हाथरस में विवाहिता का शव गायब करने का आरोप, लगाया जाम, पुलिस से नोकझोंक

एक व्यक्ति ने अपनी पुत्री की हत्या कर शव को गायब करने का आरोप गुरुवार को ससुराल पक्ष के लोगों पर लगाया था। चौबीस घंटे बीत जाने के बाद भी विवाहिता की कोई जानकारी न होने पर शुक्रवार दोपहर में लोगों ने कैलोरा चौराहे पर जाम लगा दिया।

Sandeep Kumar SaxenaPublish:Fri, 03 Dec 2021 04:37 PM (IST) Updated:Fri, 03 Dec 2021 04:37 PM (IST)
हाथरस में विवाहिता का शव गायब करने का आरोप, लगाया जाम, पुलिस से नोकझोंक
हाथरस में विवाहिता का शव गायब करने का आरोप, लगाया जाम, पुलिस से नोकझोंक

हाथरस, जागरण संवाददाता। कोतवाली हाथरस जंक्शन क्षेत्र के गांव बधराया के एक व्यक्ति ने अपनी पुत्री की हत्या कर शव को गायब करने का आरोप गुरुवार को ससुराल पक्ष के लोगों पर लगाया था। चौबीस घंटे बीत जाने के बाद भी विवाहिता की कोई जानकारी न होने पर शुक्रवार दोपहर को ग्रामीणों व स्वजन का धैर्य जबाव दे गया। लोगों ने कैलोरा चौराहे पर जाम लगा दिया। करीब एक घंटे तक जाम लगा रहा। जिस वजह से राहगीरों ने परेशानियों का सामना किया। पुलिस द्वारा जल्द से जल्द विवाहिता को बरामद करने का आश्वासन दिया। तब जाकर ग्रामीणों ने जाम खोला। जाम लगने से चारों से आने व जाने वाले वाहन जहां के तहां रुक गए थे।

यह है मामला

गांव बधराया के चंद्रवीर सिंह का कहना है कि उसने अपनी पुत्री भावना की शादी इसी साल दो मई को हाथरस जंक्शन के ही गांव छोंक निवासी मनीष से की थी। शादी के बाद से ही ससुराल पक्ष के लोग अतिरिक्त दहेज में मोटर साइकिल की मांग करने लगे। विवाहिता के साथ अाए दिन मारपीट ससुराल पक्ष के लोगों ने की। गगांव के एक व्यक्ति ने चंद्रवीर सिंह को सूचना दी कि उनकी पुत्री की साथ मारपीट की जा रही है। सूचना पर स्वजन जब ससुराल पहुंचे तो वहां पुत्री नहीं मिली। पुत्री की अलमारी से 12 पेज का एक पत्र मिला। जिसमें शादी के बाद से किए गए उत्पीड़न की बात लिखी है। पीड़ित पिता का आरोप है कि उसकी पुत्री की हत्या कर शव को कहीं गायब कर दिया गया है। शुक्रवार सुबह पुलिस ने आरोपित के यहां जाकर छानबीन की। लेकिन विवाहिता के बारे में ससुराल पक्ष के लोग कोई जानकारी नहीं दे सके। शुक्रवार दोपहर को गांव की महिलाए व पुरूष ट्रेक्टर ट्राली में बैठकर कैलोरा चौराहे पर पहुंच गए। महिलाए सड़क पर बैठ गई और जाम लगा दिया। पुलिस ने पीड़ित परिवार व महिलाओं को काफी समझाने का प्रयास किया। लेकिन महिलाएं अपनी जिद पर अड़ी रही। सूचना पर सीओ सिकंदराराऊ सुरेंद्र सिंह भी मौके पर पहुंच गए। दो दिन के अंदर विवाहिता या उसके शव को तलाशकर लाने का आश्वासन मिलने के बाद ही लोगों ने जाम खोला। महिलाओं में इतना आक्रोश था कि वे गाड़ियों के सामने खड़ी हो गईं। महिला पुलिस की मदद से उन्हें हटाया गया। पुलिस ने उनसे कहा कि विरोध करिए लेकिन जाम मत लगाइए।

झूठी सूचना पर दौड़ी पुलिस

कोतवाली हाथरस जंक्शन इंस्पेक्टर रितेश कुमार महिला की तलाश में आसपास के गांवों में जाकर खुद पड़ताल कर रहे हैं। शुक्रवार सुबह पुलिस को सूचना मिली कि बहेटा बंबा में एक महिला का शव उतराता हुआ आ रहा है। सूचना पर इंस्पेक्टर मय फोर्स के बहेटा बंबा पर पहुंच गए। लेकिन काफी तलाश करने के बाद भी कोई शव बंबा में नहीं मिला। पुलिस का कहना है कि किसी ने झूठी सूचना दे दी थी।