दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

Eid ul Fitr 2021: ताजमहल में लगातार दूसरे वर्ष नहीं हो सकेगी ईद पर नमाज, 31 के बाद खुलेगा ताला

ईद के मौके पर इस साल भी ताजमहल बंद रहेगा।

पिछले वर्ष भी कोरोना वायरस संक्रमण के चलते बंद था स्मारक। एएसआइ द्वारा 31 मई तक के लिए बढ़ाई गई है बंदी। ताजमहल बंद होने से पिछले वर्ष के समान इस बार भी रमजान में ताजमहल में शाम को तरावीह नहीं हुई हैं।

Prateek GuptaThu, 13 May 2021 04:25 PM (IST)

आगरा, जागरण संवाददाता। कोरोना काल में ताजमहल में लगातार दूसरे वर्ष ईद-उल-फितर पर नमाज नहीं हो सकेगी। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआइ) ने सभी स्मारकों की बंदी को 31 मई तक के लिए बढ़ा दिया है। पिछले वर्ष भी ताजमहल बंद होने से ईद पर ताजमहल में नमाज नहीं हो पाई थी।

ताजमहल में ईद-उल-फितर और ईद-उल-अजहा पर नमाज होती है। एएसआइ इसके लिए आदेश जारी करता है, जिसमें तीन घंटे के लिए स्मारक को प्रवेश शुल्क से मुक्त किया जाता है। इस अवधि में भारतीय और विदेशी पर्यटकों को स्मारक में निश्शुल्क प्रवेश मिलता है। पिछले वर्ष कोरोना काल में ताजमहल बंद होने से ईद-उल-फितर और ईद-उल-अजहा पर नमाज नहीं हो सकी थी। इस वर्ष भी कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते ईद-उल-फितर पर ताजमहल बंद है, जिससे स्मारक में नमाज नहीं हो सकेगी। ताजमहल बंद होने से पिछले वर्ष के समान इस बार भी रमजान में ताजमहल में शाम को तरावीह नहीं हुई हैं। कोरोना काल से पूर्व रमजान में ताजमहल अकीदतमंदों के लिए रात में खुलता था।

31 मई तक नहीं खुलेगा ताजमहल पर लगा ताला

कोरोना काल में ताजमहल पर दूसरी बार लगा ताला 31 मई तक नहीं खुलेगा। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआइ) द्वारा संरक्षित स्मारकों की बंदी को कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए 31 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है। देशभर के सभी स्मारक 16 अप्रैल से बंद चल रहे हैं।

देश में कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ने पर संस्कृति मंत्रालय ने 15 अप्रैल को एएसआइ द्वारा संरक्षित देशभर के सभी स्मारकों को 15 मई तक के लिए बंद करने का निर्णय लिया था। 16 अप्रैल से ताजमहल समेत सभी स्मारकों के दरवाजे पर्यटकों के लिए बंद कर दिए गए थे। बुधवार शाम केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने स्मारकों की बंदी को 31 मई तक बढ़ाने की जानकारी ट्वीट कर दी। उन्होंने लिखा कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने कोरोना महामारी को देखते हुए अपने सभी स्मारकों को 31 मई तक बंद करने का फैसला संस्कृति मंत्रालय की सहमति से किया है। उन्होंने एएसआइ के निदेशक स्मारक एनके पाठक द्वारा स्मारकों की बंदी के आदेश को भी ट्वीट किया है।

188 दिन बंद रहा था ताजमहल

कोरोना संक्रमण की पहली लहर में संस्कृति मंत्रालय ने पिछले वर्ष स्मारकों को 17 मार्च से बंद कर दिया था। ताजमहल और आगरा किला 188 दिनों की रिकार्ड बंदी के बाद 21 सितंबर को पर्यटकों के लिए खोले गए थे। 207 दिन तक खुले रहने के बाद ताजमहल व आगरा किला 16 अप्रैल को पर्यटकों के लिए दाेबारा बंद कर दिए गए थे। वहीं, आगरा में स्थित अन्य स्मारक फतेहपुर सीकरी, सिकंदरा, मेहताब बाग, एत्माद्दौला, रामबाग, मरियम टाम्ब आदि 168 दिनों की बंदी के बाद एक सितंबर को खुले थे।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.