AMU की प्रोफेसर से 10 लाख की मांगी रंगदारी, आरोपित गिरफ्तार

प्रो. शगुफ्तार से 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगी गई। न देने पर अंजाम भुगताने की धमकी दी गई। आरोपित ने शातिराना तरीके से शगुफ्ता को फोन करके बाहर से लिफाफा उठाने को कहा। कार पर चिपके लिफाफे में रुपये न रखने पर जान से मारने की धमकी दी गई।

Sandeep Kumar SaxenaWed, 10 Nov 2021 01:49 AM (IST)
जेएन मेडिकल कालेज के बायोकेमिस्ट्री विभाग की अध्यक्ष प्रो. शगुफ्तार से 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगी गई।

अलीगढ़, जागरण संवाददाता। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी(एएमयू) जेएन मेडिकल कालेज के बायोकेमिस्ट्री विभाग की अध्यक्ष प्रो. शगुफ्तार से 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगी गई। न देने पर अंजाम भुगताने की धमकी दी गई। आरोपित ने शातिराना तरीके से शगुफ्ता को फोन करके बाहर से लिफाफा उठाने को कहा। कार पर चिपके लिफाफे में रुपये न रखने पर जान से मारने की धमकी दी गई। लिफाफा में कारतूस के तीन खोके भी रखे थे। जिन पर प्रोफेसर, उनके कारोबारी पति नवेद मुख्तार व बेटा हमजा का नाम लिखे हुए थे। पुलिस ने सीसीटीवी कैमरों की मदद से आरोपित दानिश को मंगलवार देर रात पकड़ लिया। आरोपित शगुफ्ता की बहन का बेटा है। देर रात तक पुलिस उससे पूछताछ में लगी थी।

रिपोर्ट नवेद ने क्वार्सी थाने में दर्ज कराई

क्वार्सी थाना क्षेत्र के अनूपशहर रोड स्थित सागर हाउसिंग कांप्लेक्स के मकान नंबर 44 में रहने वाले नवेद मुख्तार का आगरा में चमड़े के जूते का कारोबार है। एएमयू से ही वह कंप्यूटर साइंस से पोस्ट ग्रेजुएट हैं। इस मामले की रिपोर्ट नवेद ने क्वार्सी थाने में दर्ज कराई है। इसमें कहा कि गया है कि सोमवार शाम 6:12 बजे उनकी पत्नी शगुफ्ता के मोबाइल फोन पर एक काल आया। फोन करने वाले ने कहा कि नोएडा से राजू बोल रहा हूं। आपके घर के बाहर कुछ सामान रखा है। उसे उठवा लो। नवेद ने कमरे के बाहर देखा तो मकान में गेट के अंदर खड़ी कार के बोनट पर टेप से चिपका एक लिफाफा था। इसमें तीन कारतूस के खोके थे। इनमें हिंदी में नवेद, शगुफ्ता व हमजा का नाम लिखा था। एक लेटर भी रख था, जिसमें 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगी गई थी। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने परिवार की सुरक्षा के लिए टीम गठित की। साथ ही सीसीटीवी खंगलवाए तो दो आरोपित बाइक पर जाते हुए ट्रेस हो गए। एसएसपी ने बताया कि देररात कोतवाली नगर क्षेत्र के चंदन शहीद निवासी आरोपित 30 वर्षीय दानिश को गिरफ्तार कर लिया है। दानिश रिश्ते में शगुफ्ता का भतीजा है। इससे पूछताछ की जा रही है। उसके दो और साथियों की तलाश है। एक लाख का था कर्जा, मौसी ने नहीं दिए पैसे दानिश ने पूछताछ में बताया कि उस पर एक लाख रुपये का कर्जा हो गया था। दानिश ने मौसी से पैसे मांगे थे। मौसी के इन्कार करने पर उस्मानपाड़ा निवासी दोस्त अजेब व छोटे क्वार्टर एडीए शाहजमाल निवासी अदनान के साथ मिलकर रंगदारी मांगने की योजना बनाई। इसमें अजेब व अदनान बाइक से शगुफ्ता के घर गए और लिफाफा व खोका कारतूस रख दिया। इसके बाद अदनान ने फोन से रंगदारी मांगी।

पत्र में ये लिखा

उम्मीद करता हूं यह पैगाम तुम्हारे पास पहुंच जाएगा। तुम्हारी मेडिकल में जाब है। तुम्हारी फैमिली में पांच मेंबर हैं। एक बेटा हमजा व दो बेटियां। पति का नाम नवेद है। सागर में फ्लैट है। प्लाट ले रखा है। दो घंटे में इतनी डिटेल निकाल चुका हूं। रेड कलर के एक्टिवा पर रोज सुबह जाते-आते हो। 10 लाख पेटी चाहता हूं। दे दिए तो कोई दिक्कत नहीं आएगी। अगर होशियारी दिखाई तो हमसे बुरा कोई नहीं होगा। अगर प्रशासन में जाने की कोशिश की तो मुझसे बुरा कोई नहीं होगा। मैं नोएडा में हूं। लेकिन, मेरे लोग तुम्हारे इर्द-गिर्द हैं। हमारी काल का इंतजार करो। जिंदगी रही तो पैसा और कमाल लोगे। पैसा के ठिकाना हम बताएंगे। कहां लाना है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.