मथुरा में बुजुर्ग ने कर दिया कमाल, 70 साल की उम्र बना डाला ये अनूठा World Record

मथुरा में 70 साल के बुजुर्ग ने एक घंटे मिलाई सूरज से आंख। सेवानिवृत्त डिप्टी कमिश्नर सेल्स टैक्स ने बिना पलक झपकाए सूरज को निहारा। ग्लोबल रिकार्ड एंड रिसर्च फाउंडेशन सदस्यों के समक्ष बना विश्व रिकार्ड। सात साल से नियमित सूरज के सामने आंख खोलकर बैठते हैं।

Tanu GuptaSun, 28 Nov 2021 09:09 AM (IST)
ग्लोबल रिकार्ड एंड रिसर्च फाउंडेशन के सदस्यों के समक्ष सूरज से आंख मिलाते महेंद्र सिंह वर्मा।

आगरा, जागरण टीम। इसे कहते हैं सूरज से आंख मिलाना। एक सत्तर साल के बुजुर्ग ने जब सूरज से

आंख मिलाई तो लोग देखते रह गए। ग्लोबल रिकार्ड एंड रिसर्च फाउंडेशन के सदस्यों के समक्ष शनिवार को बुजुर्ग ने बिना पलक झपकाए सूरज से आंख मिलाई। जिसने भी देखा दांतों तले अंगुली दबा ली।

बुजुर्ग ने इसे वर्ल्ड रिकार्ड बनने का दावा किया है।

मथुरा शहर के आनंद लोक कालोनी निवासी महेंद्र सिंह वर्मा डिप्टी कमिश्नर सेल्स टैक्स के पद से सेवानिवृत्त

हुए थे। शनिवार को उन्होंने राधा रिसार्ट होटल के मैदान में दोपहर एक बजे से दो बजे तक सूरज के सामने आंख मिलाई। इस दौरान उन्होंने पलक तक नहीं झपकाई। जब वह ये कारनामा कर रहे थे, तब करीब आधा सैकड़ा लोग मौजूद थे। वह तो आंख मिलाने का सिलसिला जारी रखना चाहते थे, लेकिन चिकित्सकों ने ऐसा करने से रोका।

महेंद्र सिंह वर्मा बताते हैं कि इससे पहले दस मिनट सूरज से आंख मिलाने का रिकार्ड भारत के ही प्रदीप सेशन बेलगावी के नाम रहा है। आज ये रिकार्ड टूट गया। शनिवार को फाउंडेशन की ओर से डा. प्रेरणा शर्मा और अमित चौधरी की मौजूदगी में एक घंटे तक बिना पलक झपकाए सूरज से आंख मिलाई। ये कार्य शुरू होने से पहले जिला अस्पताल के डा. सचिन के शर्मा ने महेंद्र सिंह की आंखों का परीक्षण किया। महेंद्र का कहना है कि उन्हें एक घंटे बाद चिकित्सकों ने रोका, वह इस अवधि को बढ़ाना चाहते थे। इस पल के गवाह बनने के लिए आसपास के इलाके के लोग मौजूद रहहे। इस दौरान पूर्व विधायक प्रदीप माथुर, लवकेश गुप्ता, उपन्यासकार ऊषा शर्मा, सचिन चौधरी आदि मौजूद रहे।

गुरु से मिली थी प्रेरणा

मैंने 21 साल पहले अपने गुरु बाल मुकुंद महाराज से प्रेरणा ली। उन्होंने बताया था कि हर व्यक्ति में तीसरा नेत्र होता है। हर व्यक्ति सूरज से आंख मिला सकता है। जब मैंने ये जिज्ञासा जाहिर की तो बताया कि पहले दीपक की लौ से आंख मिलाने का अभ्यास करो। 21 साल पहले पांच साल तक दीपक से आंख मिलाई। फिर सूरज के सामने थोड़ी-थोड़ी आंख मिलाने लगा। सात साल से नियमित सूरज के सामने आंख खोलकर बैठता हूं। मेरी आंख में कोई दिक्कत नहीं है। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.