अलीगढ़ में बढ़ रहे अस्‍मत लूटने के मामले, चौंका रहे हैं पुलिस के आकड़े Aligarh news

देश में वैसे तो बच्चियों को देवियों का रूप माना जाता है। इसलिए नवरात्र में कन्या पूजन के साथ ही तमाम अनुष्ठान किए जाते हैं। मगर समाज में मानसिक विकृति वाले तमाम ऐसे भी लोग हैं जो मासूम बच्चियों से लेकर युवतियों व महिलाओं को अपना शिकार बना रहे हैं।

Anil KushwahaSat, 25 Sep 2021 06:37 AM (IST)
अलीगढ में पिछले तीन साल के दौरान 744 मामले अस्‍मत लूटने के दर्ज हुए।

रिंकू शर्मा, अलीगढ़ । देश में वैसे तो बच्चियों को देवियों का रूप माना जाता है। इसलिए नवरात्र में कन्या पूजन के साथ ही तमाम अनुष्ठान किए जाते हैं। मगर, समाज में मानसिक विकृति वाले तमाम ऐसे भी लोग हैं जो मासूम बच्चियों से लेकर युवतियों व महिलाओं को अपना शिकार बना रहे हैं। अलीगढ़ जिले में ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं। पिछले तीन साल के दौरान 744 मामले दुष्कर्म के दर्ज हुए। वर्ष 2019 में 309, वर्ष 2020 में 249 केस सामने आए थे। इस साल भी आठ माह में 186 मामले दर्ज हो चुके हैं। हालांकि, वर्ष 2019 की तुलना में अस्‍मत लूटने से जुड़े अपराधों में कुछ कमी आई है।

चौंकाते आंकडें

- 03 साल में जिले में दुष्कर्म की 744 घटनाएं आ चुकी हैं सामने - 703 घटनाओं में आरोपितों की गिरफ्तारी के साथ कोर्ट में दाखिल हो चुकी है चार्जसीट - 309 मामले वर्ष 2019 में दर्ज हुए थे - 249 मुकदमे वर्ष 2020 में दर्ज हुए थे -186 मामले इस साल अब तक आ चुके हैं सामने - 2019 में क्वार्सी में थे सर्वाधिक 41 मुकदमे दर्ज हुए थे -19-19 मामले गांधीपार्क व बन्नादेवी में दर्ज हुए थे - 2020 में क्वार्सी में 43, टप्पल में 19, गांधीपार्क में 17 मुकदमे हुए दर्ज -2021 में क्वार्सी में 25, बन्नादेवी में 12, लोधा में 10 मुकदमे दर्ज हो चुके हैं। -109 मामले जिले में क्वार्सी थाने में पिछले तीन साल मे दुष्कर्म के सर्वाधिक 109 मुकदमे हुए हैं दर्ज -45 मामले बन्नादेवी में, 41 टप्पल में, 35 सासनीगेट में, 35 जवां में, 32 लोधा में हुए हैं दर्ज

ये है जिले की तस्वीर

- 32 थाने हैं जिले में - 01 महिला थाना - 01 महिला साइबर सेल - 01 परिवार परामर्श केंद्र -01 मीडिएशन सेंटर -02 महिला सीओ की है जिले में तैनाती -05 महिला इंस्पेक्टर तैनात हैं जिले में - 389 महिला आरक्षी जिले में तैनात हैं

अस्‍मत लूटने की प्रमुख वारदातें

02 सितंबर 2006 - चंडौस क्षेत्र के जहराना गांव में छात्रा की सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या

16 अप्रैल 2012 - अतरौली क्षेत्र मे दुल्हन की छोटी बहन की सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या

21 अप्रैल 2013 - बन्नादेवी के नगला कलार में किशोरी की दुष्कर्म के बाद हत्या

24 दिसंबर 2015 - हरदुआगंज क्षेत्र के एक गांव की 11 वीं की छात्रा की सामूहिक दुष्कर्म के बाद गला दबाकर हत्या

15 जनवरी 2017 - जवां क्षेत्र में महिला से सामूहिक दुष्कर्म

02 फरवरी 2017- क्वार्सी के केलानगर में दो छात्रों ने किशोरी संग किया सामूहिक दुष्कर्म

25 फरवरी 2017 - अकराबाद के गांव पिलखना में किशोरी की सामूहिक दुष्कर्म के बाद गला घोंटकर हत्या

21 जून 2017- बन्नादेवी के भीकमपुर में छह साल की मासूम से सामूहिक दुष्कर्म के बाद गला दबाकर हत्या

12 जनवरी 2018- देहलीगेट क्षेत्र में मासूम से दुष्कर्म

15 जून 2018 - बन्नादेवी क्षेत्र में देवी जागरण में बालिका से सजाने के दौरान दुष्कर्म

17 अप्रैल 2019- गौंडा क्षेत्र में चार साल की मासूम से दुष्कर्म

02 नबंवर 2019- चंडौस क्षेत्र में युवती से सामूहिक दुष्कर्म, जिंदा जलाया

07 जनवरी 2020 - खैर क्षेत्र में युवती का अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म व हत्या

23 जून 2020 - क्वार्सी के जाकिर नगर में किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म

22 जुलाई 2020- दीनदयाल अस्पताल में काेरोना पीड़ित युवती से डाक्टर ने किया दुष्कर्म का प्रयास

12 जनवरी 2021- गांधीपार्क क्षेत्र के हरदुआगंज क्षेत्र की छात्रा की दुष्कर्म के बाद हत्या

24 मई 2021 - खैर क्षेत्र के गौमत में नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म

02 जून 2021- बरला क्षेत्र में एक दो साल की मासूम से दुष्कर्म

इनका कहना है

जिले में मिशन शक्ति के तहत महिला अपराधों से जुड़े लंबित मामलों का निस्तारण कराने के साथ ही कोर्ट में आरोपितों के खिलाफ चार्जसीट दाखिल करने का अभियान छेड़ा गया है। अधिकांश मामलों में आरोपित गिरफ्तार कर जेल भेजे जा चुके हैं। अपराधों की रोकथाम को गांव-गांव जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है।

- कलानिधि नैथानी, एसएसपी

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.