अलीगढ़ में सट्टे के आरोप लगाकर पुलिस ने पकड़ा, 12 हजार लेकर छोड़ा

12 हजार की घूस लेकर उसे छोड़ा गया।
Publish Date:Thu, 24 Sep 2020 10:52 PM (IST) Author: Sandeep Saxena

अलीगढ़ जेएनएन: कोतवाली क्षेत्र के युवक को सट्टे के आरोप में देहलीगेट थाने की रोरावर चौकी पुलिस ने पकड़कर हवालात में बंद कर दिया। आरोप है कि 12 हजार की घूस लेकर उसे छोड़ा गया। पहले भी पुलिस ऐसा कर चुकी है, जिससे परेशान होकर उसे अपना मकान तक बेचना पड़ा। युवक ने एसएसपी से शिकायत की है। 

कोतवाली क्षेत्र के भुजपुरा निवासी जफरुद्दीन तालों पर रंगाई करते हैं। एसएसपी को दिए प्रार्थना पत्र में जफरुद्दीन ने कहा है कि 19 सितंबर को वे अपनी बेटी को कोङ्क्षचग में छोड़कर आ रहे थे। रास्ते में गोलगप्पे की ढकेल पर एक दारोगा व दो सिपाही आए। तलाशी में कुछ नहीं मिला तो रोरावर चौकी ले गए। सट्टे का आरोप लगाकर धमकाया। एक घंटे बाद स्वजन 12 हजार लेकर आए, तब छोड़ा। 

पहले 60 हजार लेकर छोड़ा था

सट्टा की खाईबाड़ी करने का आरोप

जफरुद्दीन के मुताबिक, पहले वे रोरावर के अहमद नगर में रहते थे। घर में ही परचून की दुकान थी। आरोप है कि 10 फरवरी को पुलिसकर्मी परचून से दुकान से पकड़कर ले गए। सट्टा की खाईबाड़ी करने का आरोप लगाकर नशीले पाउडर के केस में फंसाने की धमकी दी। तब तीनों ने 60 हजार रुपये लेकर छोड़ा था। इससे तंग आकर जफरुद्दीन ने मकान बेच दिया। एसपी क्राइम ने देहलीगेट पुलिस को जांच के निर्देश दिए हैं।

सट्टा खेलते सात दबोचे, मास्टरमाइंड फरार

अलीगढ़ : सासनीगेट पुलिस ने बरी चौक के पास से घर मे सट्टा खेल रहे सात लोगों को दबोचा है। पुलिस ने कई पर्चियां व रुपये बरामद किए हैं। सीओ प्रथम सुदेश गुप्ता ने बताया कि इंस्पेक्टर जावेद खां के नेतृत्व में पुलिस ने गुरुवार रात बरी चौक के पास स्थित एक घर में छापा मारा। यहां से योगेश व मोहन निवासीगण सहायाबाद (हरदुआगंज), शिव कुमार निवासी नगला पला, धर्मेंद्र ङ्क्षसह व अमित कुमार निवासी बरी चौक, राहुल निवासी बाबा कॉलोनी, राजकुमार निवासी आजाद ङ्क्षहद नगर को सट्टा खेलते हुए पकड़ लिया। इनसे 9280 रुपये व पर्चा सट्टा मिले। सीओ ने बताया कि इस गिरोह को चंदन निवासी बरी चौक चलाता था। राजवीर व संतोष उर्फ अर्जुन निवासी भगवान नगर साथ देते थे। तीनों फरार हैं। 

चिडिय़ा-बल्ला के नाम पर सट्टा : बरी चौक में चलने वाला सट्टा पूरे क्षेत्र में फैला हुआ है। डोरीनगर से लेकर सासनीगेट इलाके तक के लोग यहां आते हैैं। रोजाना लाखों का सट्टा होता है। चिडिय़ा-बल्ला के नाम पर सट्टा खिलाया जाता है।  

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.