दो माह बाद टूटा स्मारकों में सन्नाटा, गूंजा वाह ताज

बुधवार सुबह ताजमहल किला फतेहपुर सीकरी समेत सभी स्मारक खुले थर्मल स्क्रीनिग और सैनिटाइजेशन के बाद पर्यटकों को कराया गया प्रवेश

JagranWed, 16 Jun 2021 11:59 PM (IST)
दो माह बाद टूटा स्मारकों में सन्नाटा, गूंजा 'वाह ताज'

आगरा, जागरण संवाददाता। कोरोना काल में स्मारकों में दो माह से पसरा सन्नाटा बुधवार को बंदी रूपी ताले के खुलने के साथ टूट गया। ताजमहल, आगरा किला, फतेहपुर सीकरी, सिकंदरा, एत्माद्दौला, मेहताब बाग समेत सभी स्मारक सैलानियों के लिए खुल गए। ताजमहल का क्रेज सैलानियों में देखने को मिला। सैलानी 'वाह ताज' कहते नजर आए।

कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ने पर भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआइ) ने सभी स्मारक 16 अप्रैल को बंद कर दिए थे। दो माह की बंदी के बाद बुधवार को स्मारक खुले। सुबह से ही पर्यटकों का पहुंचना शुरू हो गया। ताजमहल के दीदार का क्रेज पर्यटकों में नजर आया। मथुरा-वृंदावन में मंदिरों में दर्शन करने के बाद पर्यटक सीधे ताजमहल पहुंचे। थर्मल स्क्रीनिग, हाथ व फुट सैनिटाइजेशन के बाद पर्यटकों को स्मारक में प्रवेश मिला। अन्य स्मारकों पर भी ऐसी व्यवस्था रही। स्मारक खुलने से लाइसेंसी फोटोग्राफर व गाइडों को रोजगार मिला।

अधीक्षण पुरातत्वविद डा. वसंत कुमार स्वर्णकार ने बताया कि सभी स्मारक सैलानियों के लिए खुल गए हैं। पर्यटक आनलाइन टिकट बुक कराकर स्मारकों का दीदार कर सकते हैं।

-------

सूर्योदय से आधा घंटे पहले खुला ताज

स्मारक सूर्योदय से सूर्यास्त तक खुलते हैं। ताजमहल सूर्योदय से आधा घंटे पहले खुलता है। सूर्योदय होते ही सैलानियों को ताज खोल दिया गया। केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआइएसएफ) ने पर्यटकों की टच फ्री चेकिग की।

-----

डीएम-एसएसपी ने किया निरीक्षण

डीएम प्रभु एन. सिंह ने एसएसपी मुनिराज जी के साथ ताजमहल की सुरक्षा व्यवस्था का निरीक्षण किया। दुकानदारों को पाथवे पर अतिक्रमण न करने की हिदायत दी और सफाई व्यवस्था का सत्यापन किया।

-------------------

ब्राजील की मेलिशा स्मारक में प्रवेश पाने वाली पहली पर्यटक

आगरा: ताजमहल में प्रवेश पाने वाली पहली पर्यटक ब्राजील की मेलिशा डेलारोजा रहीं। तीन माह पूर्व भारत यात्रा पर आईं मेलिशा को लाकडाउन के चलते ताजमहल के दीदार की कोई उम्मीद नहीं थी।

मेलिशा ने बताया कि भारत की उनकी यह यात्रा तीन माह पूर्व दिल्ली से शुरू हुई थी। वहां से वे ऋषिकेश गईं। योग का कोर्स करने के दौरान लाकडाउन होने पर उन्हें वहां रुकना पड़ा। इसके बाद लखनऊ गईं। मेलिशा ने बताया कि उन्हें लाकडाउन के चलते स्मारक बंद होने से ताजमहल के दीदार की उम्मीद बिल्कुल नहीं थी। मंगलवार को स्मारकों के खुलने की जानकारी हुई तो वो शाम को लखनऊ से आगरा आ गईं। बुधवार सुबह 5:10 बजे उन्होंने ताजमहल में पश्चिमी गेट से प्रवेश किया। उनका कहना था, मुझे यह जानकर आश्चर्य हुआ कि लाकडाउन के बाद ताजमहल में प्रवेश पाने वाली पहली पर्यटक हूं। सूर्योदय के समय मैंने ताजमहल देखा। उस समय मैं बिल्कुल अकेली थी। बहुत सुंदर जगह है। ताजमहल देखने का अनुभव जादुई रहा। इसके अलावा ताजमहल में पूर्वी गेट से सबसे पहले प्रवेश गाजियाबाद के सुमित चौधरी ने किया। उन्होंने बताया कि परिवार के साथ ताजमहल का दीदार कर बहुत अच्छा लग रहा है। पंजाब के नवां शहर से आए देवेंद्र मिन्हास ने बताया कि वे मथुरा-वृंदावन के मंदिरों के दर्शन करने आए थे। उनका कहना था कि सुरक्षित माहौल में ताजमहल देखने का अनुभव शानदार रहा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.