आगरा लखनऊ एक्सप्रेस पर बच्‍ची के अपहरण की खबर से खलबली, दौड़ पड़ी पुलिस की जीपें

इटावा के मूल निवासी और वर्तमान में मथुरा में तैनात सिपाही सुधीर कुमार बाइक पर तीन लोगों को बिठाकर मथुरा के लिए निकले थे। रास्‍ते में दो युवकों ने मदद करते हुए बच्‍ची को अपनी बाइक पर बिठा लिया। इसके बाद बाइक सवार गायब हो गए।

Prateek GuptaThu, 02 Dec 2021 03:13 PM (IST)
एक्‍सप्रेस वे के पास थाने में अपने पिता के साथ बच्‍ची अनन्‍या।

आगरा, जागरण टीम। इटावा के चौबिया गांव निवासी सुधीर कुमार दोपहर एक बजे अपनी पत्नी, छोटे भाई की पत्नी और नौ साल बेटी अनन्या को लेकर मथुरा जा रहे थे। सुधीर कुमार पुलिस में सिपाही हैं और मथुरा में तैनात हैं। इटावा क्षेत्र में ही पीछे से आ रहे बाइक सवार दो युवकों ने रास्ते में सिपाही को टोककर बेटी के गिरने की आशंका जताई। इसके बाद सुधीर कुमार ने बच्‍ची को उनकी बाइक पर बिठा दिया। इसके बाद रास्ते में युवकों की बाइक तेज गति से आगे निकल गई। काफी दूर तक जब सुधीर कुमार को उनकी बाइक नहीं दिखी तो उन्‍हें बेटी का अपहरण किए जाने की आशंका हुई। उन्‍होंने हेल्‍पलाइन 112 नंबर पर फोन कर बेटी के अपहरण की सूचना दे दी। दिनदहाड़े बालिका की अपहरण की सूचना से पुलिस महकमे में खलबली गई। एसपी अशोक कुमार खुद लखनऊ एक्सप्रेस वे पर पहुंच गए। 112 की छह गाड़ियों और करहल थाना पुलिस को बालिका की तलाश में दौड़ाया गया। फिरोजाबाद में भी चेकिंग शुरू कराई गई। इस बीच बाइक सवार हरदोई के माधौगंज निवासी अनुराग और हरदोई के मलाका निवासी उज्जवल, बालिका को लेकर लखनऊ एक्सप्रेस वे पर बटेश्वर कट के पास पहुंच गए। जब उन्हें सुधीर कुमार पीछे नजर नहीं आए तो उन्होंने बच्‍ची से नंबर लेकर खुद फाेन किया। बाइक सवारों ने फोन पर कहा कि वह बच्‍ची के साथ इंतजार कर रहे हैं, आप कहां रह गए। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची। एसपी ने बताया कि मामला अपहरण का नहीं था। बाइक सवार खुद ही बालिका के स्वजन का इंतजार कर रहे थे। फिलहाल उनसे पूछताछ की जा रही है।

 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.