UP Board Exam 2021: यूपी बोर्ड ने जारी की गाइड लाइन, जानिए क्या− क्या हुए हैं बदलाव

बोर्ड परीक्षा केंद्रों में होगा शारीरिक दूरी का अनुपालन।

UP Board Exam 2021 बोर्ड परीक्षा केंद्रों में होगा शारीरिक दूरी का अनुपालन घटाई भार क्षमता। कोरोना संक्रमण रोकने के लिए यूपी बोर्ड ने दिए हैं निर्देश। न्यूनतम और अधिकतम विद्यार्थी संख्या में की कमी। आनलाइन फीडिंग में विद्यालय डाटा अपलोड करेंगे।

Publish Date:Wed, 02 Dec 2020 09:35 AM (IST) Author: Tanu Gupta

आगरा, जागरण संवाददाता। उप्र माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) की हाईस्कूल-इंटरमीडिएट बोर्ड परीक्षा में कोरोना संक्रमण रोकने के सभी प्रयास किए जाएंगे। शारीरिक दूरी के नियम का सख्ती से अनुपालन के लिए बोर्ड ने केंद्रों की विद्यार्थी भार क्षमता में काफी कमी कर दी है।

हाल ही में जारी यूपी बोर्ड परीक्षा केंद्र निर्धारित नीति में बोर्ड ने स्पष्ट कर दिया है कि परीक्षा के दौरान कोरोना संक्रमण की आशंका को कम करने के लिए शारीरिक दूरी का सख्ती से पालन किया जाएगा। इसके लिए दोनों पालियों में आवंटित विद्यार्थियों की कुल संख्या न्यूनतम 150 और अधिकतम 800 कर दी गई है, जबकि पिछले साल तक यह संख्या न्यूनतम 300 और अधिकतम 1200 होती थी। मानकों के अनुसार प्रत्येक विद्यार्थी को बैठने के लिए 36 वर्ग फीट क्षेत्रफल का स्थान तय किया गया है।

ऐसे होगा निर्धारण

जिला विद्यालय निरीक्षक रवींद्र सिंह ने बताया कि बोर्ड परीक्षा के दौरान शारीरिक दूरी के नियम का सख्ती से पालन कराया जाएगा, जैसा कि बोर्ड का निर्देश भी है। लिहाजा आनलाइन फीडिंग में विद्यालय जो भी डाटा अपलोड करेंगे, उनके उपलब्ध संसाधनों के आधार पर फाइनल सूची तैयार की जाएगी। गलत सूचनाएं देने वाले विद्यालयों को सूची से बाहर कर दिया जाएगा। वेबसाइट पर अपलोड सूचनाओं के आधार पर अंक दिए और राजकीय, सहायता प्राप्त व वित्तविहीन विद्यालयों की अलग-अलग मेरिट सूची तैयार होगी। जिला समिति सूचनाओं का भौतिक सत्यापन करेगी और रिपोर्ट के आधार पर पात्र विद्यालयों को परीक्षा केंद्र बनाया जाएगा।

पांच दिसंबर से होगी शुरूआत

यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए केंद्र बनने के इच्छुक विद्यालय पांच दिसंबर तक अपने यहां उपलब्ध संसाधनों की सूचनाएं वेबसाइट पर अपलोड करेंगे, जिनका सत्यापन जिला कमेटी 20 दिसंबर तक करेगी। 26 दिसंबर तक सत्यापन की रिपोर्ट वेबसाइट पर अपलोड की जाएगी। 11 जनवरी तक जिला विद्यालय निरीक्षण आनलाइन चयनित परीक्षा केंद्रों पर आपत्तियां लेकर 25 जनवरी तक उनका निस्तारण करेंगे। चार फरवरी तक आपत्तियों के निस्तारण के बाद सूची दोबारा वेबसाइट पर प्रदर्शित की जाएगी। छह फरवरी तक अंतिम आपत्तियां प्राप्त कर नौ फरवरी तक यूपी बोर्ड के केंद्र सूची पर अंतिम मुहर लगाई जाएगी। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.