हुड़दंगी बाइकर्स की तलाश में मथुरा में अलीगढ़ पुलिस की दबिश

सासनीगेट थाना क्षेत्र के जयगंज रोड पर थाने के सामने से हुड़दंग मचाते हुए निकले बाइकर्स की तलाश में पुलिस मथुरा में दबिश दे रही है। अभी तक इस मामले में एक ही आरोपित गिरफ्तार हुआ है जो बाइक के पीछे बैठकर फायरिंग कर रहा था।

Anil KushwahaPublish:Wed, 01 Dec 2021 09:46 AM (IST) Updated:Wed, 01 Dec 2021 09:46 AM (IST)
हुड़दंगी बाइकर्स की तलाश में मथुरा में अलीगढ़ पुलिस की दबिश
हुड़दंगी बाइकर्स की तलाश में मथुरा में अलीगढ़ पुलिस की दबिश

अलीगढ़, जागरण संवाददाता। सासनीगेट थाना क्षेत्र के जयगंज रोड पर थाने के सामने से हुड़दंग मचाते हुए निकले बाइकर्स की तलाश में पुलिस मथुरा में दबिश दे रही है। अभी तक इस मामले में एक ही आरोपित गिरफ्तार हुआ है, जो बाइक के पीछे बैठकर फायरिंग कर रहा था। पुलिस को अभी 15-20 आरोपितों की तलाश है। इसे लेकर पुलिस की टीमें अलीगढ़ के अलग-अलग इलाकों में भी दबिश दे रही हैं। एक टीम मथुरा में डटी है।

एक दर्जन बाइक पर करीब 25 युवकों ने निकाली थी रैली

सासनीगेट चौराहे से जयगंज की तरफ जाने वाले रास्ते पर रविवार को 10-12 बाइकों पर करीब 20-25 युवक रैली के रूप में निकले थे। थाने के सामने से हुड़दंग मचाते हुए निकले युवकों में से एक ने 35 नंबर स्कूल के पास हवाई फायरिंग की। सब्जी मंडी से बाइकों को फिर लौटाकर लाए और दोबारा फायर किया। इसके बाद गलियों में होते हुए फरार हो गए। पुलिस ने फायरिंग करने व 7 सीएलए एक्ट की धारा में अज्ञात बाइक सवारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। कैमरे खंगाले तो बुलेट बाइक पर पीछे बैठा एक युवक फायरिंग करते हुए नजर आया। इसके बाद सासनीगेट चौराहे पर लगे कैमरों को तलाशा गया, जहां बाइक का नंबर मिल गया। इस आधार पर पुलिस युवक तक पहुंची। सोमवार को पुलिस ने मडराक थाना क्षेत्र के नई बस्ती पड़ियावली निवासी तरुण कुमार उर्फ अभिषेक को गिरफ्तार कर लिया। तरुण ही बुलेट के पीछे बैठा था और फायरिंग की थी। इसके पास से एक तमंचा भी बरामद किया गया है। सासनीगेट इंस्पेक्टर पंकज कुमार मिश्रा ने बताया कि बाइक चलाने वाले युवक की लोकेशन मथुरा में मिली है। इसकी तलाश में टीम मथुरा भेजी गई है। अन् आरोपितों की भी तलाश की जा रही है।

जेल जा चुका है आरोपित

आरोपित के खिलाफ आर्म्स एक्ट में भी मुकदमा दर्ज किया गया है। इंस्पेक्टर ने बताया कि एक साल पहले भी आरोपित तरुण एनडीपीएस एक्ट में गिरफ्तार होकर जेल जा चुका है। आरोपित ने पूछताछ में बताया कि रैली के रूप में रंगबाजी करते हुए घूम रहे थे, तभी फायरिंग की।