भाजपा नेत्री पर फायरिंग में साजिश के तहत मुकदमा लिखवाने का आरोप, एसएसपी से शिकायत

थाना देहलीगेट क्षेत्र के एडीए कालोनी में 15 दिन पहले भाजपा नेत्री रूबी आसिफ खान व उनके शौहर पर फायरिंग करने के मामले में एक तरफ पुलिस आरोपितों की तलाश में लगी है तो दूसरी तरफ आरोपित पक्ष ने साजिश के तहत मुकदमा दर्ज कराने का आरोप लगाया है।

Anil KushwahaMon, 06 Dec 2021 04:48 PM (IST)
आरोपित की माता ने सोमवार को इस संबंध में एसएसपी से मिलकर जांच कराकर कार्रवाई की मांग की है।

अलीगढ़, जागरण संवाददाता।  थाना देहलीगेट क्षेत्र के एडीए कालोनी में 15 दिन पहले भाजपा नेत्री रूबी आसिफ खान व उनके शौहर पर फायरिंग करने के मामले में एक तरफ पुलिस आरोपितों की तलाश में लगी है, तो दूसरी तरफ आरोपित पक्ष ने साजिश के तहत मुकदमा दर्ज कराने का आरोप लगाया है। पुलिस पर भी सांठगांठ करने का आरोप लगा है। आरोपित की माता ने सोमवार को इस संबंध में एसएसपी से मिलकर जांच कराकर कार्रवाई की मांग की है।

22 नवंबर को दी गयी तहरीर

एडीए कालोनी में भाजपा महावीरगंज मंडल की महिला मोर्चा की उपाध्यक्ष रूबी आसिफ खान रहती हैं। आसिफ खान ने 22 नवंबर की रात को तहरीर देकर कहा था कि रात करीब आठ बजे अपनी पत्नी रूबी के साथ बीमार मां को देखने एडीए कालोनी स्थित बिजलीघर के पास गए थे। तभी कुछ लोगों ने लोगों ने उन्हें घेर लिया और जान से मारने की नीयत से तमंचे से फायरिंग शुरू कर दी। किसी तरह रूबी आसिफ खान और उनके शौहर आसिफ खान ने अपना बचाव किया। गोली रूबी आसिफ खान की मां के घर की दीवार में जा लगी।

झूठा मुकदमा दर्ज कराने का आरोप

आसिफ का आरोप है कि उनके छोटे भाई काशिफ का रिश्ता जंगलगढ़ी की एक युवती से तय हो गया था। लेकिन, उनसे रंजिश मानने वाले कुछ लोगों के बहकावे में आकर युवती के पिता ने भाई कासिफ के खिलाफ झूठा मुकदमा दर्ज करा दिया था। इसमें उसे जेल भी जाना पड़ा था। इसी रंजिश को लेकर उनके ऊपर जानलेवा हमला बोला गया है। पुलिस ने आरिफ को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था। इधर, सोमवार को आरिफ की माता गुलशन ने एसएसपी से शिकायत की है। इसमें कहा है कि आरिफ को पकड़ने के दौरान पुलिस ने गिरफ्तारी का स्थान गलत दर्शाया है, जबकि तमंचे की बरामदगी भी फर्जी तरीके से दिखाई है। आरोप है कि आरिफ को प्रताड़ित करके जेल भेजा गया। उन्होंने कहा कि भाजपा नेत्री के खिलाफ पहले से एक मुकदमा चल रहा है। ऐसे में पुलिस से सांठगांठ करके खुद को बचाने के लिए ऐसा किया गया। गुलशन ने मामले की जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई और निर्दोषों को फर्जी मुकदमे से मुक्त कराने की मांग की है। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने सीओ प्रथम को जांच के आदेश दिए हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.