अलीगढ़ में 10 दिन की बारिश ने तोड़ा 10 साल का रिकार्ड

मानसून की शुरूआत भले निराशाजनक थी पर यह अधिक दिन नहीं रही। जुलाई के शुरुआती 15 दिन में जहां गर्मी ने लोगों को बेहाल किया वहीं महीने के अंतिम 10 दिन में 1100 मिलीमीटर (एमएम) से ज्यादा बारिश ने एक दशक पुराना रिकार्ड तोड़ दिया।

Sandeep Kumar SaxenaTue, 03 Aug 2021 10:23 AM (IST)
बारिश ने एक दशक पुराना रिकार्ड तोड़ दिया।

अलीगढ़, जेएनएन। जिले पर मेघ मेहरबान हैं। मानसून की शुरूआत भले निराशाजनक थी, पर यह अधिक दिन नहीं रही। जुलाई के शुरुआती 15 दिन में जहां गर्मी ने लोगों को बेहाल किया, वहीं महीने के अंतिम 10 दिन में 1100 मिलीमीटर (एमएम) से ज्यादा बारिश ने एक दशक पुराना रिकार्ड तोड़ दिया। इससे पहले यहां कभी जुलाई के 10 दिन में इतना पानी नहीं बरसा था। जुलाई, 2018 में 20 दिन में 1647 एमएम बारिश हुई थी। जुलाई, 2016 में 22 दिन में 1450 एमएम पानी पड़ा था। पिछले एक दशक में सात साल तो ऐसे रहे, जब पूरे महीने में बारिश एक हजार एमएम का आंकड़ा भी पार नहीं कर सकी। मौसम वैज्ञानिक अगस्त में भी अच्छी बारिश की संभावना जता रहे हैं। सोमवार को दिनभर बादल छाए रहे। सुबह कुछ देर बूंदाबांदी हुई। इस मानसून में अब तक 1182 एमएम बरसात हो चुकी है।

कभी रिमझिम तो कभी  हल्‍की धूप 

हालांकि, मानसून के प्रारंभ से ही किसान अच्छी बरसात की उम्मीद कर रहे थे। इसी हिसाब से खेतों में तैयारी की गई थी, लेकिन 15 जून से चार जुलाई तक 23 एमएम ही बरसात हो सकी। जुलाई के पहले पखवाड़े में भी अधिक बरसात नहीं हो सकी। इसके चलते फसलों को लेकर किसान परेशान थे। गर्मी से हर कोई बेहाल था। 18 जुलाई तक सिर्फ 57 एमएम बारिश हुई। 19 जुलाई से बारिश का ऐसा सिलसिला शुरू हुआ कि कई दिनों तक झड़ी लगी रही। 19 जुलाई को 78 एमएम बारिश हुई। 20 को 198 एमएम व 21 जुलाई को रिकार्ड तोड़ 243 एमएम पानी बरसा। 22 से 24 अगस्त तक रिमझिम बारिश का सिलसिला चला। इसके बाद तीन-चार दिन बारिश बंद रही, 28 जुलाई से फिर सिलसिला शुरू हो गया, जो लगातार अब तक चल रहा है। महीने के अंतिम चार दिनों ही 550 एमएम से अधिक बारिश हो गई।

2018 में भी अच्छी बरसात

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक जुलाई में वैसे तो पिछले 10 सालों में सबसे अधिक बरसात 2018 में हुई है। इस महीने 1647 एमएम पानी पड़ा था। दूसरे नंबर पर 2016 रहा। इस साल जुलाई में 1450 एमएम बारिश हुई थी। 2021 में कुल 1159 एमएम बारिश हुई है। अगर दिन के हिसाब बारिश का औसत निकालें तो इस साल सबसे कम दिनों में सबसे अधिक बारिश हुई है।

10 साल में जुलाई में बारिश

साल, बारिश

2012,640

2013, 668

2014, 489

2015, 578

2016, 1450

2017, 277

2018, 1647

2019, 431

2020, 382

2021, 1159

(बारिश के आंकड़े मिलीमीटर में हैं)

..................

जुलाई के शुरुआत में लगा था कि बारिश न हुई तो धान की फसल बर्बाद हो जाएगी, लेकिन इस बार किसानों पर इंद्र देवता प्रसन्न हैं। रुक-रुककर हो रही बारिश धान के लिए अमृत समान है।

शेरपाल सिंह, किसान

इस बार पहले से ही अच्छी बारिश की संभावना थी। अब तक जुलाई में मौसम ने साथ भी इसी तरह दिया है। अच्छी बारिश से फसल तो अच्छी होंगी ही, भूजल स्तर भी बढ़ेगा।

विधान जायसवाल, एडीएम वित्त व राजस्व

---

इस सीजन में अच्छी बारिश हुई है। खरीफ की फसलों के लिए यह किसी वरदान से कम नहीं है। खासकर धान के लिए बारिश जरूरी है। इससे किसान की लागत कम आती है। जल दोहन भी कम होता है। अगस्त में भी अच्छी बरसात की उम्मीद है।

डा. वीके सचान, उप कृषि निदेशक (शोध)

----

गर्मी से मिली राहत

पिछले दो सप्ताह से लगातार हो रही बरसात ने गर्मी से परेशान लोगों को राहत दी है। सोमवार को सुबह से ही बादल छाए हुए थे। दिनभर ठंडी हवा चली। दोपहर के समय कुछ देर हल्की घूप निकली। लेकिन, फिर बादल छा गए। इस दौरान अधिकतम तापमान 30 व न्यूनतम 25 डिग्र्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

तापमान पर नजर

दिनांक, अधिकतम, न्यूनतम

02 अगस्त, 30, 25

01 अगस्त, 31,26

31 जुलाई, 31,25

30 जुलाई, 30,25

29 जुलाई, 33,28

28 जुलाई, 32,22

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.