीगढ़: प्रदूषण नियंत्रण को लेकर अलीगढ़ मंडल में जुटे अधिकारी कासगंज में हैरान रह गए। वहा अमापुर रोड पर गाव टोडरपुर में दो बागों के बीच एक ईंट भट्ठा मिला। इसे नियमों के विपरीत पाया गया है। चिमनी से निकलता धुएं से आसपास की हरियाली प्रभावित मानी गई है। इसके चलते उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड भट्ठा संचालक को नोटिस भेजने की तैयारी में है। अधिकारियों ने बताया कि इस भट्ठे और बागों का वीडियो बनाया गया है। जल्द कार्रवाई की जाएगी।

मंडल में अवैध संचालन वाले भट्ठों की सूची में यह पहले से ही दर्ज है। प्रदूषण नियंत्रण के लिए एनजीटी के आदेश पर बनाई गई इस सूची में पाच सौ भट्ठे शामिल हैं। इनमें से अधिकाश की शिकायत मंडलायुक्त कार्यालय को मिली थी। अब इनकी जाच की जा रही है। उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय सहायक वैज्ञानिक अधिकारी डा. जेपी सिंह ने बताया कि अलीगढ़ में 226, कासगंज में 111, हाथरस में 72 और एटा में 117 भट्ठे अवैध घोषित किए गए हैं। एनजीटी ने इन भट्ठों के संचालन के लिए किसी प्रकार की कोई एनओसी (अनापत्ति प्रमाण पत्र) न देने के निर्देश दिए हैं। इनकी जाच का काम चल रहा है। सोमवार को टीम के साथ वे कासगंज गए। जाच में अमापुर रोड पर गाव टोडरपुर में दो बागों के बीच एक ईंट भट्ठा मिला है। दो भट्ठों की चिमनी मानकों के विपरीत मिली। इनके संचालकों को नोटिस दिए जाएंगे। जवाब संतुष्टिपूर्ण न मिलने पर मामला दर्ज कराने का प्रावधान है।

इसलिए जरूरी कार्रवाई

दीपावली के बाद वायु प्रदूषण न्यूनतम से चार गुना से भी अधिक हो गया था। वायु प्रदूषण और भी घातक न हो, इसकी बोर्ड निगरानी कर रहा है।

20 दिन पहले ईंट भट्ठों में होगी भराई

अलीगढ़ मंडल में इस बार 20 दिन पहले ही ईंट भट्ठों की भराई शुरू कर दी जाएगी। यह निर्णय ईंट भट्ठा निर्माता एसोसिएशन की मंगलवार को अलीगढ़ में हुई बैठक में लिया गया है। अध्यक्ष ठा. जगत पाल सिंह ने बताया कि अक्टूबर में मंडल के ईंट भट्ठा मालिकों की बैठक हुई थी। इसमें 20 दिसंबर से ईंट भराई व फुकाई की तिथि तय की गई थी। संचालकों की आम सहमति से अब एक दिसंबर से ईंट भराई व फुकाई शुरू करने का निर्णय लिया गया है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.