Kitty Parties: बंद चल रहीं किटी पार्टी की लौटेगी रंगत, लेकिन सदस्‍यों को माननी होगी एक शर्त

कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर के बाद आगरा में किटी क्लबों ने बदले नियम। सितंबर के बाद ही शुरू होंगी गतिविधियां अपनाए जाएंगे सुरक्षा के उपाय। साथ ही क्‍लब अपने मेंबर्स के लिए वैक्‍सीनेशन की शर्त कर रहे अनिवार्य। वैक्‍सीन नहीं लगी तो नहीं दी जाएगी क्‍लब में एंट्री।

Prateek GuptaThu, 29 Jul 2021 03:25 PM (IST)
आगरा में बंद चल रहीं किटी पार्टीज को दुबारा से शुरू किए जाने की तैयारी है। फाइल फोटो

आगरा, जागरण संवाददाता। कोरोना की दूसरी लहर में लगे कोरोना कर्फ्यू में जीवनशैली में आए बदलावों के साथ जिंदगियां पटरी पर वापस लौट रही हैं। कामकाज से लेकर सड़कों की चहल- पहल तक बचाव के उपायों को अपनाते हुए सामान्य गति में चल रही है। कोरोना प्रोटोकोल को अपनाते हुए लोग अपने रोजमर्रा के काम कर रहे हैं। इन बदलावों का असर महिलाओं की पसंदीदा किटी पार्टियों पर भी देखने को मिल रहा है। किटी क्लबों ने अब अपने नियमों में भी बदलाव कर दिए हैं। मीटिंग और पार्टियां अभी बंद चल रही हैं। कोरोना की संभावित तीसरी लहर का क्या प्रभाव होता है, उसके बाद ही किटी पार्टियों का शुरू किया जाएगा। हर सदस्य को वैक्सीन के बाद ही पार्टियों में आने की अनुमति होगी।

ताजनगरी में छोटे-बड़े सैंकड़ों किटी क्लब हैं। कुछ किटी क्लब मोहल्ले, कालोनी और सोसायटी वाले हैं तो कुछ में सदस्यों की संख्या 100 से ज्यादा हैं। पिछले साल मार्च से सितंबर तक सभी किटी क्लबों ने अपनी गतिविधियों पर विराम लगा दिया था। इस दौरान सभी क्लबों ने आनलाइन सक्रियता बढ़ाई। कई क्लबों ने कोरोना योद्धाओं को प्रोत्साहित करने के लिए वीडियो बनाकर इंटरनेट मीडिया पर साझा किए। अनलाक में गतिविधियां काफी एहतियात के साथ शुरू की गईं जो दूसरी लहर में फिर बंद हो गईं। किटी क्लबों की पार्टियां अभी नहीं हो रही हैं। किटी क्लब कोरोना की संभावित तीसरी लहर आने और गुजर जाने का इंतजार कर रहे हैं।

प्रीटि वुमेन क्लब की संचालिका चंचल गुप्ता ने बताया कि हम अपने सदस्यों की संख्या का निर्धारण करेंगे। अभी हमारे ग्रुप में 60 सदस्य हैं, पर अब हम नए सदस्यों को जोड़ने से पहले विचार करेंगे। सितंबर के बाद ही गतिविधियां शुरू होंगी। उसमें भी सिर्फ वही सदस्य आएंगी, जो वैक्सीन लगवा चुकी होंगी। जो सदस्य बीमार होगी, उसे किसी भी कार्यक्रम में आने की अनुमति नहीं होगी।

डैजलिंग क्लब की संचालिका नीतू धनवानी के ग्रुप में 150 से ज्यादा सदस्य हैं। नीतू बताती हैं कि इतने सदस्यों के साथ शारीरिक दूरी का पालन करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है, इसलिए अपने सदस्यों को ग्रुपों में बांट देंगे। एक बार में एक ही ग्रुप की पार्टी होगी। वैक्सीनेशन अनिवार्य होगा। अभी तो सदस्य भी डरी हुई हैं, वे भी आने से पहले कई बार सोच रही हैं।

गार्जियस क्लब की शोनू मेहरोत्रा बताती हैं कि फिलहाल हमने पार्टी प्लान नहीं की है। हम पार्टी सभी सुरक्षा के उपाय अपनाने के बाद ही करेंगे। हर सदस्य को कह दिया गया है कि वैक्सीनेशन अनिवार्य होगा। हर सदस्य को अपनी और अपने परिवार की चिंता है। कोरोना प्रोटोकाल का पूरी तरह से पालन किया जाएगा।

क्या है किटी पार्टी?

किटी पार्टी यानी घर में रहने वाली महिलाओं ने अपनी सहेलियों के साथ दो पल गुजारने का एक रास्ता निकाला। इसमें सभी सहेलियां बैठकर एक साथ खाती हैं, मस्ती करती हैं। गेम खेलती हैं। हर महीने पैसे जमा होते हैं, किटी निकलती है। इससे बचत भी हो जाती है और महिलाओं की पार्टी भी हो जाती है। पहले घरों में होने वाली पार्टियां अब होटलों और रेस्टोरेंटों में होती हैं। बाकायदा थीम तय की जाती है। कई किटी क्लब पिकनिक के लिए शहर से बाहर भी जाते हैं। किटी ग्रुप सिर्फ महिलाओं की पार्टियां ही नहीं करते। साल में एक बार कपल इवनिंग भी प्लान की जाती है, जिसमें सभी सदस्य अपने पतियों के साथ पहुंचती हैं।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.