दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी के लिए कवायद तेज, रणनीति में लगे सभी दल Aligarh news

जिला पंचायत चुनाव के बाद अध्यक्ष पद को लेकर सभी दलों में बेचैनी है।

जिला पंचायत चुनाव के बाद अध्यक्ष पद को लेकर सभी दलों में बेचैनी है। इस कुर्सी पर कब्जे के लिए हर दल कवायद में जुटा है। दमखम के साथ भाजपा चुनाव में मैदान में उतरी थी मगर करारी शिकस्त खाने के बाद नई रणनीति की तैयारी चल रही है।

Anil KushwahaSat, 08 May 2021 12:38 PM (IST)

अलीगढ़, जेएनएन ।  जिला पंचायत चुनाव के बाद अध्यक्ष पद को लेकर सभी दलों में बेचैनी है। इस कुर्सी पर कब्जे के लिए हर दल कवायद में जुटा है। दमखम के साथ भाजपा चुनाव में मैदान में उतरी थी, मगर करारी शिकस्त खाने के बाद नई रणनीति की तैयारी चल रही है। मात्र नौ सदस्य जीतकर आने से पार्टी में उथल-पुथल है, मगर फिलहाल विजय सिंह को लेकर लामबंद है। जिले से नाम भी भेज दिया गया है। अब प्रदेश नेतृत्व के निर्देश का इंतजार किया जा रहा है।

भाजपा का दावा हुआ बेकार

भाजपा जिला पंचायत चुनाव में 25 से अधिक सीटें आने का दावा कर रही थी। ऐसा हो नहीं पाया। अब पार्टी बागियों को एकजुट करने में जुटी है, जिससे कुल 15 सदस्य हो जाएंगे। इसके बाद भी नौ सदस्यों की कमी पड़ेगी। ऐसे में पार्टी निर्दलीयों को साथ लेने की कोशिश में है। पार्टी नेताओं का दावा है कि कई सदस्य साथ आने को तैयार हैं। विजय सिंह को अध्यक्ष बनाने के लिए सदस्यों से बातचीत भी शुरू हो गई है। चुनाव 17 जिला पंचायत सदस्य जाट समाज से जीतकर आए हैं, भाजपा को उन्हें मनाने में दिक्कत आ रही है। किसान आंदोलन को लेकर जाट नाराज हैं। यदि वो भाजपा के साथ नहीं आए तो पार्टी रणनीति बदल सकती है। जिलाध्यक्ष ऋषिपाल सिंह का कहना है कि 2015 की अपेक्षा हम बहुत अच्छी स्थिति में हैं। पार्टी का ही अध्यक्ष बनेगा।

सपा को साथ लेकर चुनाव लड़ेगा रालोद

जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर रालोद मजबूती के साथ सियासी समर में उतरने की तैयारी कर रही है। सात समर्थित जीते हुए सदस्य व चार बागी सदस्यों को रालोद नेता अपने पाले में मानकर चल रहे हैं। चुनाव का नेतृत्व करने वाले पूर्व जिलाध्यक्ष रामबहादुर चौधरी का कहना है कि सपा ने हमारे पास समर्थन का प्रस्ताव भेजा है। किसान, मजदूर व गरीब तबकों के हक की लड़ाई सपा व रालोद मिलकर लड़ रही है। भाजपा को मात देने के लिए हम सपा को साथ लेकर इस चुनाव को लड़ेंगे। सपा जिलाध्यक्ष गिरीश यादव व इस पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व सांसद चौ. बिजेंद्र ङ्क्षसह से हाईकमान से पैरोकारी में लगे हैं।

कुर्सी पर कब्जा बरकरार रखने चाहती है बसपा

जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर बसपा कब्जा बरकरार रखने के लिए जी तोड़कर जुटी हुई है। अब तक लगातार तीन बार निर्वाचित हुए अध्यक्ष बनाने में यह पार्टी ङ्क्षकग मेकर की भूमिका में रही है। इस बार सात सदस्य बसपा के जीते हैं। एक निर्दलीय सदस्य ने पूर्व जिला अध्यक्ष व हरदुआगंज नगर पंचायत अध्यक्ष तिलकराज यादव से मुलाकात की। खुद को पुराना बसपा का कार्यकर्ता भी बताया। ऐसे अन्य निर्दलीय सदस्यों से जिलाध्यक्ष रतन दीप ङ्क्षसह व मंडल के मुख्य सेक्टर प्रभारी अशोक ङ्क्षसह से लगातार सदस्यों से वार्ता चल रही है। जिलाध्यक्ष का कहना है कि अन्य निर्दलीयों से बातचीत के बीच जाट समाज से जीते हुए सदस्य व अध्यक्ष पद के दावेदार हमारे संपर्क में हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.