निलंबन वापस नहीं किया तो कार्य बहिष्कार करेंगे अलीगढ़ के विद्युत जूनियर इंजीनियर

राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर्स संगठन ने दी चेतावनी।

JagranWed, 01 Dec 2021 09:11 PM (IST)
निलंबन वापस नहीं किया तो कार्य बहिष्कार करेंगे अलीगढ़ के विद्युत जूनियर इंजीनियर

जासं, अलीगढ़ : राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर्स संगठन के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने बुधवार को भी एसडीओ व जेई के निलंबन कोनिरस्त करने की मांग को लेकर लालडिग्गी स्थित बिजली दफ्तर पर प्रदर्शन किया। चेतावनी दी कि जब तक दोनों साथियों का निलंबन वापस नहीं होता, आंदोलन चलता रहेगा।

जिलाध्यक्ष प्रवीन शाक्य ने कहा कि एसडीओ सतवीर सिंह और जेई प्रशांत वाष्र्णेय को जानबूझकर निलंबित किया गया है। दोनों संगठन में सक्रिय हैं। इसलिए प्रबंधन ने रणनीति के तहत फंसाने का काम किया है। प्रवीन शाक्य ने कहा कि शीघ्र ही दोनों साथियों का निलंबन निरस्त न हुआ तो कार्य बहिष्कार को बाध्य होंगे। रामघाट-कल्याण मार्ग स्थित निजी अस्पताल में आठ नवंबर को आगरा से आई विजिलेंस टीम ने चेकिग की थी। टीम ने पाया था कि 120 किलोवाट के कनेक्शन से परिसर से सड़क उस पार मीटर के माध्यम से विद्युत का प्रयोग किया जा रहा है। इसके बाद स्थानीय बिजली विभाग की टीम ने मूल्यांकन किया तो अस्पताल पर 2.03 करोड़ रुपये जुर्माना लगाया। 27 नवंबर को एसडीओ सतवीर सिंह व जेई प्रशांत वाष्र्णेय को लापरवाही के आरोप में निलंबित कर दिया गया। इसके बाद से राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर्स संगठन प्रदर्शन कर रहा है। क्षेत्रीय अध्यक्ष अरविद कुमार निगम ने कहा कि एसडीओ और जेई को फंसाया गया है। इस मौके पर वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुशील कुमार, भगवती प्रसाद, सुनील सिंह, अरविद कुमार, एपी सिंह, चंचल शर्मा, केशव माहेश्वरी, हेमंत कुमार, राहुल कुमार आदि थे।

इंसेट

कार्य हो रहा बाधित, उपभोक्ता परेशान

बिजली विभाग के एसडीओ व जेई की हड़ताल से बिजलीघरों पर कार्य बाधित होने लगा है। उपभोक्ताओं के बिल आदि में गड़बड़ी होने पर ठीक नहीं हो पा रहे हैं। कई जगहों पर लाइट गुल होने पर उसे समय से ठीक नहीं किया जा रहा है। ऐसी ही स्थिति रही तो आपूर्ति बाधित रहेगी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.