Ambedkar University Agra: आगरा, एटा और मथुरा के बदले जाएंगे तीन परीक्षा केंद्र, होंगे डिबार

Ambedkar University Agra आनलाइन प्रेसवार्ता में कुलपति और परीक्षा नियंत्रक ने दी जानकारी। दोषियों के खिलाफ होगी विधिक कार्यवाही परीक्षार्थियों को दी जाएगी सचल दलों द्वारा सूचना। दो केंद्रों ने सचल दलों की गाड़ियों में नोटों की गड्डियां और लिफाफे भी फेंके।

Tanu GuptaFri, 30 Jul 2021 03:07 PM (IST)
दो केंद्रों ने सचल दलों की गाड़ियों में नोटों की गड्डियां और लिफाफे भी फेंके।

आगरा, जागरण संवाददाता। डा. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय प्रशासन ने सख्ती करते हुए नकल कराने में दोषी पाए गए तीन परीक्षा केंद्रों को डिबार करने का फैसला लिया है। तीनों परीक्षा केंद्रों के परीक्षार्थियों के परीक्षा केंद्र बदले जाएंगे। दोषियों के खिलाफ विधिक कार्यवाही की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

गुरुवार को आनलाइन प्रेसवार्ता में कुलपति प्रो. आलोक राय ने कहा कि बमरौली कटारा के कृष्णा कालेज, मथुरा के बौहरे नारायण सिंह आर्य महाविद्यालय और एटा के ममता डिग्री कालेज में बुधवार को सचल दलों ने नकल पकड़ी थी। दो केंद्रों ने सचल दलों की गाड़ियों में नोटों की गड्डियां और लिफाफे भी फेंके। इन तीनों परीक्षा केंद्रों का मामला यूएफएम कमेटी के सामने रखा जाएगा। इन्हें डिबार किया जाएगा। इन परीक्षा केंद्रों पर परीक्षार्थियों को केवल और परीक्षा देनी है। इसी दौरान विश्वविद्यालय के सचल दलों द्वारा उन्हें दूसरे परीक्षा केंद्रों की जानकारी दे दी जाएगी। जिन परीक्षा केंद्रों से अव्यवस्थाओं की जानकारी मिल रही है, उनकी सूची बनाई जा रही है। परीक्षा नियंत्रक अजय कृष्ण यादव ने जानकारी दी कि परीक्षाओं के अनुशासन को खराब करने वाली किसी भी परीक्षा केंद्र को बख्शा नहीं जाएगा।

पिछले साल की लिस्ट के अनुसार बनाए परीक्षा केंद्र

प्रेसवार्ता में जानकारी दी गई कि इस साल बनाए गए परीक्षा केंद्र पिछले साल की सूची में से ही लिए गए हैं क्योंकि परीक्षा केंद्र निर्धारण के लिए केवल 12 दिन ही थे। कुलपति और परीक्षा नियंत्रक को जानकारी दी गई कि बौहरे नारायण सिंह आर्य महाविद्यालय में पिछले साल केवल 218 परीक्षार्थी थे, जो इस साल बढ़ाकर 2170 कर दिए गए। इस पर अधिकारियों ने जवाब दिया कि एेसे सभी परीक्षा केंद्रों की सूची बनाई जा रही है, जहां अव्यवस्थाएं पाई जा रही हैं। उनके खिलाफ भी कदम उठाया जाएगा।

यह रहे उपस्थित

कुलसचिव संजीव सिंह,मुख्य प्रानुशासक प्रो. मनोज कुमार श्रीवास्तव, प्रो. वीके सारस्वत। जनसंपर्क अधिकारी प्रो. प्रदीप श्रीधर ने आभार व्यक्त किया। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.