Training For Teachers: प्रभावी शिक्षण के तौर-तरीके सीखेंगे नवागत शिक्षक, कल से होगी ट्रेनिंग शुरू

Training For Teachers एक मार्च से हो रही है 15 दिवसीय आनलाइन ट्रेनिंग की शुरुआत। यूपीपीएससी से चयनित सहायक अध्यापकों की होगी 15 दिवसीय ट्रेनिंग। प्रश्नगत कार्यक्रम में 100 फीसद सहभागिता सुनिश्चित कराने के लिए इसकी सभी जानकारी शिक्षकों को उपलब्ध कराएं।

Tanu GuptaPublish:Sun, 28 Feb 2021 08:39 AM (IST) Updated:Sun, 28 Feb 2021 08:39 AM (IST)
Training For Teachers: प्रभावी शिक्षण के तौर-तरीके सीखेंगे नवागत शिक्षक, कल से होगी ट्रेनिंग शुरू
Training For Teachers: प्रभावी शिक्षण के तौर-तरीके सीखेंगे नवागत शिक्षक, कल से होगी ट्रेनिंग शुरू

आगरा, जागरण संवाददाता। शिक्षण के तौर-तरीकों व नवाचार के प्रति शिक्षकों को जागरूक करने के लिए शासन ने प्रयास शुरू कर दिए हैं। शुरुआत उप्र लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) से चयनित राजकीय माध्यमिक विद्यालयों के नवनियुक्त शिक्षकों से की जा रही है। इसके लिए एक मार्च से 15 दिवसीय आनलाइन ट्रेनिंग कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा।

अपर शिक्षा निदेशक मंजू शर्मा ने आदेश जारी किए हैं। जिला विद्यालय निरीक्षण मनोज कुमार ने बताया कि नवनियुक्त सहायक अध्यापकों का आनलाइन उन्मुखीकरण प्रशिक्षण कार्यक्रम एक से 19 मार्च तक कराए जाने के निर्देश प्राप्त हुए हैं। इसकी शुरुआत एक मार्च के मुख्यमंत्री करेंगे, जिसमें अपर मुख्य सचिव व अन्य वरिष्ठ अधिकारी नवनियुक्त सहायक अध्यापकों का मार्गदर्शन व उत्साहवर्धन करेंगे।

यह दिए हैं निर्देश

- प्रश्नगत कार्यक्रम में 100 फीसद सहभागिता सुनिश्चित कराने के लिए इसकी सभी जानकारी शिक्षकों को उपलब्ध कराएं।

- आनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम सुबह 11 से 11.45 मिनट तक चलेगा।

- इसमें राष्ट्रीय व क्षेत्रीय स्तर के संस्थान, विभिन्न परीक्षा, परीक्षा बोर्ड नियामक प्राधिकरण आदि का विवरण दिया जाएगा।

- शिक्षकों को विद्यालय प्रबंधन, प्रबंधन के कार्य-दायित्व, पदोन्नति, राष्ट्रीय शिक्षा नीति 1986 से लेकर 2020 तक की जानकारी दी जाएगी।

- उत्कृष्ट विद्यालय की परिकल्पना, शिक्षकों से अपेक्षा, कार्य व दायित्व, विद्यालय नेतृत्व, विभिन्न पुरस्कार व प्रतियोगिताओं के आयोजन की जानकारी आदि दी जाएगी।

- छात्र केंद्रित शिक्षण, बाल मनोविज्ञान, कक्षा में तकनीकी का प्रयोग, गतिविधि व प्रोजेक्ट आधारित शिक्षण की जानकारी दी जाएगी।

- करियर काउंसिलिंग, शिक्षा व कक्षा शिक्षण में नवाचार, उपचारात्मक शिक्षा आदि की जानकारी।

- परीक्षा, मूल्यांकन, प्रश्न, बैंक, क्विज निर्माण आदि, शैक्षिक कार्यक्रम, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान, निष्ठा, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की अवधारणा आदि बताया जाएगा।