Bhim Army चीफ चंद्रशेखर ने कहा, झूठा वायदा कर पीड़ित परिवार को छला, CM Yogi पर लगाए आरोप

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने शुक्रवार को कलक्ट्रेट में जाकर डीएम रमेश रंजन और एसपी विनीत जायसवाल से बातचीत की। बातचीत के बाद उन्होंने कहा कि परिवार के लोगों के लिए नौकरी और आवास की मांग की थी।

Sandeep Kumar SaxenaFri, 24 Sep 2021 02:33 PM (IST)
भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने शुक्रवार पत्रकारों से बातचीत की।

हाथरस, जागरण संवाददाता। भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने शुक्रवार को कलक्ट्रेट में जाकर डीएम रमेश रंजन और एसपी विनीत जायसवाल से बातचीत की। बातचीत के बाद उन्होंने कहा कि परिवार के लोगों के लिए नौकरी और आवास की मांग की थी। अधिकारियों ने मना कर दिया है कि हमारे पास कोई आर्डर नहीं है। मुख्यमंत्री ने उस समय वायदा कर पीड़ित परिवार को छला है।   आरोप लगाया कि संवैधानिक पद पर रहते हुए मुख्यमंत्री ने झूठ बोला है। मुख्यमंत्री को कुर्सी पर बैठने का अधिकार नहीं है। अलीगढ़ में कमिश्नर व डीआइजी से मिलेंगे। यदि मुख्यमंत्री झूठ बोल रहे हैं तो किस पर विश्वास करेंगे। जब तक अनुसूचित जाति विरोधी सरकार जाग नहीं जाती है तब तक मंडल मुख्यालय पर हमारा धरना जारी रहेगा। पीड़ित परिवार का कहना है कि सीआरपीएफ की सुरक्षा हटते ही गांव में नहीं रहने दिया जाएगा। गांव की हालत अच्छी नहीं थी। लोग किस तरह गंदगी में रह रहे हैं। अब मेरे कहने पर सफाई और इंटरलाकिंग कराई जा रही है। गांव में एक सप्ताह में हालात अच्छे हो जाएंगे। इसके बाद वे अलीगढ़ के लिए समर्थकों के साथ निकल गए।

डीएम से मिलने से पहले मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि देश और प्रदेश में अजीब विडंबना है कि जनता टैक्स देकर लाइन में लगकर अपने हक व न्याय के लिए लड़ रही है। लेकिन अफसर और नेता वीआइपी बनकर मौज मार रहे हैं। इस कल्चर को बदलना होगा। जनता ही सबकुछ है। हम जनता के दुखदर्द में शामिल होने आए हैं। आज देश व प्रदेश की हालत नेताओं की वजह से ही है। बहुजन समाज का सिपाही हूं और बाबा साहब अंबेडकर और कांशीराम के आदर्शों पर चल रहा हूं। गठबंधन से चुनाव नहीं लड़ा जाता है। पूर्व में बीजेपी को रोकने और समान विचारधारा के लोगों के साथ रहने की बात कही थी।

बंद कमरे में की डीएम एसपी से बात

भीम आर्मी के चीफ के कलक्ट्रेट पहुंचने से पहले उनके समर्थक पहुंचना शुरू हो गए थे। इसे देखते हुए भारी संख्या में फोर्स भी तैनात हो गया था। आजाद को तीन गाड़ियों के स्थान पर एक को रोककर दो से ही अंदर प्रवेश करने दिया गया। वहां उन्होंने डीएम व एसएसपी से बंद कमरे में बात की। कलक्ट्रेट में भीम आर्मी के प्रदेश अध्यक्ष सुनील कुमार चित्तौड़ और वरिष्ठ नेता महेंद्र सिंह मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.