UP Vidhan Sabha 2022 Election: चुनावी है साल, हर योजना पर निगाह रख रही है सरकार Aligarh News

चुनावी वर्ष होने के चलते अब जिले में अधूरी पड़ी योजनाओं पर सरकार का विशेष ध्यान है। सरकार इन योजनाओं को दिसंबर तक हरहाल में पूर्ण करा लेना चाहती है जिससे चुनाव से पहले इनका उद्घाटन किया जा सके।

Sandeep Kumar SaxenaFri, 30 Jul 2021 08:33 AM (IST)
चुनावी वर्ष होने के चलते अब जिले में अधूरी पड़ी योजनाओं पर सरकार का विशेष ध्यान है।

अलीगढ़, जेएनएन। चुनावी वर्ष होने के चलते अब जिले में अधूरी पड़ी योजनाओं पर सरकार का विशेष ध्यान है। सरकार इन योजनाओं को दिसंबर तक हरहाल में पूर्ण करा लेना चाहती है, जिससे चुनाव से पहले इनका उद्घाटन किया जा सके। कई ऐसी योजनाएं हैं जो 70 फीसद पूरी हो गईं हैं, उनपर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। गंगा नदी पर सांकरा पुल, अलीगढ़-पलवल मार्ग, जीटी रोड आदि महत्वपूर्ण कार्य हैं, जिनपर सीधे सरकार की निगाह टिकी हुई है।

ये हैं चुनावी योजनाएं

प्रदेश का विधानसभा चुनाव 2022 में होना है। संभवत मार्च से पहले चुनाव हो जाएगा। इसलिए सभी पार्टियां 2021 से ही चुनाव की तैयारियों में जुटी हुईं हैं। तमाम दल संगठन को मजबूत करके चुनाव में उतारने की तैयारी कर रहे हैं। वहीं प्रदेश सरकार प्रदेश में अधूरी योजनाओं को पूरा करने में लगी हुई है। सरकार का मंतव्य है कि जल्दी से जल्दी योजनाएं पूरी हो जाएं, जिससे समय से उसका लोकार्पण किया जा सके और इसका लाभ सरकार को मिल सके। जिले में सबसे महत्वपूर्ण योजना सांकरा स्थित गंगा नदी पर बन रहा पुल है। यह पुल अलीगढ़ और बदायूं को सीधे जोड़ेंगा। 16 पिलर वाले इस पुल का निर्माण 200 करोड़ रुपये की लागत से हो रहा है। करीब 80 फीसद कार्य हो गया है। 20 फीसद ही शेष है। मगर, बारिश के चलते इस समय कार्य बाधित है। अब सेतु निगम को करीब दो महीने और इंतजार करने होंगे। क्योंकि बारिश समाप्त होने के बाद भी गंगा में जलस्तर बना रहेगा। इससे निर्माण कार्य नहीं हो सकेगा। सितंबर के अंतिम सप्ताह तक कार्य होने की संभावना है। ऐसे में सेतु निगम के पास कार्य पूर्ण करने के लिए दो महीने का ही समय बचेगा। अब देखना होगा कि सेतु निगम कब तक कार्य पूर्ण करता है।

अलीगढ़-पलवल मार्ग का निर्माण कार्य 

जिले की दूसरी सबसे बड़ा काम अलीगढ़-पलवल मार्ग का निर्माण कार्य है। 67 किमी लंबा यह मार्ग चार साल में बनकर तैयार हो गया है। कुछ जगहों पर ही कार्य रह गया है। इसका उद्घाटन भव्य तरीके से किया जा सकता है। मगर, खैर और जट्टारी में बाईपास का निर्माण अभी भी अधूरा है। बाईपास न बनने से काम पूरा नहीं माना जा सकता है। फिलहाल काम इतना धीमे है कि छह महीने में भी यह पूरा नहीं हो सकेगा। इसलिए पूर्णत: इस मार्ग का निर्माण कार्य तो अभी नहीं हो पाएगा। सिर्फ नादा पुल से लेकर हामिदपुर तक इस मार्ग के फोरलेन के कार्य को ही पूरा माना जाएगा। जीटी रोड के फोरलेन का भी काम काफी तेजी से चल रहा है। इस मार्ग का निर्माण कार्य तीन साल पहले हुआ था। हालांकि, भारतीय राजमार्ग प्राधिकरण के अंतर्गत आने से इस मार्ग का निर्माण कार्य केंद्र सरकार करा रही है,मगर इसपर प्रदेश सरकार की भी निगाह है, प्रदेश सरकार चाहती है कि दिसंबर से पहले काम पूरा हो जाए तो इसका शुभारंभ किया जा सके। हालांकि, काम तेजी से हुआ भी है। एटा से लेकर मैनपुरी तक मार्ग पर वाहनों की आवाजाही शुरू हो गई हैै। टाेल भी शुरू हो गया है। इसलिए फेस वन और फेस तीन के निर्माण कार्य का इंतजार चल रहा है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.