दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

हम में है दम, चुनौती नहीं कम

हम में है दम, चुनौती नहीं कम

कोरोना संक्रमितों के अंतिम संस्कार से लेकर कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी दिनचर्या और रहन-सहन में किया बदलाव भाप लेकर बढ़ा रहे प्रतिरोधक क्षमता

JagranWed, 05 May 2021 01:19 AM (IST)

आगरा,जागरण संवाददाता। कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है। इससे बचने के लिए लोग घरों से नहीं निकल रहे। ऐसे में खाकी वाले मैदान में हैं। कभी कानून व्यवस्था तो कभी लाकडाउन के पालन के लिए उन्हें सड़कों और भीड़ में जाना पड़ रहा है। इतना ही नहीं संक्रमितों के अंतिम संस्कार के लिए भी उन्हें आगे आना पड़ रहा है। तमाम पुलिसकर्मी और उनके स्वजन कोरोना संक्रमित हो गए। इसके बाद भी चुनौतियों का सामना करते हुए पुलिसकर्मी डटे हैं। उन्होंने कोरोना से जंग के लिए अपना रहन-सहन और खान-पान भी बदल लिया है।

आगरा में अब तक 80 से अधिक पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। इसके साथ ही तमाम पुलिसकर्मियों के स्वजन भी कोरोना संक्रमित हैं।इसके बाद भी पुलिसकर्मी अपनी ड्यूटी के साथ इंसानियत का फर्ज भी निभा रहे हैं। लाकडाउन का पालन कराने से लेकर कानून व्यवस्था की ड्यूटी की जा रही है। इसके साथ ही अपराधियों की गिरफ्तारी में भी खाकी वाले पीछे नहीं हैं। इन सभी चुनौतियों से जूझ रहे खाकी वालों ने दिनचर्या में बदलाव किया है। एसएसपी मुनिराज जी ने बताया कि अधिकतर पुलिसकर्मी अपने परिवार से अलग रह रहे हैं। ताकि उनका परिवार सुरक्षित रहे। पुलिसकर्मियों के रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए थानों में भाप लेने के इंतजाम किए गए हैं। हर थाने में स्टीम इन्हेलर के साथ ही भाप लेने का नया सिस्टम भी बनाया गया है। दस-दस लीटर के दो कुकर गैस चूल्हे पर रखकर उसमें पाइप फिट कर लिया गया है।कुकर में पानी भरने पर बनने वाली भाप पाइप से निकलती है। इससे पुलिसकर्मी भाप लेते हैं। ड्यूटी पर जाने से पहले और बाद में भाप लेते हैं। इसके साथ ही उनके खान-पान पर भी ध्यान दिया जा रहा है।

ये हैं चुनौतियां

- लाकडाउन का पालन कराना।इसमें रोड पर खड़े होकर चेकिग भी करते हैं।

- अपराधियों की गिरफ्तारी। इसके लिए गिरफ्तार करने वाली टीम को चार दिन थाने में ही निगरानी में रखा जाता है। दवाएं भी दी जाती हैं।

- कोरोना संक्रमितों को भर्ती कराने से लेकर उनके अंतिम संस्कार तक में पुलिसकर्मियों को रहना पड़ता है।

- रिश्तेदारों के यहां गमी में भी नहीं जा पा रहे हैं।

- मास्क न लगाने वालों को रोक-रोककर जुर्माना करना। ये भी बरत रहे सावधानी

- ड्यूटी पर निकलते समय मास्क, ग्लव्स, फेस सील्ड और सैनिटाजर साथ रखते हैं।

- हर थाने में स्टीम इन्हेलर रखवाए गए हैं। इनसे पुलिसकर्मी ड्यूटी पर जाते समय और वापसी पर भाप लेते हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.